Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsलखनऊ / आस-पासउपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने प्रशासन की तैयारियों का जाना हाल

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने प्रशासन की तैयारियों का जाना हाल

- Advertisement -
  • नगर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में दवाओं का निरंतर छिड़काव कराते रहने के निर्देश

जनवाणी ब्यूरो |

लखनऊ/प्रयागराज: प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने गुरुवार को सर्किट हाउस प्रयागराज के सभागार डेंगू के नियंत्रण एवं बचाव के लिए प्रशासन के द्वारा की जा रही कार्रवाईयों की समीक्षा बैठक की। वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा बताया गया कि वर्तमान में विगत 5 दिनों से डेंगू के मरीजों में निरंतर कमी आयी है। डेंगू से घबराने की जरूरत नहीं है। ठण्ड के मौसम तापमान नीचे आने पर मच्छर सुस्त हो जाते है, जिससे डेंगू फैलने में कमी आती है। उपमुख्यमंत्री ने अधिकारियों से बेडों की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली, जिस पर उन्हें बताया गया कि स्वरूपरानी चिकित्सालय में 32 बेड़ डेंगू वार्ड में रिक्त है। तेज बहादुर सपू्रू हाॅस्पिटल में 22 तथा कैण्टोमेंट हाॅस्पिटल में 36 बेड रिक्त है। प्रयागराज के प्रमुख चिकित्सालयों में लगभग 300 बेड़ खाली है।

उपमुख्यमंत्री के निर्देशानुसार सभी सरकारी चिकित्सालयों में अलग से डेंगू वार्ड की व्यवस्था की गयी है, जहां पर सारी सुविधाएं यथा वेंटीलेटर, ऑक्सीजन एवं अन्य सुविधाएं उपलब्ध है। इसके अतिरिक्त डेंगू के उपचार के लिए अलग से टीम का गठन भी किया गया है, जो निरंतर सक्रिय रहकर देखभाल कर रही है। सभी बेड़ों पर मच्छरदानी की व्यवस्था है। स्वरूपरानी अस्पताल में कई स्थानों से गंभीर मरीजों को रेफर किया गया है और बेहतर इलाज करते हुए बचाया जा सका है। ट्रीटमेंट के समय में भी विशेष सावधानी की आवश्यकता है। बिना डॉक्टर के सलाह के दवाएं न लें। फीवर के लिए केवल पेरासिटामोल की दवा का प्रयोग करें। बुखार के लिए अन्य दवा न ले। डेंगू बीमारी से बचने के लिए तरल पदार्थ का उपयुक्त मात्रा में उपयोग करें। सभी मरीजों को भर्ती की आवश्यकता नहीं होती है, केवल जिनका प्लेटलेट्स 20 हजार से कम है, तो तत्काल उन्हें सरकारी अस्पतालों में भर्ती करें। सुबह-शाम शरीर को ढके रहने के लिए फुल आस्तीन के कपड़ों का प्रयोग करें। प्लेटलेट्स के उपयोग के बारे में भी सावधानी की आवश्यकता है। किसी भी ब्लड ग्रुप का प्लेटलेट्स उपयोग में लाया जा सकता है। एक बार में दो यूनिट से ज्यादा की प्लेटलेट्स की आवश्यकता नहीं पड़ता है। दोबारा प्लेटलेट्स की जांच कराकर डाॅक्टर की सलाह पर ही प्लेटलेट्स का उपयोग करें।

इस अवसर पर विधायक फूलपुर प्रवीण पटेल, विधायक फाफामऊ गुरू प्रसाद मौर्य, महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी, अवधेश चन्द्र गुप्ता, जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री, नगर आयुक्त चन्द्र मोहन गर्ग, मुख्य चिकित्साधिकारी नानक सरन, मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. एसपी सिंह सहित सभी प्रशासनिक अधिकारी एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments