Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
Homeताज़ा ख़बरइस अक्षय तृतीया पर आएंगी घर लक्ष्मी!, बस करना होगा यह काम

इस अक्षय तृतीया पर आएंगी घर लक्ष्मी!, बस करना होगा यह काम

- Advertisement -

नमस्कार, दैनिक जनवाणी डॉट कॉम वेबसाइट पर आपका हार्दिक स्वागत और अभिनंदन है। सनातन धर्म के अनुसार, अक्षय तृतीया वैशाख मास के शुक्ल पक्ष में तीसरे दिन आती है। पौराणिक गाथा के अनुसार, अक्षय तृतीया के दिन ही राजा भागीरथी ने अपने तपोबल के प्रभाव से मां गंगा को पृथ्वी पर लाए थे।

दरअसल, इस दिन मां गंगा में डूबकी लगाने से और दान-भेंट करने का काफी महत्व है। बताया गया है कि, इस दिन मां गंगा में स्नान करने से बीती सात जन्मों तक के पाप भी नष्ट हो जाते हैं जिससे पापों से मुक्ति मिलती है। हिंदू पंचाग के अनुसार अक्षय तृतीया इस साल 23 अप्रैल यानि रविवार के दिन मनाई जा रही है। इसी दिन अक्षय तृतीया का पर्व मनाया जाएगा।

अक्षय तृतीया पर क्या है विशेष महत्व

अक्षय तृतीया पर्व के दिन सोना खरीदना या शुभ कार्य करना बहुत ही अच्छा माना जाता है। जैसे दिवाली पर माता लक्ष्मी की पूजा अराधना होती है। उसी तरह से इस दिन भी मां लक्ष्मी की पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन धन के रूप में सोना और चांदी के जेवरात खरीदने की रीति-रिवाज है। इस दिन लोग सोना खरीदते हैं ताकि माता लक्ष्मी की कृपा उनपर बनीं रहे।

यदि जो लोग सोना चांदी खरीद नहीं सकते हैं तो वह धातू से बने हुए पीतल और तांबे का बर्तन खरीदकर यह पर्व मना सकते है। अगर फिर भी सामर्थ्य नहीं है तो आप पूजा-पाठ की कोई भी सामग्री खरीदी जा सकती है क्योंकि, पूजा-पाठ की सामग्री खरीदने से भगवान अधिक प्रसन्न होते हैं।

अक्षय तृतीया के दिन किस की होती है अराधना

अक्षय तृतीया के दिन मां गंगा और माता लक्ष्मी की पूजा होती है। यदि आप सुबह तड़के उठकर इस दिन मां गंगा में स्नान करते हैं तो इससे आपको मनवांछित फल की प्राप्ति हो सकती है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि, अक्षय तृतीया के दिन आप कभी भी सोना चांदी या धातू खरीद सकते हैं क्योंकि मुहूर्त पूरे दिन है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments