Tuesday, October 26, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutआरटीओ से रिजेक्ट वाहन, दौड़ रहे सड़कों पर

आरटीओ से रिजेक्ट वाहन, दौड़ रहे सड़कों पर

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जिन वाहनों का रजिस्ट्रेशन आरटीओ ने रद्द कर दिये हैं, उनको सड़कों पर कैसे दौड़ने दिया जा रहा है? क्या रिजेक्ट हो चुके वाहनों से प्रदूषण नहीं फैल रहा है। आरटीओ व पुलिस दिन भर सड़कों पर रहती है, मगर जिन वाहनों के पंजीकरण रद्द हो चुके हैं, उन्हें जब्त क्यों नहीं किया जा रहा हैं? इसको लेकर अधिकारी गंभीर क्यों नहीं दिख रहे हैं।

सिर्फ अफसर पुराली को लेकर गंभीर है। ऐसा क्यों? आरटीओ ने शहर में करीब नौ हजार वाहनों के रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिये है। कहा गया है कि ये वाहन अब सड़कों पर दौड़ने लायक नहीं है। आरटीओ ने यह कार्रवाई 8 माह पहले की थी, लेकिन यह तमाम रिजेक्ट वाहन फिर भी सड़कों पर दौड़ रहे हैं और हवा को दूषित कर रहे हैं।

एनजीटी के आदेश है कि एनसीआर क्षेत्र में कोई भी किसान पुराली नहीं जलाएंगे। बिल्डिंग मटेरियल का कार्य भी बंद है, लेकिन आरटीओ से रिजेक्ट किए गए वाहन फिर सड़कों पर कैसे दौड़ रहे हैं? इसके लिए जवाबदेही किसकी है। हर रोज आरटीओ दफ्तर की दो-दो टीमें वाहनों की सड़कों पर चेकिंग कर रही हैं।

इसके साथ ही यातायात पुलिस भी यातायात माह मना रहे हैं। इसमें चेकिंग और वाहनों के चालान करने के दावे किए जाते हैं, लेकिन फिर भी जिन वाहनों के रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिये गए,उन वाहनों को सड़कों पर कैसे दौड़ने दिया जा रहा है? इसके लिए ऐसे वाहनों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है?

वाहनों का पंजीकरण जब रद्द हो चुका है तो फिर भी वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं, जो स्कूटर व बाइक के रजिस्ट्रेशन रद्द हो चुके हैं, उन वाहनों को जुगाड़ में फिट कर चलाया जा रहा है, जो शहर की आबोहवा को दूषित कर रहे हैं। मगर इन पर लगाम कौन लगाएगा? लगता है सिर्फ

कागजों में ही कार्रवाई की गई है। धरातल पर ऐसे वाहनों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए किसी के पास कोई प्लान नहीं है। यदि प्लान होता तो इनमें एक भी वाहन सड़कों पर नहीं दौड़ पाता। ऐसे वाहनों को सड़क पर चलने में पुलिस का भी सहयोग है। जब पंजीकरण ही नहीं है तो वाहन सड़क पर कैसे दौड़ सकता है।

ऐसे वाहनों की सूची भी आरटीओ से एसएसपी आॅफिस भेजी गई है। प्रत्येक थाने को यह सूची दी गई। फिर भी रिजेक्ट वाहनों पर नकेल नहीं कसी जा रही है।

सड़कों पर ऐसे वाहनों को रोका जाएगा: आरटीओ
आरटीओ डा. विजय कुमार का कहना है कि करीब नौ हजार वाहनों का पंजीकरण रद्द किया गया है, जो बहुत पुराने हो चुके हैं। इसमें ट्रैक्टर कार और दुपहिया वाहन भी शामिल है। रद्द किए वाहनों के पंजीकरण की सूची बनाकर पुलिस को भी भेज दी गई है, ताकि ऐसे वाहनों को जब्त कर उन को नष्ट किया जा सके। क्योंकि रद्द किए गए वाहन प्रदूषण फैला रहे हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments