Sunday, January 23, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutहाजी गल्ला पर सख्ती, 25 करोड़ का गोदाम कुर्क

हाजी गल्ला पर सख्ती, 25 करोड़ का गोदाम कुर्क

- Advertisement -
  • इससे पूर्व दो रिहायशी मकान पर भी पुलिस कर चुकी है कार्रवाई

जनवाणी संवाददाता  |

मेरठ: चोरी के वाहन काट कर करोड़पति बनने वाले शातिर कबाड़ी हाजी गल्ला के दो आलीशान मकान कुर्क करने के बाद प्रशासन ने करीब 25 करोड़ की कीमत वाला गोदाम शुक्रवार को कुर्क कर लिया। सोतीगंज में प्रशासन की सख्त कार्रवाई ने सोतीगंज के कबाड़ियों की नींद उड़ा दी है। इससे पहले राहुल काला, हाजी इकबाल, मन्नू कबाड़ी आदि के खिलाफ कार्रवाई हो चुकी है।

कुख्यात कबाड़ माफिया तथा गैंग लीडर हाजी नईम उर्फ गल्ला निवासी सोतीगंज थाना सदर बाजार के द्वारा समाज विरोधी क्रियाकलापों के माध्यम से अर्जित किया गया एक गोदाम, बंगला नंबर-235 सेंट्रल रोड निकट मेरठ पब्लिक स्कूल थाना सदर बाजार कुर्की की गई। 16 और 20 अक्टूबर को दो रिहायशी मकान कुर्क किये गए थे। इस कुख्यात कबाड़ माफिया और गैंगलीडर नईम उर्फ गल्ला के विरुद्ध विभिन्न थानों में कम से कम 32 अभियोग दर्ज हैं।

जिनमें गुंडा अधिनियम, गैंगस्टर अधिनियम तथा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के अंतर्गत की गई निरोधात्मक कार्रवाई भी शामिल है। स्थानीय एवं दूरदराज के क्षेत्रों से भी की जाने वाली वाहन चोरी तथा उनका अवैध कटान करने और चोरी किए गए वाहनों का क्रय व विक्रय करने तथा उनको अवैध रूप से काटकर निकाले गए पार्ट्स का विक्रय करने का अवैध व्यापार एक गिरोह बनाकर किए जाने के कारोबार का मुख्य आरोपी तथा गैंग लीडर नईम उर्फ गल्ला ही है।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सबसे प्रमुख कबाड़ माफिया में गिना जाने वाला नईम उर्फ गल्ला जोकि वाहन कटान के अवैध काले कारोबार का मुखिया माना जाता है। उसके द्वारा कुर्सी बुनने के साधारण उद्यम से अपने जीवन यापन करने का काम अभी कुछ साल पहले तक किया जाता था। परंतु वाहन चोरी और वाहन कटान के काले कारोबार ने थोड़े ही समय में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रमुख वाहन कटान माफियाओं में इसका नाम दर्ज करा दिया और इसने इस काले कारोबार से कम समय में बहुत संपत्ति अर्जित कर ली।

इन सभी अवैध संपत्तियों को चिन्हित कर और इसकी बेनामी संपत्तियों का पता लगाकर कठोरतम कार्रवाई इस काले कारोबार को समाप्त करने के लिए की जा रही है। कुर्क की गई सभी संपत्तियों पर नियमानुसार नोटिस चस्पा किए हैं तथा मुनादी कराकर भी जन सामान्य को कार्रवाई के बारे में अवगत कराया गया है, ताकि इन संपत्तियों का विधि विरुद्ध क्रय/विक्रय न किया जा सके।

इसके साथ ही इन सभी संपत्तियों का प्रशासक सहायक पुलिस अधीक्षक कैंट को नियुक्त किया गया है। कुर्क की गई एक गोदाम का कुल बाजार मूल्य 25 करोड़ रुपये आंका जा रहा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments