Friday, April 23, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutविनम्र स्वभाव रखकर अपना फर्ज निभाएं: मंडलायुक्त

विनम्र स्वभाव रखकर अपना फर्ज निभाएं: मंडलायुक्त

- Advertisement -
0

जनवाणी ब्यूरो |

हरिद्वार: सोमवती अमावस्या 12 अप्रैल, नवसम्वत्सर 13 अप्रैल तथा बैशाखी 14 अप्रैल स्नान पर्वों को सकुशल सम्पन्न कराये जाने एवं सुदृढ़ पुलिस प्रबन्ध किये जाने के उद्देश्य से स्नान पर्वों में ड्यूटी में नियुक्त किये गये समस्त पुलिस/पीएसी/अर्द्धसैनिक बलों एवं अन्य अनुशांगिक इकाईयों की ब्रीफिंग गुरूवार को पुलिस लाइन भल्ला काॅलेज स्टेडियम मायापुर हरिद्वार में आयोजित की गयी।

गढ़वाल मंडलायुक्त रविनाथ रमन ने इस अवसर पर कहा कि कुम्भ मेला अपने आप में ऐसा आयोजन है, जिसमें देश-विदेश के श्रद्धालु भाग लेते हैं। उन्होंने कहा कि महामारी में यह सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन हो रहा है। उन्होंने कहा कि कुंभ की ड्यूटी अन्य ड्यूटी से अलग होती है, कोविड भी है, इसलिए इन सभी परिस्थितियों के अनुरूप अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी। जो भी परिस्थिति आए आपको विनम्र स्वभाव रखकर अपना फर्ज निभाना होगा। यही संदेश आपकी उपलब्धि होगी।

उन्होंने कहा कि आपसी समन्वय के साथ हमें श्रद्धालुओं की सेवा करनी है। मीडिया का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि महाकुम्भ में मीडिया की भूमिका भी काफी महत्वपूर्ण है। इसलिए सभी लोगों को बेहतर समन्वय स्थापित करते हुए काम करना होगा। यदि कहीं कोई समस्या है, तो आपसी तालमेल और सहयोग से त्वरित रिस्पांस करते हुए समस्याओं का समाधान करना होगा। किसी भी विपरीत परिस्थितियों में सेक्टर मजिस्ट्रेट और मेला कंट्रोल रूम को तत्काल सूचना दें, जिससे उसका समाधान जल्द हो सके।

मेलाधिकारी दीपक रावत ने कहा कि हरिद्वार का स्नान सीमित क्षेत्र में होता है, इसलिए सीमित क्षेत्र में स्नान के दौरान अनावश्यक लगी दुकानें, ठेलियां, गाडियां या कोई भी अन्य अनावश्यक संरचना हटनी चाहिये ताकि मेला क्षेत्र को काफी स्पेस मिल सके। उन्होंने कहा कि भीड़ को रोकें नहीं, उन्हें नियंत्रित करते हुए आगे बढ़ाते रहें। मेलाधिकारी ने कहा कि आवश्यक सेवाओं को भी बाधित नहीं होने देना है, इसका भी ख्याल रखना है।

उन्होंने यह भी कहा कि ड्यूटी के दौरान विनम्र स्वभाव के साथ सभी प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी अपनी जिम्मेदारी निभाएं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि जो भी जरूरत मंद जैसे दिव्यांगजन, बीमार, बुजुर्गों आदि की, पूरी मदद करें, पैदल रूट पर सभी व्यवस्था सुनिश्चित करें, वाहनों को पार्किंग में खड़ा करायें।

दीपक रावत ने कहा कि शौचालय, पानी आदि का इंतजाम 12 से 14 अप्रैल के स्नान के लिहाज से तैयार रखें। चैराहे, पार्किंग में सभी इंतजाम कराएं। सूचनाओं का आदान प्रदान निरंतर करते रहें। उन्होंने कहा कि सभी जगह व्यवस्थायें दुरूस्त होनी चाहिये तथा आवश्यक सेवायें सभी तक पहुंचनी चाहिये। उन्होंने कहा कि कुंभ की ड्यूटी केवल ड्यूटी नहीं, सेवा और पुण्य प्राप्त करने का अवसर है।

पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि जिसे भी महाकुंभ में ड्यूटी करने का अवसर मिला है, वह सौभाग्यशाली है, क्योंकि उसे मां गंगा और मानवता की सेवा करने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि यह समय काफी महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि आने वाले स्नान पर्व काफी महत्वपूर्ण है।

इन पर्वों में देशभर के लोग आते हैं। उन्होंने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण यह है कि हमें अपनी ड्यूटी की जानकारी और उसकी भूमिका का ज्ञान होना चाहिए। सभी की भूमिका बराबर और अहम है। उन्होंने चेन का उदाहरण देते हुये कहा कि चेन उतनी ही मजबूत होगी, जितनी उसकी कड़ी मजबूत होगी।

अगर कहीं कोई कमी रह गयी है, तो उसे जल्दी ही पूरा कर लें। उन्होंने कहा कि मेला प्रबन्धन-कहां पार्किंग है, कहां शौचालय हैं, कहां पानी है, कहां से शटल बस मिलेगी, सबसे नजदीकी घाट कहां पर है आदि की भी हमें पूरी जानकारी होनी चाहिए। शाही स्नानों के लिए हरकी पैड़ी अखाड़ों के लिए आरक्षित रहेगा, इसलिए श्रद्धालुओं को अन्य घाटों पर जाने की राह दिखाएं। भीड़ प्रबंधन बेहतर रखना सभी की जिम्मेदारी है।

पुलिस महानिरीक्षक महाकुंभ, संजय गुंज्याल ने कहा कि कोविड के कारण पिछले साल सभी स्नान स्थगित हो गये थे।. इस साल जनवरी से ये फिर से शुरू हुये हैं, इसलिए कुंभ को लेकर लोगों में उत्साह है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार कुंभ का प्रभाव राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भी पड़ता हैै।

इसलिए आप सभी को इसी अनुरूप अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी। एक माला के रूप में एकजुटता के साथ अपनी ड्यूटी निभाएंगे तभी पूर्ण सफलता प्राप्त होगी। आपको अपना बेस्ट देना है। लगातार तीन दिन के स्नान के दौरान हम सबको अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभानी होगी।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महाकुम्भ जन्मेजय खंडूड़ी ने सुरक्षा बलों से ड्यूटी के दौरान अपने विवेक का इस्तेमाल कर जिम्मेदारी का निर्वहन करने की सीख दी। उन्होंने कहा कि मां गंगा की सेवा करने वाले का अवसर जिसे मिलता है, वह सौभाग्यशाली होता है।

ब्रीफिंग के दौरान जिलाधिकारी सी0 रविशंकर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबूदई कृष्ण राज एस, अपर मेलाधिकारी डाॅ0 ललित नारायण मिश्र, रामजी शरण शर्मा, एडीएम बीके मिश्रा, केके मिश्रा, उप मेलाधिकारी दयानंद सरस्वती, किशन सिंह नेगी, सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट के अलावा पुलिस/पीएसी/अर्द्धसैनिक बलों एवं अन्य अनुशांगिक इकाईयों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments