Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeDelhi NCRअशनीर ग्रोवर और बोर्ड के बीच विवाद से अफरातफरी, पढ़िए पूरी खबर

अशनीर ग्रोवर और बोर्ड के बीच विवाद से अफरातफरी, पढ़िए पूरी खबर

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: भारतपे में जारी विवाद का असर अब कर्मचारियों पर भी दिखने लगा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी बोर्ड और को-फाउंडर अशनीर ग्रोवर के बीच चल रही तनातनी के कारण अब कंपनी के कर्मचारियों में नौकरी छोड़ने की अफरा-तफरी मची हुई है। एक फिनटेक कंपनी के हवाले से इसमें कहा गया है कि पिछले हफ्ते हमें भारतपे के सैकड़ों कर्मचारियों का सीवी मिला।

विवाद के चलते बढ़ी कर्मचारियों की चिंता

फिनटेक कंपनी की ओर से जानकारी दी गई कि महज एक हफ्ते में ही हमें भारतपे में कार्यरत 400 से ज्यादा कर्मचारियों के सीवी मिले हैं और यह बिजनेस, फाइनेंस और सेल्स के कर्मचारी हैं। गौरतलब है कि बीते साल तक भारतपे अपने कर्मचारियों को काम के साथ छुट्टी पर दुबई भेजने, बीएमडब्ल्यू कार बांटकर काबिल कर्मचारियों को रोकने की कोशिश कर रही थी। लेकिन इस साल कंपनी के बोर्ड और को-फाउंडर अशनीर ग्रोवर के बीच वर्चस्व को लेकर जो विवाद शुरू हुआ वो अभी तक जारी है। इसके कारण कर्मचारियों में चिंता बढ़ गई है और वे दूसरी कंपनियों में विकल्प की तलाश कर रहे हैं।

कई कर्मचारी दे चुके हैं इस्तीफा?

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया कि भारतपे के कुछ कर्मचारी पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं और नोटिस पीरियड पर हैं। कंपनी में कुल कर्मचारियों की संख्या 600 से 1000 है और इनमें से करीब आधे कर्मचारी नई नौकरी तलाश करने में जुटे हैं। रिपोर्ट की मानें तो 400 से ज्यादा कर्मचारियों ने दूसरी फिनटेक कंपनियों और स्टार्टअप में नौकरी के लिए आवेदन किया है। बता दें कि भारतपे के को-फाउंडर अशनीर ग्रोवर पर आरोप है कि उन्होंने अपनी पत्नी माधुरी जैन के साथ मिलकर घोटाला किया है। कंपनी का बोर्ड अब इस घोटाले की जांच करने के लिए ऑडिट कंपनी नियुक्त कर चुका है।

अश्नीर ने मांगे 4000 करोड़ रुपये

फिनटेक स्टार्टअप भारतपे के फाउंडर और एमडी अशनीर ग्रोवर और कंपनी के बोर्ड के बीच विवाद लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले दिनों आई एक रिपोर्ट में ग्रोवर के हवाले से कहा गया था कि बोर्ड उन्हें जबरदस्ती कंपनी से बाहर निकालना चाहता है। रिपोर्ट के अनुसार, अश्नीर से कड़े शब्दों में कहा है कि बोर्ड को लगता है कि मुझे एमडी बने रहने की जरूरत नहीं है और किसी और को कंपनी चलानी चाहिए तो कृपया मेज पर 4,000 करोड़ रुपये रखें और मुझे कंपनी से बाहर जाने दें।

यह है भारतपे विवाद

रिपोर्ट के अनुसार, अशनीर कंपनी के बोर्ड के साथ कानूनी लड़ाई लड़ने को पूरी तरह से तैयार है। इसके लिए उन्होंने तीन बड़ी लॉ फर्मों को हायर भी किया है। गौरतलब है कि ग्रोवर पिछले महीने कोटक के एक कर्मचारी के खिलाफ कथित तौर पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के बाद उठे विवाद और कंपनी के जहरीले वर्क कल्चर व कामकाज के तरीकों पर उठे सवालों के बाद 31 मार्च तक छुट्टी पर चले गए थे। उनके छुट्टी पर जाने के बाद उनकी पत्नी माधुरी जैन ग्रोवर भी पिछले हफ्ते लंबी छुट्टी पर चली गईं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments