Wednesday, May 12, 2021
- Advertisement -
HomeCoronavirusजगदंबा हॉस्पिटल में महिला की मौत पर जमकर हंगामा ?

जगदंबा हॉस्पिटल में महिला की मौत पर जमकर हंगामा ?

- Advertisement -
0
  • हॉस्पिटल का लाइसेंस निरस्त, कोविड मरीजों को दूसरे अस्पताल में किया शिफ्ट

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: आॅक्सीजन की कमी के कारण जगदंबा अस्पताल में हुई एक महिला की मौत को लेकर परिजनों ने जमकर हंगामा किया। परिजनों ने डीएम से शिकायत की तो जांच बैठाई गई। बाद में सीएमओ ने अस्पताल का लाइसेंस निरस्त करते हुए कोविड के मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करा दिया।

दिल्ली के लक्ष्मीनगर निवासी राजकुमार जायसवाल ने बताया कि उनकी पत्नी माया को कफ की शिकायत थी। इस कारण उनको आॅक्सीजन की जरूरत महसूस हुई। वह अपनी पत्नी को लेकर भटक रहे थे तभी उनको एक एंबुलेंस चालक मिला। उसने जगदंबा अस्पताल में आक्सीजन दिलाने का दावा किया।

राजकुमार ने बताया कि 18 अप्रैल को उन्होंने अपनी पत्नी को जगदंबा अस्पताल में भर्ती करा दिया। अस्पताल के कर्मचारी कभी सिलेंडर लगा देते थे तो कभी हटा लेते थे। राजकुमार की बेटी ने बताया कि बीती रात अस्पताल वालों ने मां को मार दिया। वहीं अस्पताल के स्टाफ ने बताया कि हालत बिगड़ने के कारण माया की मौत हुई है।

मौत की खबर लगते ही परिजनों ने हंगामा शुरु कर दिया। परिजनों ने स्टाफ पर हत्या का आरोप लगा दिया। इसी बीच पति ने डीएम के. बालाजी को फोन करके पूरी घटना की जानकारी दी। थोड़ी देर में कई थानों की पुलिस और एसडीएम मौके पर पहुंच गए। बेटी ने अस्पताल के मालिक रवीन्द्र गुर्जर समेत कई कर्मचारियों पर हत्या का आरोप लगाते हुए लिखित में शिकायत की।

वहीं सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि जगदंबा अस्पताल में मरीजों के इलाज में लापरवाही की तमाम शिकायतें मिल रही थी। इसको देखते हुए अस्पताल का कोविड सेंटर की अनुमति को निरस्त कर दिया गया है। सीएमओ ने सख्त निर्देश दिये हैं कि इस अस्पताल में कोविड के मरीज भर्ती न किये जाए। अगर इसका पालन न हुआ तो मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना संक्रमण युवती के शव देने के मांगे 20 हजार

कोरोना के चलते उपचार के दौरान मेडिकल के आसोलेशन वार्ड में दम तोड़ने वाली युवती के शव देने के नाम पर परिजनों से 20 हजार की मांग की गयी। मामला इतना ज्यादा तूल पकड़ गया कि लखनऊ तक से फोन घनघनाने लगे। यह पूरा मामला स्वाति गुप्ता नाम की युवती का है। कोरोना संक्रमण के चलते युवती को मेडिकल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था।

उपचार के दौरान शनिवार तड़के उसकी मौत हो गयी, लेकिन इस मौत ने मेडिकल सिस्टम की मरती हुई संवेदनाओं की पोल खोलकर रख दी। परिजनों का आरोप है कि युवती का शव देने के लिए 20 हजार की मांग की गयी। शव दिलाने के लिए कई सिफारिशी फोन काल्स भी कराए गए, लेकिन लाशों के ढेर पर बैठे मौत के सौदागरों पर इसका कोई असर नहीं पड़ा।

युवती के शव को दिलाने के लिए प्रदेश के दूसरे शहरों के बडे मेडिकल कालेज के सीनियर डाक्टरों ने भी फोन किए। इस बीच मेडिकल सिस्टम की कारगुजारी का यह पूरा मामला लखनऊ जा पहुंचा। लखनऊ से फोन घड़घडाने शुरू हो गए। मेडिकल प्रशासन को रिमांड पर ले लिया। इससे यह हुआ कि आनन-फानन में शव परिजनों को सौंप दिया गया।

वहीं, इस संबंध में मेडिकल प्राचार्य डा. ज्ञानेन्द्र कुमार का कहना है कि मृतक के परिजनों से 20 हजार की डिमांड मामले की जांच करायी गयी है। इसमें हमारा कोई स्टाफ नहीं शामिल है। यह काम प्राइवेट एम्बुलेंस वालों का है। निश्चित रूप से उन्होंने ही रकम मांगी है। पूरे मामले की जानकारी प्रशासन को भी दे दी गयी है। घटना में मेडिकल का कोई स्टाफ शामिल नहीं है। प्राइवेट एम्बुलेंस का स्टाफ जांच में लिप्त पाया गया है।

शव ले जाने को एंबुलेंस चालक वसूल रहे मोटी रकम

कोरोना संक्रमित शवों को ले जाने के लिए एंबुलेंस चालकों ने कमाई का जरिया बना लिया है। जिस कारण एंबुलेंस चालकों ने एक किमी के एक हजार रुपये वसूलने शुरू कर दिए है। ऐसा ही एक मामला शनिवार को मेडिकल कॉलेज में देखने को मिला है। कोरोना संक्रमण से लगातार हो रही मौत को लेकर देशभर में हड़कंप मचा हुआ है। यही नहीं सरकार भी कोरोना संक्रमित लोगों के लिए हरसंभव मदद कर रही है।

इसके बावजूद कुछ लोगों ने इस माहमारी को कमाई का जरिया बना लिया है। ऐसा ही एक मामला शनिवार को मेडिकल कॉलेज में देखने को मिला है। जहां पर कोरोना संक्रमण से मरने वालों के परिजन एंबुलेंस चालक की मन्नते करते हुए नजर आए। मृतक के परिजनों का आरोप था कि एंबुलेंस चालक मेडिकल कॉलेज से सूरजकुंड तक के चार से पांच हजार रुपये मांग रहे है। जबकि मेडिकल कॉलेज से सूरजकुंड की दूरी मात्र पांच किमी है। ऐसे में एंबुलेंस चालकों ने भी अब कमाई का जरिया बना लिया है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments