Sunday, October 17, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsSaharanpurड्रग-कास्मेटिक एक्ट को ठेंगा दिखा बेची जा रहीं दवाएं

ड्रग-कास्मेटिक एक्ट को ठेंगा दिखा बेची जा रहीं दवाएं

- Advertisement -
  • दो अलग-अलग पैकिंग में इंजेक्शन और दवा दोनों
  • सहारनपुर में नकली दवाओं का भी हो रहा है कारोबार

वरिष्ठ संवाददाता |

सहारनपुर: ड्रग्स और कास्मेटिक एक्ट का खुलेआम उल्लंघन हो रहा है। इन दिनों एक कंपनी दवा बाजार में दो अलग-अलग पैकिंग और फार्मुेलेशन में इंजेक्शन और दवा दोनों बेच रही है।

इसी तरह पंजाब व हरियाणा से भी नकली दवाओं की खेप उतारी जा रही है। वैसे भी सहारनपुर पहले से ही नकल दवाओं के काले कारोबार का गढ़ रहा है। फिलहाल, ड्रग विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। इंदौर की कंपनी का दवा उत्पाद सहारनपुर, मेरठ और आगरा जैसे शहर में धड़ल्ले से बिक रहा है।

यह बताने की जरूरत नहीं कि सहारनपुर नकली दवाओं के कारोबार का गढ़ रहा है। यहां कई बार छापेमारी में इसका खुलासा हुआ है। अब नया मामला इंदौर की कंपनी का है जो कि नियम-कायदों को ताक पर रखकर अपनी दवा दो अलग-अलग फार्मुेलेशन में बेच रही है।

पुख्ता जानकारी ये है कि महिका फार्मा नाम की इंदौर की कंपनी मेटबरो नाम की दवा बेच रही है। यह मार्केट में दो अलग-अलग पैकिंग में है। इसकी बैच संख्या-जेडीएलआई-166 है। ड्रग्स व कास्मेटिक नियमों के मुताबिक कोई भी कंपनी इस तरह दवाओं को मार्केट में नहीं बेच सकती।

यह संंबंधित एक्ट का खुला उल्लंघन है। सूत्रों का कहना है कि इस कंपनी ने पश्चिमी यूपी के अलग-अलग अस्पतालों में संपर्क किया है। इन अस्पतालों की जरूरत के हिसाब से दवा का लेबल बदल कर सप्लाई कर रही है। दिलचस्प ये है कि मैटबरो नाम की दवा का बैच भी एक ही है। यह दो अलग-अलग पैकिंग में उपलब्ध है। एक दवा कैंसर के मरीजों के लिए है तो दूसरी सांस के रोगियों के लिए।

इसे ही अस्पतालों में सप्लाई किया जा रहा है। यही नहीं कंपनी ने किसी भी लीगल कार्रवाई से बचने के लिए अपना पिन कोड की गलत छापा है। ऐसा इसलिए किया गया है कि कोई भी इस पते पर पहुंचकर नोटिस वगैरह न दे सके। बहरहाल, पश्चिमी उप्र और खासकर सहारनपुर में इस तरह का गोरखधंधा फल-फूल रहा है। पूर्व में भी सहारनपुर में नकली दवाओं का काला कारोबार होता रहा है।

इस संबंध में सीएमओ डाक्टर बीएस सोढ़ी का कहना है कि अगर ऐसा है तो जांच की जाएगी और संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई होगी।

उधर, ड्रग इंस्पेक्टर ने कहा कि मामला गंभीर है। हम इस दिशा में अपेक्षित कार्रवाई करेंगे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments