Monday, May 17, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliगांव की सरकार चुनने के लिए सोमवार को कड़ी सुरक्षा में डाली...

गांव की सरकार चुनने के लिए सोमवार को कड़ी सुरक्षा में डाली जाएगी वोट

- Advertisement -
+1
  • 230 प्रधान, 19 जिपं सदस्य और 464 बीडीसी पदों पर मतदान
  • सोमवार प्रात: 7 बजे से शाम 6 बजे तक पोलिंग स्टेशनों पडेगी वोट
  • जनपद के पांच विकास खंड मुख्यालयों से पोलिंग पार्टियां पहुंची

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में सोमवार को जनपद की 230 ग्राम पंचायतों में ग्राम प्रधान पदों के साथ-साथ 19 जिला पंचायत सदस्य पदों के लिए 754656 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। मतदान कराने के लिए 1336 पोलिंग पार्टियां जनपद के सभी पांच विकास खंड मुख्यालयों से 518 मतदान केंद्रों से रवाना होकर शाम तक वहां पहुंच गई।

पुलिस-प्रशासन ने शांतिपूर्वक और निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराने के लिए जनपद को 12 जोन और 87 सेक्टरों में विभाजित किया है। संवेदनशील, अति संवेदनशील और अति संवेदनशील प्लस मतदान केंद्रों पर अतिरिक्त सुरक्ष बल तैनात रहेगा।

राज्य निर्वाचन आयोग ने गत 26 अप्रैल को अधिसूचना जारी करते हुए चुनाव कार्यक्रम जारी किया था। शामली जनपद में तीसरे चरण में मतदान प्रस्तावित है। उसी शाम जिला निर्वाचन अधिकारी जसजीत कौर ने स्थानीय स्तर पर अधिसूचना जारी करते हुए चुनाव कार्यक्रम जारी किया था।

जिसके तहत 13 व 15 अप्रैल को नामांकन के बाद 16-17 अप्रैल को पर्चों की जांच तथा 18 अप्रैल को अपराह्न 3 बजे तक नामवापसी के बाद चुनाव चिह्न आवंटित हुए थे। उसके बाद प्रत्याशी विधिवत चुनाव प्रचार में जुट गए थे। 24 अप्रैल की शाम 5 बजे चुना प्रचार थम गया था।

रविवार को जनपद के पांच विकास खंड मुख्यालयों से 1336 पोलिंग पार्टियां चुनाव संपन्न कराने के लिए कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच 518 मतदान केंद्रों के लिए रवाना हुई, जो शाम तक मतदान केंद्रों पर पहुंच गई। एक पोलिंग पार्टी में एक पीठासीन अधिकारी के अलावा तीन मतदान कर्मचारी शामिल हैं।

शामली विकास खंड के लिए शहर के माजरा रोड स्थित ब्रिगेडियर होशियार सिंह मैमोरियल इंटर कालेज से 221 पोलिंग पार्टियां रवाना हुई। 10 प्रतिशत पोलिंग पार्टियां रिजर्व में रखी गई हैं। इस दौरान जिलाधिकारी जसजीत कौर, पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) अरविंद कुमार सिंह एवं एएसपी ओपी सिंह ने ब्लॉक मुख्यालयों पर उन स्थानों का जायजा लिया जहां से पोलिंग पार्टियां रवाना हुई।

साथ ही, आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान कराने के लिए प्रशासन ने पुलिस-फोर्स की व्यवस्था की है। साथ ही, जनपद को 12 जोन तथा 87 सेक्टरों में बांटकर इतने जी जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किए हैं।

सोमवार की प्रात: 7 से शाम 6 बजे तक होने वाले मतदान के दौरान 7, 54 हजार, 656 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। साथ ही, जिला पंचायत के 19 वार्डों, 230 ग्राम प्रधानों एवं 459 सदस्य क्षेत्र पंचायत के साथ-साथ 1570 ग्राम पंचायत सदस्य का चुनाव कर सकेंगे।

जिला पंचायत के 19 वार्डों में इतने ही सदस्य पदों के लिए 354 प्रत्याशी भाग्य आजमा रहे हैं जबकि 230 ग्राम प्रधान पदों पर 2325 प्रत्याशी ताल ठोंक रहे हैं। बीडीसी के 464 पदों में से 5 जहां निर्विरोध निर्वाचित चुन लिए गए, वहीं अब 459 पदों पर 2548 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

न सोशल डिस्टेंसिंग, न समुचित व्यवस्था

शासन-प्रशासन का जोर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कोविड-19 की गाइड लाइन का अनुपालन कराते हुए संपन्न कराने पर है। इसके लिए शनिवार को मतदान केंद्रों के साथ-साथ ग्राम पंचायत सचिवालयों एवं आंगनबाडी केंद्रों को सैनेटाइज किया गया है।

मतदान स्थलों पर मतदाताओं के दो गज की दूरी पर खड़ा होने के लिए गोल घेरे बनाए गए हैं। इतना सब होने बावजूद रविवार को उन स्थानों पर जहां से पोलिंग पार्टियां रवाना हुई, वहां पर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां खूब उड़ी। इसमें मतदान कर्मचारियों का कोई दोष नजर नहीं आया बल्कि प्रशासन गाइडलाइन के अनुपालन के लिए उचित व्यवस्था ही नहीं कर पाया। पोलिंग पार्टियों के लिए लगाए गए टैंट काफी कम दूरी पर लगे थे।

जिसके चलते वे एक दूसरे से सटकर बैठते हुए बैलेट पेपरों के साथ-साथ अन्य चुनाव सामग्री की गणना कर रहे थे। इतना ही नहीं, ब्रिगेडियर होशियार सिंह मैमोरियल स्कूल में तो कुछ पोलिंग पार्टियां पेड़ों के नीचे बैठकर चुनाव सामग्री का मिलान कर रही थीं। चुनाव सामग्री लेने के लिए भी आपाधापी मची थी। अधिकांश के मास्क नॉक या फिर नाक-मुंह से नीचे उतरे हुए थे।

एक मतदाता को मिलेंगे चार बैलेट पेपर

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अबकी बार जिला पंचायत सदस्य और क्षेत्र पंचायत सदस्य के साथ-साथ ग्राम प्रधान एवं ग्राम पंचायत सदस्य का चुनाव एक साथ हो रहा है। ऐसे में मतदाता जब मतदान स्थल पर पहुंचेगा तो उसको एक साथ चार बैलेट पेपर मिलेंगे।

इनमें गुलाबी रंग का बैलेट पेपर जिला पंचायत सदस्य पद तथा ग्राम प्रधान पद के लिए हरे रंग का बैलेट पेपर होगा जबकि क्षेत्र पंचायत सदस्य पद का नीला और ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए सफेद रंग का बैलेट पेपर मिलेगा। मतदाता इन बैलेट पेपर पर अपनी पसंद के प्रत्याशी को वोट देकर उसको एक ही बैलेट बॉक्स में डालेगा।

चुनाव में बाधा डालने वाले अराजक तत्वों पर लगाई जाएगी रासुका

त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन 2021 को सकुशल एवं शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराए जाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी/ जिला निर्वाचन अधिकारी जसजीत कौर की अध्यक्षता में रविवार को कलक्ट्रेट स्थित सभागार में निर्वाचन प्रक्रिया की तैयारियों को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई।

बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्वाचन को लेकर समस्त उप जिलाधिकारी एवं समस्त क्षेत्राधिकारियों को निर्वाचन की संवेदनशीलता के दृष्टिगत आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दृष्टिगत 26 अप्रैल सोमवार को होने वाले मतदान के दिन यदि पोलिंग बूथ पर किसी व्यक्ति द्वारा अराजकता की जाती है।

या व्यक्ति द्वारा किसी भी प्रकार से लोगों को बहलाया, फुसलाया या डराया जाता है, तो ऐसे लोगों पर कठोर से कठोर कार्रवाई करते हुए उन पर गैंगस्टर, एनएसए की कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की सारी संपत्ति कुर्क करके राज्य सरकार के नाम की जाएगी।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्वाचन को सकुशल संपन्न कराना हम सबकी जिम्मेदारी है। इसलिए जिस अधिकारी को सामान्य निर्वाचन को सकुशल संपन्न कराने के लिए जो दायित्व सौंपे गए हैं, वह उनका निर्वहन प्राथमिकता के आधार पर करते हुए पूरी मुस्तैदी के साथ निर्वाचन प्रक्रिया को सकुशल संपन्न कराएं।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments