Saturday, April 13, 2024
HomeUttar Pradesh NewsG-20 दूसरा दिन: डिजिटल एग्रीकल्चर एंड सस्टेनेबल एग्री वैल्यू चेन पर चर्चा

G-20 दूसरा दिन: डिजिटल एग्रीकल्चर एंड सस्टेनेबल एग्री वैल्यू चेन पर चर्चा

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

वाराणसी: G-20 Summit की दूसरे दिन की बैठक में डिजिटल एग्रीकल्चर एंड सस्टेनेबल एग्री वैल्यू चेन पर चर्चा हुई। बैठक में भाग लेने पहुंचे विदेशी डेलिगेट्स काशी का आध्यात्मिक वैभव, सांस्कृतिक विरासत व परंपराओं का अवलोकन कर अभिभूत हो गए। मंगलवार की शाम विदेशी मेहमानों ने बुद्ध की तपोस्थली सारनाथ का भ्रमण किया। सारनाथ में नृत्य संगीत की व्यवस्था की गई है जिसका विदेशी मेहमान लुत्फ उठाएंगे।

83 4

काशी में 3 दिन की G-20 की बैठक में पहले दिन सोमवार की शाम मेहमानों ने गंगा आरती देखी साथ साथ नमो घाट का भ्रमण किया। दूसरे दिन शाम के वक्त भगवान बुद्ध की उपदेश स्थली सारनाथ गए जहां उन्होंने संग्रहालय और स्मारक स्थल पर घोड़ऊ और मयूर लोक नृत्य देखे। बुद्धा थीम पार्क में G -20 देशों से आए मेहमानों का स्वागत मसक बीन और शैला लोकनृत्य से हुआ। बुद्धा थीम पार्क में ही डिनर कराया गया। डिनर के साथ ही वाद्यवृंद, उपशास्त्रीय गायन और शास्त्रीय नृत्य भी प्रस्तुत किया गया। मेहमानों के स्वागत के लिए कोई कसर नहीं छोड़ा जा रहा है। पहले से ही बेहतर प्लानिंग की जा चुकी है।

81 4

वाराणसी विकास प्राधिकरण की ओर से नामित G-20 के ब्रांड एम्बेसडर धर्मेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि काशी एक पुरातन सांस्कृतिक व धार्मिक नगरी है। यहां G-20 की पहली बैठक की शुरूआत सोमवार से ही हो चुकी है। काशी मेहमानों का स्वागत भव्य तरीके से करने के लिए विश्व में विख्यात है। शहर की अद्भुत सजावट की गई है। विदेशी मेहमानों को बहुत ही आनंद का पल महसूस हो रहा है। शहर को दुल्हन की तरह सजाया गया है। शाम होते ही शहर के विभिन्न इलाके जगमग करने लग रहे हैं। यही नहीं रोड भी हर तरफ नए बन चुके हैं। G 20 समिट के बहाने काशीवासियों को भी काफी राहत मिल रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments