Wednesday, October 27, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliअति कुपोषित 977 बच्चों के सापेक्ष 413 में सुधार

अति कुपोषित 977 बच्चों के सापेक्ष 413 में सुधार

- Advertisement -
  • जिलाधिकारी ने पोषण समिति की बैठक में पोषण समीक्षा
  • कुपोषित श्रेणी के 3849 बच्चों में से 1036 में सुधार

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: जनपद में अति कुपोषित श्रेणी के 977 बच्चों के सापेक्ष 413 बच्चों तथा कुपोषित श्रेणी के 3849 के सापेक्ष 1036 बच्चों में सुधार पाया गया है। जिस पर जिलाधिकारी जसजीत कौर ने अति कुपोषित बच्चों को नजदीक के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में आंगनवाड़ी कार्यकत्री के माध्यम से ले जाकर बच्चों के स्वास्थ्य की जांच कराने के निर्देश दिए हैं।

जिलाधिकारी जसजीत कौर ने कलक्ट्रेट सभागर में पोषण समिति की बैठक में पोषण वितरण की समीक्षा की। बैठक में जिलाधिकारी को संबंधित अधिकारी ने बताया कि जनपद में अति कुपोषित श्रेणी के चिह्नित 977 बच्चों के सापेक्ष 413 बच्चों में तथा कुपोषित श्रेणी के चिन्हित 3849 के सापेक्ष 1036 बच्चों में सुधार पाया गया है।

जिस पर डीएम ने अति कुपोषित बच्चों को नजदीक के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में आंगनवाड़ी कार्यकत्री के माध्यम से ले जाकर बच्चों के स्वास्थ्य की जांच कराने तथा बच्चों को एल्बंडाजोल की गोली, आयरन फोलिक एसिड सीरप, पीडियाट्रिक मल्टीविटामिन की गोली उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। साथ ही, जो बच्चे गंभीर रूप से कुपोषित हैं उन्हें पोषण पुनर्वास केन्द्र में भेजने के निर्देश दिए।

जिला कार्यक्रम अधिकारी संतोष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कुपोषण का नया ग्रोथ चार्ट निर्धारित किया गया है जिसमें लम्बाई के सापेक्ष वजन के आधार पर सैम (तीव्र कुपोषित) व सैम (मध्यम कुपोषित) का चिह्नांकन किया जाता है। जिलाधिकारी ने नये ग्रोथ चार्ट का प्रशिक्षण व उसके अनुसार कुपोषित बच्चों के चिह्नांकन करने के निर्देश दिए।

साथ ही, जनपद में कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य व पोषण में सुधार के लिए नई पहल करते हुए 16 ग्रामों को जिला स्तरीय अधिकारियों को गोद दिया गया। जिसमें एक ग्राम कुडाना विकास खंड शामली को स्वयं उनके द्वारा भी गोद लिया है। डीपीओ ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार जनपद में समस्त 4826 कुपोषित बच्चों के परिवारों को शौचालय, राशन कार्ड व मनरेगा जब कार्ड की सुविधा प्रदान कर दी गई हैं।

साथ ही, जनपद में 35 ग्रामों को सुपोषित किया जा चुका है तथा 10 ग्रामों को मार्च 2021 तक सुपोषित कर दिया जाएगा। जनपद में 12 नए आंगनवाड़ी केन्द्र भवन का निर्माण पूर्ण हो गया है जिसमें शीघ्र आंगनवाड़ी केंद्रों को हस्तानांतरित कर दिया जाएगा।

जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी व खंड विकास अधिकारियों को जनपद के विभागीय आगनवाड़ी भवनों की मरम्मत, फर्श पर टाइल्स व रंगाई पुताई, शौचालय आदि की व्यवस्था कराए जाने के निर्देश दिए। साथ ही, जिन केन्दों में विद्युत की समस्या उसके लिए अधिशासी अभियन्ता विद्युत को नए भवनों में विद्युत कनेक्शन करने के भी निर्देश दिए।

नवीन सूखा राशन वितरण योजना की समीक्षा के दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि जनपद के 985 केंदों पर स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा गेहूं, चावल व दाल उपलब्ध कराया गया है किन्तु जनपद में 113618 लाभार्थी के सापेक्ष गेहूं, चावल का आवंटन कम होने के कारण अभी 32411 लाभार्थी अवषेश हैं। डीएम ने बीडीओ को विभागीय व शासकीय भवनों में संचालित केन्द्रों पर बच्चों को बैठने के लिए छोटी कुर्सी व मेज उपलब्ध कराई जाने तथा केंद्र को सुन्दर व सुव्यवस्थित कराने के निर्देश दिए।

बैठक में परियोजना निदेशक ज्ञानेश्वर तिवारी, जिला विद्यालय निरीक्षक सरदार सिंह, जिला पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी प्रसून राय के अलावा समस्त खंड विकास अधिकारी तथा सीडीपीओ तथा मुख्य सेविकाएं उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments