Thursday, December 2, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsSaharanpurकिसानों की समस्याओं का त्वरित निस्तारण करें: बीएल मीणा

किसानों की समस्याओं का त्वरित निस्तारण करें: बीएल मीणा

- Advertisement -
  • शिकायतों के निस्तारण की जानकारी भी दी जाए: नोडल अधिकारी

वरिष्ठ संवाददाता |

सहारनपुर: प्रमुख सचिव, समाज कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण एवं मुस्लिम वक्फ एवं निदेशक जनजाति विकास तथा जनपद के नोडल अधिकारी बी.एल. मीणा ने किसानों की समस्याओं का त्वरित निस्तारण करने को कहा है।

उन्होंने कहा है कि किसी भी स्तर से प्राप्त जन शिकायतों को गुणवत्तापूर्ण और समयबद्ध निस्तारण सुनिशिचत किया जाए। साथ ही पात्र लाभार्थियों को चिन्हित कर शासन की लाभार्थीपरक योजनाओं का लाभ दिलाया जाना सुनिशिचत किया जाए।

सोमवार को बीएल मीणा यहां कलक्ट्रेट सभागार में शासन के विशेष प्राथमिकता वाले कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पोर्टल पर कोई भी शिकायत लंबित न रहे। शिकायतकर्ता से फीडबैक भी लिया जाए तथा शिकायत के निस्तारण के समय शिकायतकर्ता को किसी भी माध्यम से सूचित किया जाए।

उन्होंने कहा कि आइजीआरएस पोर्टल पर शिकायत के ज्यादा समय तक लंबित रहने अथवा गुणवत्तापूर्ण निस्तारण न किए जाने पर संबंधित के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण समाधान तथा थाना समाधान दिवस पर भी प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध गुणवत्तायुक्त निस्तारण किया जाए।

प्रमुख सचिव ने शिकायत निस्तारण के बाद कई शिकायतकतार्ओं से उनके मोबाइल पर बात कर उनकी शिकायत के निस्तारण के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि समय-समय पर वो निस्तारित शिकायतों के सम्बन्ध में शिकायतकर्ता से जानकारी हासिल करें।

नोडल अधिकारी ने समाज कल्याण अधिकारी से पोर्टल पर अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति की फीडिंग की जानकारी ली। साथ ही पोर्टल से संबंधित अन्य जानकारियां भी समाज कल्याण अधिकारी से ली। उन्होंने कहा कि कोई भी पात्र छात्र छात्रवृत्ति का आवेदन करने से वंचित न रहने पाये।

उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक से जनपद के सभी निजी एवं अनुदानित विद्यालयों की संख्या के बारे में जाना तथा किस विद्यालय में सबसे ज्यादा छात्र-छात्रा हैं, इसकी जानकारी भी ली। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि छात्रवृत्ति के नाम पर कोई भी संस्था फर्जी आंकड़ेबाजी न करें। इसके लिए समय-समय पर विद्यालयों की जांच की जाए।

बैठक में जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. एस चन्नप्पा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ बीएस सोढी, अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) एसबी सिंह, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) विनोद कुमार, परियोजना निदेशक दुष्यंत कुमार, उप कृषि निदेशक रामजतन मिश्र, जिला गन्ना अधिकारी के एम एम त्रिपाठी, जिला समाज कल्याण अधिकारी आनंद कुमार सिंह तथा संबंधित विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments