Wednesday, February 28, 2024
HomeNational Newsपुलिस स्टेशन में शिवसेना नेता को मारी गोलियां, आइए जानते हैं कि...

पुलिस स्टेशन में शिवसेना नेता को मारी गोलियां, आइए जानते हैं कि कौन हैं गणपत गायकवाड़

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के उल्हासनगर में भाजपा विधायक गणपत गायकवाड़ द्वारा एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के नेता महेश गायकवाड़ को गोली मारने के आरोपों पर राजनीति गरमा गई है। विपक्ष ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पुलिस ने इस मामले में भाजपा विधायक समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं।

ये हैं गणपत गायकवाड़ और महेश गायकवाड़

गणपत गायकवाड़, कल्याण ईस्ट सीट से भाजपा विधायक हैं। गायकवाड़ तीन बार के विधायक है और साल 2009 से लगातार चुनाव जीत रहे हैं। गणपत गायकवाड़ दो बार निर्दलीय विधायक रहे हैं। गायकवाड़ ने सुलभा गायकवाड़ से शादी की है और इनके तीन बच्चे वैभव गायकवाड़, सयाली गायकवाड़ और प्रणव गायकवाड़ हैं। वहीं शिवसेना नेता महेश गायकवाड़ कोरपोरेटर हैं और सीएम एकनाथ शिंदे के करीबी माने जाते हैं। महेश गायकवाड़ उल्हासनगर शिवसेना के प्रमुख भी हैं।

विपक्ष ने सरकार पर लगाए आरोप

महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता विजय वडेत्तिवार ने घटना को लेकर सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर साझा किए एक पोस्ट में लिखा ‘उल्हासनगर के एक पुलिस स्टेशन में भाजपा विधायक गणपत गायकवाड़ और शिंदे गुट के कोरपोरेटर के बीच फायरिंग की घटना हुई है। भाजपा के बॉस ‘सागर’ बंगले में बैठे हैं और शिंदे गुट के बॉस ‘वर्षा’ बंगले में बैठे हैं, इसलिए दोनों पार्टियों के पदाधिकारियों और विधायकों को लगता है कि वह पुलिस के साथ खेल सकते हैं और कानून को अपने हाथ में ले सकते हैं।’

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना के नेता आनंद दुबे ने घटना को लेकर कहा यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि ‘जिस विधायक को लोगों की भलाई के लिए काम करना चाहिए, वे लोगों पर फायरिंग कर रहे हैं। तीन इंजन की सरकार में दो पार्टियों के नेता लड़ रहे हैं और एक दूसरे को मारने की कोशिश कर रहे हैं।’

पुलिस स्टेशन में हुई फायरिंग

भाजपा विधायक गणपत गायकवाड़ और शिवेसना नेता महेश गायकवाड़ के बीच कल्याण ईस्ट में एक संपत्ति पर मालिकाना हक को लेकर विवाद चल रहा है। इस मुद्दे पर दोनों पक्ष बीती 31 जनवरी को आमने-सामने आ गए थे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दोनों पक्ष इसी मामले में शिकायत करने के लिए शुक्रवार शाम को उल्हासनगर के हिल लाइन पुलिस स्टेशन पहुंचे थे।

इसी दौरान दोनों पक्षों में फिर विवाद हो गया और विवाद इतना बढ़ा कि भाजपा विधायक पर आरोप है कि उन्होंने महेश गायकवाड़ और उनके समर्थकों पर फायरिंग कर दी। घटना में शिवसेना नेता और उनके एक समर्थक को दो-दो गोलियां लगी हैं। दोनों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। वहीं पुलिस ने इस मामले में भाजपा विधायक समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। भाजपा विधायक का दावा है कि दूसरे पक्ष ने उनके बेटे के साथ बदतमीजी की, ऐसे में उन्होंने आत्मरक्षा में गोलियां चलाईं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments