Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliगुर्जर बेल्ट में कम मतदान प्रतिशत से भाजपा में टेंशन

गुर्जर बेल्ट में कम मतदान प्रतिशत से भाजपा में टेंशन

- Advertisement -
  • प्रसन्न को मिल सकता है गुर्जर बेल्ट में कम वोटिंग का लाभ
  • शामली शहरी में 85024 में से 57231 वोटरों ने डाले वोट
  • मलकपुर के बूथ-271 पर सर्वाधिक 91.30 फीसदी वोटिंग

जनवाणी संवाददाता  |

शामली: शामली विधानसभा पर भाजपा प्रत्याशी तेजेंद्र निर्वाल के साथ-साथ एमएलसी वीरेंद्र सिंह की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी है, इसलिए गुर्जर बेल्ट में पिछले चुनावों के मुकाबले हुए कम मतदान प्रतिशत ने भाजपा खेमे में टेंशन बढ़ा दी है।

इधर, शामली शहरी क्षेत्र में जहां 85024 मतदाताओं में से 57231 मत पड़े हैं, वहीं गांव मलकपुर के बूथ नंबर 271 पर सर्वाधिक 91.30 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकारी का प्रयोग किया। साथ ही, सबसे कम मतदान राष्ट्रीय किसान इंटर कालेज के कमरा नंबर-एक का बूथ रहा, जहां पर महज 44.1 प्रतिशत वोटिंग हुई।

लोकसभा चुनाव और या फिर विधानसभा। शामली विधानसभा के अंतर्गत आने वाले करीब एक दर्जन गुर्जर बहुल्य गांवों में झमाझम मतदान होता रहा है। यहां तक 95 फीसदी तक वोटिंग गुर्जर बहुल्य बूथों पर हुआ है। इसका सबसे बड़ा कारण गुर्जर क्षत्रप वीरेंद्र सिंह माने जाते रहे हैं।

किसी भी चुनाव में उनको गुर्जर मतदाताओं को कहने की जरूरत भी नहीं पड़ती और उनके सजातीय वोटर सुबह से शाम तक लाइन में लगकर मतदान का रिकार्ड बनाते रहे हैं। लेकिन इस बार मतदान की तस्वीर कुछ जुदा नजर आई है। शामली सीट पर 3 लाख, 10 हजार, 192 मतदाता हैं।

इनमें 1,69,40 पुरुष व 1,40,722 महिला वोटर हें। बृहस्पतिवार को चुनाव में 67.59 फीसदी मतदान हुआ। जिसमें 1,14,924 पुरुष तथा 94,690 महिला मतदाताओं ने मतदान किया। अगर 2017 के मतदान प्रतिशत की बात करें तो तब 67 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। इस तरह अबकी बार प्वाइंट 58 फीसदी मतदान तो बढ़ा लेकिन गुर्जर बेल्ट के गांव मतदान प्रतिशत का वह आंकड़ा नहीं छू पाए, जिसके लिए वे जाने जाते रहे हैं।

गुर्जर बहुल्य रसूलपुर के बूथ नंबर 182 पर जहां 60.12 फीसदी मतदान हुआ, वहीं 183 पर 58.67 फीसदी वोट पड़े। एमएलसी वीरेंद्र सिंह के पैतृक गांव जसाला के बूथ नंबर 190 पर अधिकतम 62.90 और न्यूनतम बूथ नंबर-206 पर 58.55 प्रतिशत मतदान हुआ।

हालांकि गुर्जर बहुल फतेहपुर के बूथ नंबर 266 पर 84.09 और गुर्जरपुर के बूथ नंबर 81.18 प्रतिशत मतदाताओं अपने मताधिकार का प्रयोग किया। खंद्रावली और बलवा गुजरान गांव हिंदू और मुस्लिम गुर्जर बहुल्य हैं इसलिए इन गांवों में मतमदान प्रतिशत 76 से 80 फीसदी तक वोट पड़ी। मुस्लिम बहुल्य गंगेरू में 81.16 प्रतिशत वोटिंग हुई। इनके अलावा मुस्लिम बहुल्य मलकपुर व इस्लामपुर घसौली का भी यहीं नजारा रहा जबकि गढ़ी दौलत में भी 75 फीसदी से अधिक मतदान हुआ।

इधर, शामली शहर में 85,024 मतों में से 57,231 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। शहर के बूथ नंबर-20 जूनियर हाईस्कूल गुजरातियान पर 83.80 फीसदी वोटिंग हुई। शहरी क्षेत्र में 67 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

मलकपुर में बना सर्वाधिक मतदान का रिकार्ड

सर्वाधिक 91.30 फीसदी वोटिंग के साथ रिकार्ड बना। इनके अलावा मलकपुर के बूथ 272 पर 86.89 मतदाताओं  ने वोटिंग की। जबकि सबसे कम मतदान शामली में राष्ट्रीय किसान इंटर कालेज के बूथ नंबर-30 पर 44.01 प्रतिशत हुआ।

जाट बहुल गांवों में इस तरह रहा मतदान प्रतिशत

समीपवर्ती गांव खेड़ीकरमू में 7 बूथ हैं। इनमें सर्वाधिक 79.22 फीसदी वोटिंग बूथ नंबर-4 पर हुई जबकि सबसे कम बूथ नंबर-6 पर 62.46 प्रतिशत मत पड़े। गांव कुड़ाना में 11 बूथ हैं जिनमें सर्वाधिक बूथ नंबर-112 पर 75.55 तथा न्यूनतम बूथ नंबर-112 हरिजन चौपाल पर 62.80 फीसदी मत पड़े।

गांव लांक में 65 से 75, गांव ताजपुर सिंभालका में 62 से 73 प्रतिशत मतदान हुआ। दंगा प्रभावित लांक, बहावड़ी और लिसाढ़ में 60 से 75 प्रतिशत मतदान हुआ।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments