Wednesday, June 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliकिसी को चार कांधे मयस्सर नहीं तो किसी को 8-8 कंधे मिले

किसी को चार कांधे मयस्सर नहीं तो किसी को 8-8 कंधे मिले

- Advertisement -
0
  • साढ़े 6 फीट के वृद्ध के जनाजे को आठ कंधों का सहारा मिला

जनवाणी संवाददाता |

कैराना: कोरोना महामारी के दौरान जहां किसी मृत के जनाजे को चार व्यक्तियों का भी सहारा नहीं मिल रहा है, वहीं अपने विशाल शरीर के डील डोल के चलते नगर में साढ़े 6 फीट की लंबाई और 90 बसंत देख चुके वृद्ध के इंतकाल पर उसके जनाजे को आठ व्यक्तियों ने कांधला देकर कब्रिस्तान पहुंचाया। उसके बाद उसके शव को कब्र में सुपुर्द ए खाक किया।

शुक्रवार की देर रात कैराना नगर के मोहल्ला आलकला (बड़ी आल) निवासी वृद्ध चौधरी यामीन का ब्रेन हेमरेज के कारण इंतकाल हो गया। मरहूम के बेटे चौधरी शमशाद ने बताया कि उनके पिता की उम्र लगभग 90 साल हो गई थी तथा उनकी लंबाई करीब साढ़े 6 फीट थी।

साथ ही, वजन 1 कुंतल 50 किग्रा था। मरहूम चौधरी यामीन का स्वभाव हमेशा हंसमुख था। वें सभी से मिलनसार रहते थे। जैसे ही भारी भरकम शरीर वाले वृद्ध चौधरी यामीन की मौत की खबर लगी तभी उनके आवास पर हजारों लोगों ने पहुंचकर शोक व्यक्त किया।

इसके बाद शनिवार की सुबह उनके आवास से उनके जनाजे को आठ व्यक्ति अपने कंधों पर लेकर अड्डे वाली मस्जिद में पहुंचें। यहां मौलाना द्वारा उनके जनाजे की नमाज पढ़ाई। जिसके बाद उनके जनाजे को शामली रोड स्थित कब्रिस्तान ले जाया गया। कब्रिस्तान में सैकड़ों लोगों ने उनको सुपुर्द ए खाक कर मगफिरत के लिए दुआएं की। मरहूम चौधरी यामीन अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ कर गए हैं।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments