Monday, October 25, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutटीम को किसानों ने वापस लौटाया

टीम को किसानों ने वापस लौटाया

- Advertisement -
  • कब्जा लेने गई थी टीम, आवास विकास के अधिकारी करते रहे पुलिस का इंतजार, नहीं पहुंची पुलिस
  • डीएम, एसएसपी से मिलकर वार्ता करेंगे अधिकारी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: आवास विकास और किसानों के बीच में स्कीम 11 में प्लॉट और फ्लैट लेने वाले आवंटी फंस गये हैं। लाखों रुपये जमा करने के बावजूद उन्हें उनकी जमीनों पर कब्जा नहीं मिल पा रहा है। गुरुवार को आवास विकास की टीम मेरठ पब्लिक स्कूल के लिये यहां जमीन पर कब्जा दिलाने पहुंची थी, लेकिन किसानों ने उन्हें वापस लौटा दिया। किसानों और अधिकारियों के बीच काफी देर तक वार्ता हुई, लेकिन अधिकारी यहां पुलिस बल का इंतजार करते रहे, लेकिन पुलिस नहीं पहुंची जिसके बाद टीम को वापस लौटना पड़ा। उधर, किसान अब भी अपनी बातों पर टिके हैं। वह मांगे पूरी होने तक यहां किसी को कब्जा नहीं लेने देंगे।

बता दें कि आवास विकास की जागृति विहार स्कीम 11 में काजीपुर समेत कई गांवों के किसान बढेÞ हुए प्रतिकर और प्लॉटों की मांग करते आ रहे हैं। पिछले कई सालों से किसानों की यह मांग चली आ रही है, लेकिन अभी तक यह मांगे पूरी नहीं हो पाई हैं। इसे लेकर किसान यहां धरने पर बैठे हैं और उन्होंने कहा कि वह यहां किसी को भी कब्जा नहीं लेने देंगे और योजना में कोई कार्य नहीं होने देंगे।

गुरुवार को आवास विकास के अधिकारी पूरी टीम के साथ योजना में पहुंचे और यहां एमपीएस स्कूल के लिये जमीन का कब्जा दिलाने की बात कही, लेकिन इससे पहले ही यहां किसान एकत्र हो गये और हंगामा करने लगे। अर्जित भूमि किसान संगठन के महामंत्री भारत भड़ाना ने यहां कोई कार्य नहीं होने दिया। उन्होंने कहा कि वह जब तक यहां कब्जा नहीं लेने देंगे, जब तक उनकी मांगों को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया जाता। आवास विकास की ओर से उन्हें कोई जवाब नहीं दिया जा रहा है।

एमपीएस स्कूल को दिया जाना है जमीन पर कब्जा

एमपीएस ग्रुप की शाखा का निर्माण किया जाना है। इसके लिये गु्रप ने यहां 1200 मीटर जमीन ली है, लेकिन अभी तक उन्हें यहां पर कब्जा नहीं मिल पाया है। इससे पहले भी अधिकारी यहां कब्जा दिलाने के लिये पहुंचे थे, लेकिन उन्हें किसानों के प्रदर्शन का सामाना करना पड़ा था। किसानों ने उन्हें कब्जा नहीं लेने दिया और वापस भेज दिया था। गुरुवार को भी यही हुआ। किसानों ने यहां कोई भी कार्य कराये जाने से मना कर दिया और अधिकारियों को वापस जाने के लिये कहा।

अधिकारियों को नहीं मिला पुलिस बल

अधिकारियों की मानें तो शासन के आदेश के बाद ही वह यहां पर स्कूल की जमीन पर कब्जा दिलाने के लिये पहुंचे थे। इसके लिये प्रशासन की ओर से पुलिस बल भी दिया जाना था, लेकिन पुलिस नहीं पहुंची। आवास विकास के एक्सईएन नीरज कुमार, अधीक्षण अभियंता राजीव कुमार, अधिशासी अभियंता एमबी कौशिक, विरेन्द्र यादव, जेई दुजईराम आदि टीम के साथ पहुंचे थे।

यहां अधिकारियों ने पुलिस बल के आने की बात भी कही, लेकिन पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। उसके बाद टीम वहां से वापस लौट गई। अधिकारियों का कहना है कि शासन के निर्देश के बाद कार्रवाई की जायेगी। इसे लेकर डीएम और एसएसपी के साथ मिलकर वार्ता की जायेगी।

मांगें पूरी होने तक नहीं देंगे कब्जा

किसान भारत भड़ाना, हुकुम सिंह, संदीप भड़ाना, विनोद काजीपुर, असफाक अली समेत यहां सैकड़ों की संख्या में किसान मौजूद थे। किसानों ने कहा कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती वह यहां से नहीं हटेंगे और न ही किसी को कब्जा लेने देंगे। उन्होंने कहा कि आवास विकास मुकदमों का डर दिखाकर किसानों को डरा रहा है वह पीछे नहीं हटेंगे। इसे लेकर किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल विधायक सोमेन्द्र तोमर से भी मिला। विधायक ने इस मामले को लेकर कमिश्नर सुरेन्द्र सिंह से बात की है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments