Wednesday, June 19, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarरालोद के भाईचारा सम्मेलन में निशाने पर रही भाजपा

रालोद के भाईचारा सम्मेलन में निशाने पर रही भाजपा

- Advertisement -
  • वक्ताओ ने हिंदू-मुस्लिम एकता पर बल दिया
  • रालोद के भाईचारा सम्मेलन में उमड़ी हजारो की भीड़

जनवाणी संवाददाता |

बुढ़ाना: कस्बे के फैज गार्डन में आयोजित भाईचारा सम्मेलन में वक्ताओं ने केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधा। भाईचारा सम्मेलन में हजारो की तादाद में आलग-अलग वर्गों के लोगो ने भाग लिया। सम्मेलन में हिंदू मुस्लिम समाज से आपसी भाईचारा बनाए रखने की अपील की गई।

कस्बे के फैज गार्डन में रालोद ने भाईचारा सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन का आयोजन पूर्व विधायक नवाजिश आलम व पूर्व प्रमुख विनोद मलिक ने किया। सम्मेलन में रालोद राष्ट्रीय महासचिव त्रिलोक त्यागी, पूर्व मंत्री चौधरी योगराज सिंह, पूर्व विधायक राजपाल सिंह बालियान, प्रवीण बालियान, बाल किशोर त्यागी आदि ने अपने व्यक्तव्य दिए। इस दौरान सभी ने आपसी भाईचारा बनाये रखने पर बल दिया।

वक्ताओं ने कहा कि सुशासन देने का नारा देकर सत्ता में आयी भाजपा शासन में कुशासन की सारी हदें पार हो गयी हैं। भाजपा शासन में भ्रष्टाचार, गुण्डाराज, महंगाई, भाई भतीजावाद, महिलाओं का शोषण बढ़ता जा रहा है। हमारे अन्नदाता किसान दिल्ली की सीमाओं पर अपना हक मांगने के लिए धरना दे रहे है और यह गूंगी बहरी सरकार को उनका दर्द नही दीख रहा है।

लोग अपने कान व आंख बंद किये बैठे है। रालोद के राष्ट्रीय महासचिव त्रिलोक त्यागी ने कहा कि भाजपा ने देश को हिंदू व मुसलमानों में बांट दिया है। महंगाई चरम सीमा पर है। डीजल पेट्रोल वह घरेलू गैस के दाम दोगुने हो गए हैं। किसान की आय को दोगुना करने वाली सरकार का दावा खोखला साबित हुआ है। बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। सुशासन देने का नारा देकर भाजपा ने कुशासन की सारी हदें पार कर दी है।

पूर्व विधायक नवाजिश आलम ने कहा कि जिन लोगों ने भाईचारे को तोड रखा है। केवल रालोद ही सभी जाति-धर्म के लोगों को साथ लेकर चलने में विश्वास रखती है। अब उनको सबक सिखाने का समय आ गया है। हमें अब या चुनाव के वक्त बिल्कुल भी नहीं बंटना है। मिल जुलकर इस जिले को सांप्रदायिकता की आग में झुलसने से बचाकर ऐसे लोगों को बेनकाब करना है।

18 9

पूर्व विधायक राजपाल बालियान ने कहा कि हम सभी को समाज में मिलजुलकर रहना है। सम्प्रदायिक ताकतों को सबक सिखाना है। केवल रालोद ही सभी जाति-धर्म के लोगों को साथ लेकर चलने में विश्वास रखती है। दूसरे राजनीतिक दल जाति आधारित सम्मेलन कर रहे हैं।

रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयन्त चौधरी ने समाज को एकता के सूत्र में जोडने के लिये भाईचारा सम्मेलनों की शुरुआत कराकर सराहनीय कार्य किया है।

पूर्व मंत्री योगराज सिंह ने कहा कि किसानो, मजदूरो व व्यापारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है। बार्डर पर किसान धूप, बारिश और सर्दी की परवाह ना करते हुए रात दिन खुले आसमान के नीचे धरना दे रहे है। और सरकारे बेसुध है। हमें आने वाले चुनाव में इसका जवाब देना है।

इस दौरान मुंशी रामपाल, वसीम राजा, अमीर आलम, अंकित बालियान, राशिद अजीम, सुरेंद्र सहरावत, एहतेशाम सिद्दीकी, तरस पाल मलिक, अतहर हसन, उस्मान प्रधान, आदेश त्यागी, अशोक पांचाल, उधम सिंह चौधरी, जगपाल चौधरी, अमित, सकुल सहरावत मलिक के साथ हजारो ग्रामीण मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments