Thursday, August 18, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनशामुक्ति केंद्र में रस्सी से हाथ-पैर बांधकर दीं यातनाएं

नशामुक्ति केंद्र में रस्सी से हाथ-पैर बांधकर दीं यातनाएं

- Advertisement -
  • पीड़ित का नीला पड़ा शरीर देखकर परिजनों के उड़े होश, दी तहरीर
  • ठीक होने के बजाय पीड़ित की बिगड़ी हालत, पुलिस ने अस्पताल भेजा

जनवाणी संवाददाता |

कंकरखेड़ा: खिर्वा रोड स्थित जगन्नाथपुरम स्तिथ जनकल्याण सेवा समिति नशा मुक्ति केंद्र में उपचार के लिए आए लोगों को बंधक बनाकर यातनाएं दी जा रही है। पीड़ित युवक ने परिजनों के साथ थाने पहुंचकर नशा मुक्ति केंद्र संचालकों के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने गंभीर रूप से घायल युवक को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भेजा है। दरअसल बंधक बनाकर की गई पिटाई से पीड़ित की हालत खराब है।

कैलाश पुत्र भोपाल निवासी मुजफ्फरनगर को उसके रिश्तेदार पशु चिकित्सक इंद्रपाल निवासी नया गांव ने खिर्वा रोड जगन्नाथपुरम कालोनी स्थित जन कल्याण सेवा समिति नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया था। इंद्रपाल ने बताया कि कैलाश शराब पीने का आदी था। इसी कारण उसे नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया गया था, लेकिन उन्हें पता चला कि नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती युवकों को बंधक बनाकर लाठी-डंडों से पिटाई कर यातनाएं दी जाती है।

रविवार को इंद्रपाल जब रिश्तेदारों के साथ वहां पहुंचा तो देखा कि कैलाश को रस्सी से बंधक बनाकर बुरी तरह पीटा जा रहा है। इससे उन्होंने विरोध कर दिया और कैलाश को किसी तरह बंधन मुक्त कराया। घर लाकर उन्होंने देखा तो कैलाश के शरीर पर लाठी-डंडों से पिटाई के नीले निशान पढ़े हुए हैं।

आंख पर चोट के निशान हैं और कैलाश के नितंब से खून बह रहा था। पीड़ित कैलाश को परिजनों ने थाने ले गए और आरोपियों के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने घायल को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है और आरोपियों शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है।

घायल कैलाश जिला अस्पताल में भर्ती

पुलिस ने घायल अवस्था में कैलाश को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भेजा। कैलाश की हालत देखकर चिकित्सकों ने उसे भर्ती कर लिया है अभी उसकी हालत गंभीर है। घायल के रिश्तेदार इंद्रपाल का कहना है कि कैलाश की हालत नाजुक बताई जा रही है अभी उसको दवाई दी जा रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments