Wednesday, April 21, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकमिश्नर ने पंचायत चुनाव को लेकर की समीक्षा

कमिश्नर ने पंचायत चुनाव को लेकर की समीक्षा

- Advertisement -
0
  • पंचायत चुनावों को निष्पक्ष पारदर्शी एवं सकुशल ढंग से संपन्न कराने के निर्देश

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: आगामी त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन को सकुशल संपन्न कराने के लिये आयुक्त ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक की। जिसमें मंडल के समस्त मुख्य विकास अधिकारी, प्रभारी अपर जिलाधिकारी, पीडी डीआरडीए, जिला विकास अधिकारी और एनआईसी के अधिकारी उपस्थित रहे।

आयुक्त ने कहा कि कर्मचारियों की ट्रेनिंग सही ढंग से कराई जाए, ताकि उनके स्तर से कोई कमी न होने पाए। इसके लिए मास्टर ट्रेनर्स की ट्रेनिंग अच्छे से कराई जाए। निर्देश दिए कि जिलाधिकारी और सीडीओ खुद करें मास्टर ट्रेनर्स की ट्रेनिंग। नामित कर्मचारियों को सचेत कर दिया जाए तथा प्रशिक्षण में गैरहाजिर कार्मिकों के विरुद्ध कारवाई की जाए।

यह भी निर्देश दिए कि मतदान ड्यूटी पर लगाए गए कर्मचारियों को समुचित परिवहन, ठहरने, खाने-पीने और शौचालय इत्यादि सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए। आयुक्त द्वारा निर्देशित किया कि आयोग द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार केवल दो दिन नामांकन के लिए निर्धारित हैं।

इस दौरान एक ही समय में कई प्रत्याशी नामांकन के लिए आने की संभावना है, जिनके साथ समर्थकों की भीड़ भी रहती है, इसलिए नामांकन के समय अव्यवस्था से बचने के लिए प्रत्याशियों को टाइम स्लॉट दे दिए जाएं, जिसके अनुसार वह नामांकन हेतु अलग अलग समय पर आए। इस दौरान पर्याप्त संख्या में वेटिंग रूम की व्यवस्था रखी जाए।

आयुक्त द्वारा यह भी निर्देश दिए गए कि मतदान केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाए। पर्याप्त संख्या में कार्मिकों एवं सरप्लस कार्मिकों की उपलब्धता रखी जाए। मतदान के समय मतदाता की उंगली पर सही ढंग से स्याही लगाई जाए और जाते समय भी स्याही को चेक जाए, ताकि फर्जी वोटरों पर रोक लगाई जा सके। आयुक्त ने यह भी निर्देश दिए कि सभी जिलों में अवांछनीय तत्वों/गुंडों को चिह्नित कर कड़ी कार्रवाई करें।

मतदान के दौरान फर्जी वोटरों की धरपकड़ कर दर्ज कराएं मुकदमा। सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं जोनल मजिस्ट्रेट निरंतर निगरानी रखें और उनकी रिपोर्ट के आधार पर जिला अधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के स्तर से तत्काल कार्रवाई की जाए। आयोग द्वारा कड़ाई से निर्देश दिए कि प्रत्येक दशा में पंचायत निर्वाचन को शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष ढंग से पूर्ण कराया जाए। बैठक का संचालन अपर आयुक्त श्रीमती मेधा रूपम द्वारा किया गया।

जिपं सदस्य पद के बिके 20 नामांकन पत्र

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर शुक्रवार को जिला पंचायत कार्यालय में जिला पंचायत सदस्य पद के संभावित उम्मीदवारों ने 20 नामांकन पत्र खरीदे। शुक्रवार को गुड फ्राइडे की छुट्टी के बावजूद निर्वाचन कार्यालय व चुनावी संबंधी कार्यालय खुले रहे, लेकिन ब्लॉकों में कार्यालय बंद रहे, जिसके चलते लोगों को ग्राम प्रधान पदों के लिये नामांकन पत्र नहीं मिल पाये।

मेरठ में चुनावी प्रक्रिया तेजी से चल रही है। यहां 26 अप्रैल को चुनाव होना है। जिसे लेकर प्रशासन की ओर से भी कमर कस ली गई है। जिला प्रशासन की ओर से चुनावी व्यवस्थाओं को लेकर बैठकों का दौर जारी है। शुक्रवार को भी जिला मुख्यालय में बैठक कर चुनावी तैयारी को दिशा निर्देश दिये गये। बता दें कि नामांकन पत्रों की बिक्री जारी है।

ब्लॉक कार्यालयों में ग्राम प्रधान पदों, क्षेत्र पंचायत सदस्य पद व ग्राम पंचायत सदस्य पद के नामांकन पत्र मिल रहे हैं। जिला मुख्यालय में जिला पंचायती कार्यालय में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिये नामांकन मिल रहे हैं। शुक्रवार को गुड फ्राइडे की छुट्टी के चलते ब्लॉकों में नामांकन पत्र नहीं मिल पाये, लेकिन जिला मुख्यायल खुला रहा। यहां जिला पंचायत सदस्य पद के लिये शुक्रवार को 20 नामांकन पत्र लोगों ने खरीदे।

अभी तक की बात करें तो पिछले तीन दिन में जिला पंचायती कार्यालय से जिला पंचायत सदस्य पद के लिये 95 नामांकन पत्र खरीदे गये। वहीं ग्राम प्रधान पदों पर अब तक एक हजार से अधिक नामांकन पत्र खरीदे जा चुके हैं। क्षेत्र पंचायत और ग्राम पंचायत सदस्य पद के नामांकन पत्रों के खरीदे जाने की संख्या अलग है।

किसी भी प्रकार का बकाया होने पर उम्मीदवार का नामांकन होगा रद

किसी भी प्रकार का बकाया होने पर उम्मीदवार का नामांकन रद कर दिया जाएगा। विभाग की ओर से पत्र जारी कर उम्मीदवारों को दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं। पत्र में कहा गया कि सदस्य ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत, जिला पंचायत व प्रधान ग्राम पंचायत पद के उम्मीदवार पर किसी भी ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत तथा जिला पंचायत की देयता का बकाया होने पर नामांकन रदकर दिया जाएगा।

नामांकन पत्र के साथ मतदाता सूची की प्रति भी संलग्न करनी होगी। सदस्य ग्राम पंचायत के मामले में ग्राम पंचायत के किसी वार्ड की मतदाता सूची में नाम दर्ज होना चाहिए। इसी प्रकार ग्राम प्रधान के लिये संबंधित ग्राम पंचायत के वार्ड की मतदाता सूची में नाम दर्ज होना चाहिए। सदस्य जिला पंचायत उसी वार्ड का मतदाता हो जिस वार्ड से उम्मीदवार अपना नामांकन दर्ज कर रहा है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments