Monday, July 22, 2024
- Advertisement -
Homeसंवादजीवन यात्रा

जीवन यात्रा

- Advertisement -

SAMVAD

 


एक बुजुर्ग महिला बस में यात्रा कर रही थी। अगले पड़ाव पर, एक मजबूत, क्रोधी युवती चढ़ गई और बूढ़ी औरत के बगल में बैठ गई। उस क्रोधी युवती ने अपने बैग से कई बार चोट पहुंचाई। जब उसने देखा कि बुजुर्ग महिला चुप है, तो आखिरकार युवती ने उससे पूछा कि जब उसने उसे अपने बैग से मारा तो उसने शिकायत क्यों नहीं की? बुजुर्ग महिला ने मुस्कुराते हुए उत्तर दिया: इतनी तुच्छ बात पर चर्चा करने की कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि आपके बगल में मेरी यात्रा बहुत छोटी है। मैं अगले पड़ाव पर उतरने जा रही हूं। यह उत्तर सोने के अक्षरों में लिखे जाने के योग्य है: इतनी तुच्छ बात पर चर्चा करने की कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि हमारी यात्रा एक-साथ बहुत छोटी है। हम में से प्रत्येक को यह समझना चाहिए कि इस दुनिया में हमारा समय इतना कम है कि इसे बेकार तर्कों, ईर्ष्या, दूसरों को क्षमा न करना, असंतोष रखना और बुरा व्यवहार दर्शाना आदि में खर्च करना, ऊर्जा की हास्यास्पद बर्बादी है। क्या किसी ने आपका दिल तोड़ा? शांत रहें। जीवन की यात्रा बहुत छोटी है। क्या किसी ने आपको धोखा दिया, धमकाया, धोखा दिया या अपमानित किया? आराम करें- तनावग्रस्त न हों। जीवन की यात्रा बहुत छोटी है। क्या किसी ने बिना वजह आपका अपमान किया? शांत रहें। इसे नजरअंदाज करें। जीवन की यात्रा बहुत छोटी है। क्या किसी पड़ोसी ने ऐसी टिप्पणी की जो आपको पसंद नहीं आई? शांत रहें। उसकी ओर ध्यान मत दो। हमारे जीवन की यात्रा की लंबाई कोई नहीं जानता। अपनी मुस्कान सबके साथ बांटिये ना, क्योंकि हमारे जीवन की यात्रा बहुत छोटी है।

-डॉ. पवन शर्मा


janwani address 9

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments