Friday, January 21, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeBusiness Newsअब दिल पर काबू करें युवा आ रही है सुपरबाइक, जानिए इसकी...

अब दिल पर काबू करें युवा आ रही है सुपरबाइक, जानिए इसकी खासियत

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: दोपहिया वाहन बनाने वाली कंपनी होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया ग्रामीण भारत के ग्राहकों को लुभाने में जुटी है। इसके लिए कंपनी ने तैयारी भी शुरू कर दी है।

दरअसल, कंपनी का लक्ष्य देश में अपने बाइक पोर्टफोलियो का विस्तार करना है। इसके लिए ग्रामीण भारत पर फोकस किया जा रहा है। HMSI के नवनियुक्त अध्यक्ष आत्सुशी ओगाता ने कहा कि कंपनी का लक्ष्य ग्रामीण क्षेत्रों के लिये किफायती उत्पाद लाने का है।

सुपरबाइक पर भी फोकस

इसके साथ ही कंपनी अलग प्रकार के उपभोक्ताओं को आकर्षित करने के लिए सुपर बाइक पोर्टफोलियो समेत 150 सीसी से ऊपर की मिडियम कैटेगरी में भी उपस्थिति मजबूत करने के प्रयास में है। कंपनी अभी एक्टिवा और डुओ जैसे मॉडल के दम पर स्कूटर कैटेगरी में अग्रणी स्थिति में है। कंपनी अपने मौजूदा सबसे किफायती मोटरसाइकिल सीडी 110 से भी नीचे के स्तर पर मोटरसाइकिल लाकर ग्रामीण क्षेत्रों में उपस्थिति मजबूत करना चाह रही है।

कम हुआ मुनाफा

ओगाता ने कहा कि नये उत्सर्जन मानक के अमल में आने से मुनाफा कम हुई है। यह सिर्फ होंडा मोटरसाइकिल के लिये नहीं बल्कि पूरे उद्योग के लिए है। हम मॉडल दर मॉडल सुधार करने और मॉडलों के पोर्टफोलियो को बदलने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा उत्पाद प्रभावित नहीं होंगे, बल्कि नये उत्पाद देखने को मिलेंगे। उन्होंने कहा कि कंपनी के पास अभी निचले स्तर के उत्पादों की कमी है और इस कारण वह प्रतिस्पर्धियों से मार खा जा रही है।

ओगाता ने कहा कि दुर्भाग्य से, हमारे पास ग्रामीण क्षेत्रों के लिये एक मजबूत उत्पाद नहीं है, इसलिए निश्चित रूप से हमें इस तरह के उपभोक्ताओं लिये एक मॉडल की आवश्यकता है। यह पूछे जाने पर कि इस तरह के मॉडल पेश करने में कितना समय लगेगा, उन्होंने कहा कि इसमें निश्चित कुछ समय लगेगा लेकिन यकीनन पांच-दस साल नहीं लगने वाले हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments