Tuesday, January 25, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliयूपी में महिला अपराधों के विरोध में सपाइयों का प्रदर्शन

यूपी में महिला अपराधों के विरोध में सपाइयों का प्रदर्शन

- Advertisement -
  • राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन उप जिलाधिकारी को सौंपा

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: समाजवादी पार्टी ने उप्र में अनियंत्रित अपराध को लेकर कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदेश की राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन उप जिलाधिकारी को सौंपते हुए अपराधों पर अंकुश लगाए जाने की मांग की गई है।
सोमवार को सपा के जिलाध्यक्ष अशोक चौधरी के नेतृत्व में कार्यकर्ता कलक्ट्रेट पर पहुंचे।

उन्होंने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते हुए भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद प्रदेश की राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन उप जिलाधिकारी संदीप कुमार को सौंपा। ज्ञापन में कहा गया कि उप्र प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति अत्यंत गंभीर है। हत्या, लूट, अपहरण, बलात्कार की घटनाएं रोज ही बढ़ रही हैं।

प्रदेश सरकार आपराधि घटनाओं पर नियंत्रण पाने में पूर्णत विफल है। प्रदेश में बेलगाम अपराध और बेखौफ अपराधी सत्ता संरक्षण में पल रहे हैं। जनता अपने को असुरक्षित महसूस कर रही है। हर तरफ भय और आतंक का माहौल है।

राष्ट्रीय अपराध ब्यूरो के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि भाजपा राज्य में सर्वाधिक असुरक्षित महिलाएं एवं बच्चे हैं। प्रदेश में महिलाओं के साथ वर्ष 2007 में 56,011, वर्ष 2018 में 59,439 तथा वर्ष 2019 में 59,813 आपराधिक घटनाएं हुई। राष्ट्रीय अपराध ब्यूरो की रिपोर्ट के अनुसार, पूरे भारत में अपराधों के सापेक्ष 14.3 प्रतिशत अपराध उत्तर प्रदेश में होने से उसे अपराधों के मामले में प्रथम स्थान है।

ध्वस्त कानून व्यवस्था के चलते गत 15 अक्टूबर को बलिया में आम सभा में दिनदहाड़े भाजपा नेता ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी जबकि उस मीटिंग में एसडीएम और सीओ भी मौजूद थे। बच्चियों के साथ साथ दुष्कर्म की घटनाओं से भी लोग विचलित हैं।

सपा ने ज्ञापन में कहा गया कि न केवल हाथरस अपितु बलरामपुर, आजमगढ़, बुलंदशहर, भदोही, लखनऊ, बाराबंकी, बागपत, मेरठ, फतेहपुर, अलीगढ़, उन्नाव, लखीमपुर खीरी, मथुरा, महाराजगंज, प्रयागराज और पीलीभीत में भी घटनाओं से प्रदेश की बदनामी हुई है। उन्होंने उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे अपराधों पर अंकुश लगाए जाने की मांग की है।

इस अवसर पर सपा के जिलाध्यक्ष अशोक चौधरी, मांगेराम मलिक, डा. सत्यपाल कश्यप, विनोद वर्मा, प्रदीप सिंभालका, सत्यांशु वर्मा, रवि बालियान, अनुज जावला आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments