Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसत्ता की हनक, भाजपा नेताओं की गुंडई और पुलिस की ‘चुप्पी’

सत्ता की हनक, भाजपा नेताओं की गुंडई और पुलिस की ‘चुप्पी’

- Advertisement -
  • भाजपा नेताओं पर अपराध की जीरो टॉलरेंस की नीति फेल

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जीरो टॉलरेंस की नीति पर बात करने वाली यूपी भाजपा सरकार में उनके नेताओं की खुलकर गुंडई देखने को मिल रही है। हैरत की बात है कि पार्टी के नेता अपने पद और नाम का दुरुपयोग कर खुलेआम अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने से नहीं चूक रहे, बल्कि पुलिस अफसरों पर भी भारी पड़ रहे हैं। पुलिस भी सत्ता के दबाव में इन पर कार्रवाई नहीं कर रही हैं।

वहीं, इन अपराधिक नेताओं पर अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जीरो टॉलरेंस नीति कोई मायने नहीं रखती। पुलिस इन नेताओं पर दंडनात्मक कार्रवाई के बजाय इनके आगे नतमस्तक होने पर मजबूर है। भाजपा सरपस्ती में हाल ही में शहर देहात में ऐसी कई घटनाएं हुई, जिनमें पार्टी पर कई सवालिया निशान लग गये। आपराधिक नेताओं पर पार्टी के आलाकमान तो दूर पुलिस अफसर भी चुप्पी साधे बैठे हैं।

सवाल ये है कि क्या जीरो टॉलरेंस नीति इन नेताओं के सामने निष्प्रभावी होती दिखाई देती है। भाजपा की सरपरस्ती में इनके नेताओं की गुंडई आम हो गई है। चंद दिनों पहले मवाना रोड स्थित इंचौली क्षेत्र और गंगानगर में भाजपा नेताओं ने सत्ता की हनक दिखाई। इन नेताओं ने पुलिस के सामने ही कई आपराधिक वारदात क र पुलिस को चुनौती दे डाली।

  • केस-1

मवाना रोड स्थित गंगानगर में वहां के वार्ड-37 क्षेत्रीय पार्षद गुलबीर गुर्जर के बेटे प्रिंस गुर्जर आशू नाम के युवक ने सफारी में सवार होकर एक कार में साइड लगने पर अशोक शर्मा को मारपीट कर घायल कर दिया था। घटना गंगानगर थाने के सामने हुई थी।

पुलिस ने पार्षद के बेटे प्रिंस पर मारपीट करने शांतिभंग में मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस आरोपी पर अब भी मेहरबान है। दो दिन पहले ही प्रिंस गुर्जर हरियाणा नंबर की गाड़ी से अपने घर आया था, लेकिन पुलिस ने उस पर हाथ नहीं डाला था। आरोपी कोर्ट में सरेंडर करने की तैयारी में है।

  • केस-2

दो अक्टूबर की रात को शराब के नशे में धुत पूर्व जिला पंचायत सदस्य यशोदा कुंज निवासी सचिन राठी ने खुलेआम गंगानगर थाने के सामने रिवाल्वर से कई राउंड फायरिंग की थी। हालांकि पुलिस ने आरोपी भाजपा नेता को मौके से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पुलिस ने भाजपा का झंडा लगी वर्ना कार और कारतूस बरामद किये थे।

  • केस-3

इंचौली थाना क्षेत्र गांव बीटा मेें पूर्व जिला पंचायत सदस्य विक्की तनेजा के बाउंसर राजू ने अपने ही ताऊ के बेटे जसवीर के साथ मारपीट कर गोली मार दी थी। गोली मारने वाले बाउंसर राजू पर इंचौली पुलिस ने एफ आईआर दर्ज की। पुलिस अभी तक हमलावर राजू की गिरफ्तारी नहीं की है। इंचौली थाना प्रभारी जितेन्द्र का कहना है कि जांच करने के बाद ही गिरफ्तारी की जायेगी।

जबकि पुलिस ने पहले जांच पड़ताल कर एफआईआर दर्ज की थी, लेकिन पीड़ित पक्ष का आरोप है कि भाजपा नेता विक्की तनेजा के दबाव में इंचौली पुलिस काम कर रही है। सत्ता के दबाव में पुलिस गोली मारने वाले की गिरफ्तारी नहीं कर रही। जबकि अगर हमलावर आम व्यक्ति होता तो पुलिस अभी तक उसे गिरफ्तार कर जेल भेज देती, लेकिन सत्ता की हनक के आगे सब फेल है।

  • केस-4

अगस्त माह में टीपी नगर थाना क्षेत्र इस्लाम नगर में भाजपा लगी स्कार्पियो में सवार आधा दर्जन लोगों ने एक दुकान पर कब्जे का प्रयास किया था। पीड़ित पक्ष ने थाना टीपी नगर पुलिस से कार्रवाई की मांग की थी, लेकिन पुलिस ने भाजपा के आलाकमान के दबाव पर एफआईआर दर्ज नहीं की थी। इससे पहले भी शहर में एक पार्षद मनीष चौधरी ने पुलिस दारोगा के साथ मारपीट की थी।

इसके अलावा भाजपा नेताओं ने सड़क पर जागरण करने की धौंस सिविल लाइन इंस्पेक्टर को देते हुए भुगत लेने की धमकी दी थी। जिसका वीडियो काफी वायरल हुआ था। मेडिकल थाने पर भाजपा कार्यकर्ताओं का थाने में आने का मना है, का बैनर लगा था।

पार्टी की छवि खराब करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वैसे इस तरह के मामले उनके संज्ञान में नहीं हैं।

08 3

फायरिंग करने वालों से भाजपा का कोई लेना-देना नहीं हैं।
-विमल शर्मा, जिलाध्यक्ष भाजपा, मेरठ

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments