Monday, January 17, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutहमने यूपी को किया अपराध मुक्त

हमने यूपी को किया अपराध मुक्त

- Advertisement -
  • बोले-पीएम मोदी, अपराधियों संग जेल-जेल खेल रही योगी सरकार
  • प्रधानमंत्री ने अखिलेश यादव पर साधा निशाना

जनवाणी संवाददाता  |  

 मेरठ/सरधना: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि प्रदेश में पूर्व की सरकारों में अपराधी अपना खेल खेलते थे, माफिया अपना खेल खेलते थे। तब अवैध कब्जे का टूर्नामेंट होता था। प्रदेश में अब योगी आदित्यनाथ सरकार में असली खिलाड़ियों को बढ़ावा दिया जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रविवार को मेरठ (सरधना) के सलावा में मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का उद्घाटन करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। 700 करोड़ से बनने वाले खेल विश्वविद्यालय का तोहफा उन्होंने जनता को समर्पित कर दिया। उन्होंने कहा कि वहां पर लोगों को उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ तथा पहले की सरकार के कामकाज के फर्क को खेल से जोड़ते हुए समझाया।

पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को भी याद किया। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा सरकार में बेटियों पर फब्तियां कसने वाले खुलेआम घूमते थे। हमारे मेरठ व आसपास के लोग कभी भूल नहीं सकते कि लोगों के घर जाल दिये जाते थे। पिछली सरकार अपने खेल में लगी रहती थी। पिछली सरकारों के खेल का नतीजा था कि लोग अपना पुस्तैनी घर छोड़कर पलायन के लिए मजबूर हो गए थे और योगी आदित्यनाथ की सरकार ऐसे अपराधियों के साथ जेल-जेल-जेल खेल रही है। बेटियां अपने घर से निकलने से डरती थी, अब मेरठ की बेटियां पूरे देश में नाम रोशन कर रही है।

मेरठ के सोतीगंज बाजार का जिक्र करते हुए कहा कि सोतीगंज के इस खेल का भी ‘द एण्ड’ कर दिया है। युवाओं को खेल की दुनियां में आने का मौका मिल रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे यहां कहा जाता है कि ‘महाजनों ये ना गता सब गंथा हैं’ अर्थात, जिस पद पर महान विभुतियां चले, वहीं हमारा पथ है। प्रधानमंत्री ने युवाओं पर फोकस करते हुए कहा कि देश 21वीं सदी में हैं। इस नये भारत में सबसे बड़ा दात्यित्व युवाओं पर हैं। युवा जनों ये ना गता, सब गंथा। जिस मार्ग पर युवा चलते है, वहीं मार्ग देश का मार्ग है।

जिधर युवाओं के कदम पड़ जाए, मंजिल अपने आप चरण चूमने लग जाती है। युवा नए भारत का कर्णधार भी है, युवा नये भारत का विस्तार भी है, युवा नये भारत का नियंता भी है और युवा नेतृत्व भी है। कहा कि गन्ना भुगतान भी समय पर हो रहा है, पिछली सरकारों में लंबे समय तक नहीं होता था।

मुख्यमंत्री बोले-दंगाइयों के लिए योगी सरकार रिटर्न खतरा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर खूब निशाने साधे। कहा कि गन्ना भुगतान करने में उनकी सरकार अव्वल है। पिछली सरकारों में दंगों के खेल हुआ करते थे। व्यापारियों को पलायन करना पड़ता था। भाजपा सरकार में अपराधी जेल में हैं या फिर ऊपर पहुंच गए हैं।

यूपी में एकलव्य कोष की स्थापना की है, जहां खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने काम करेगी। ओलंपिक व पैरा ओलंपिक खिलाड़ियों को सम्मान करने का काम किया। मिनी स्टेडियम भी जनपद में खोले जा रहे हैं। वेस्ट यूपी अपनी ऊर्जा और प्रतिभा के लिए जाना जाता हैं। यहां का किसान और यहां का जवान, सदैव राष्टÑ की सेवा के लिए, बल्कि अन्न उत्पादन में भी योगदान रहा। हर प्रकार से ये भूमि ऊर्वरा रही हैं, लेकिन पिछली सरकारों के समय में जिस प्रकार की विसंगितयां पैदा हुई। यहां आस्था के साथ खिलवाड़ हुआ।

बहन बेटियों के साथ सुरक्षा के साथ खिलवाड़ हुआ था। दंगा श्रखंला के साथ युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास हुआ था। जब प्रदेश में भाजपा की सरकार आयी तो प्रदेश में दंगे बंद हुए। कावड यात्रा रोक दी गई थी, फिर से कांवड यात्रा प्रारंभ हुई। यहां बहन-बेटियों को कोई खतरा नहीं बन सकता। क्योंकि दंगाइयों को भी और सुरक्षा के लिए खतरा बनेंगे तो उन्हीं के लिए खतरा रिटर्न होता दिखाई देगा।

क्रांतिधरा के मुरीद दिखे पीएम मोदी

क्रांतिधरा की जनता को 2022 की शुभकामनाएं देने के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संबोधित की शुरुआत की। कहा कि साल की शुरुआत में मेरठ आना अपने आप में मेरे लिए बेहद अहम् हैं। भारत के इतिहास में मेरठ शहर सिर्फ एक शहर का नाम नहीं हैं, बल्कि मेरठ हमारी संस्कृति, सामर्थय का भी महत्वपूर्ण केन्द्र हैं। रामायण और महाभारत काल से लेकर जैन तीर्थंकरों व पंज पियारों ने देश की आस्था को ऊर्जावान किया है। सिंधु घाटी की सभ्यता से लेकर देश के पहले स्वतंत्रता संग्राम तक का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिक्र किया।

उनके भाषणा जब क्रांतिधरा को लेकर फोकस में रहे तो लगा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने क्रांतिधरा को खूब अध्ययन किया है। सिंधु सभ्यता का जिक्र किया, जो बागपत के सिनौली में उत्खन्न के दौरान सामने आयी थी। सिंधु सभ्यता के प्राचीन अवशेष सिनौली में मिले थे, जिसको प्रधानमंत्री ने याद कर सबको चौका दिया। यही नहीं, इससे भी बड़ी बात चौकाने वाली यह रही कि प्रधानमंत्री दिल्ली से सड़क मार्ग से चलकर क्रांतिधरा पर पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मेरठ के मुरीद दिखे।

क्योंकि 44 मिनट के उनके भाषण के दौरान दस मिनट का उनका भाषण क्रांतिधरा की विशेषताओं को लेकर ही बोलते रहे। भाषण के शुरुआत में उन्होंने कह दिया कि नववर्ष के शुरुआत में उनका क्रांतिधरा पर आगमन बेहद अहम हैं। इसके कई मायने भी निकाले जा रहे हैं। क्योंकि प्रधानमंत्री ने दो टूक ऐलान कर दिया कि मेरठ की गज्जक भी विख्यात है, जिसके स्वाद का डंका देशभर में बजता है। यही नहीं, खेल उपकरणों पर भी उनका फोकस रहा तथा कहा कि खेल उपकरण 100 से ज्यादा देशों में आपूर्ति किये जा रहे हैं, जो मेरठ के लिए बड़ी उपलब्धि है।

खेल उद्योग को और बढ़ावा देने का भी वह खेल उद्योगपतियों से वादा कर गए। क्रिकेट के बल्ले भी देखे, उनकी गुणवत्ता के बारे में भी बारीकी से बातचीत की। यही नहीं, जिम के उपकरणों पर भी खूब चर्चा की। जिम में वर्कआउट करके भी देखा। औघडनाथ मंदिर की प्राचीनता जानने के बाद तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सलावा की जनसभा में उसके प्राचीन महत्ता के बारे में चर्चा भी की।

यही नहीं, वीरों की भूमि पर शहीदों को नमन कर प्रधानमंत्री ने कहा कि यह उनके लिए गौरव के पल थे, जो शहीद स्मारक में बिताएं। एक तरह से मेरठ शहर में उनकी मौजूदगी 20 से 25 मिनट रही, लेकिन यह उनकी मौजूदगी बहुत कुछ कहती है। इस बात का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है, जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सलावा में मंच से क्रांतिधरा के प्राचीन इतिहास का शानदार तरीके से प्रस्तुतिकरण किया तो हर कोई अंचभित दिखा।

मंच पर ये रहे मौजूद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा में मंच पर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, कैंट विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल, सरधना विधायक संगीत सोम, राज्यसभा सांसद कांता कर्दम, सांसद राजेंद्र अग्रवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष गौरव चौधरी, राज्य मंत्री कपिल अग्रवाल, राज्य मंत्री दिनेश खटीक, केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान, जनरल वीके सिंह, बागपत के सांसद सतपाल सिंह, राज्यसभा सदस्य विजयपाल तोमर, विधायक जितेंद्र सतवाई, एमएलसी अश्विनी त्यागी, विधायक सत्यवीर त्यागी, एमएलसी डा. सरोजनी अग्रवाल, बुढ़ाना के भाजपा विधायक उमेश मलिक आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन सांसद डा. संजीव बालियान और अर्चना ने संयुक्त रूप से किया।

मुलायम पर व्यंग्य, अखिलेश पर

सलावा में मौका भले ही मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय के उद्घाटन कर रहा हो, मगर राजनीति के तीर भी खूब चले। जहां पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव को लेकर व्यंग्यात्मक तरीके से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुटकी लेते हुए कहा कि लड़का है, गलती हो जाती है…माफ कर देते हैं। यह अभिभावक का काम नहीं है। सरकार भी अभिभावक का ही काम करती है। इस तरह से प्रधानमंत्री ने मुलायम सिंह की चुटकी ली और ठहका भी लगाया।

प्रधानमंत्री ने पिछली सरकार में रहे अखिलेश यादव का बिना नाम लिए निशाना साधा। उनके सपा के कार्यकाल में यूपी में हुए दंगों का भी जिक्र करते हुए कहा कि लोग दुकान और मकान जला देते थे। फिर सरकार जो खेल करती थी, वह अलग है। इस तरह से उन्होंने पिछली सरकार को पलायन के मुद्दे पर कठघरे में खड़ा करने की कोशिश की। कहा कि अब पलायन नहीं होता, क्योंकि माफिया के खिलाफ योगी सरकार शक्ति किए हुए हैं।

कानून व्यवस्था के मुद्दे पर भी पिछली सरकार को नरेंद्र मोदी ने कठघरे में खड़ा किया। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के निशाने पर सपा सरकार ही रही। खेल की उपलब्धियों का जहां बताया, वहीं अखिलेश यादव का बिना नाम लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने भाषण में कई बार निशाने साधे। व्यग्य भी कसे। मुलायम सिंह यादव को भी नहीं छोड़ा, उन्हें भी लड़का है माफ कर दो वाले मुद्दे पर खूब चुटकी ली। यही नहीं, अखिलेश यादव को बेटियों की सुरक्षा के सवाल पर भी कटघरे में खड़ा करने की यह कहकर कोशिश की है कि बेटियां घर से बाहर निकलने पर डरती थी, लेकिन अब बेटियां मुकाम हासिल कर रही है।

सीएम सुरक्षा टीम भी पहुंची औघड़नाथ मंदिर

पीएम के औघड़नाथ मंदिर पहुंचते ही यहां एसपीजी तो पहले ही पहुंच चुकी थी, लेकिन इसके बाद सीएम की सुरक्षा में लगी टीम भी पहुंच गई। टीम ने यहां अपने हिसाब से सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। भले ही यहां पीएम की सुरक्षा में लगी टीम ने सारी व्यवस्थाएं देख हो, लेकिन जब तक सीएम की सुरक्षा में लगी टीम ने व्यवस्था नहीं देखी। तब तक वह संतुष्ट नहीं दिखी। टीम में प्रभाकर द्विवेदी चार्ज करते नजर आये। टीम लखनऊ से यहां पहुंची थी।

मंदिर की ओर जाने वाला मार्ग बंद

पीएम के तय समये से पहले ही सुरक्षा व्यवस्था में लगी टीम ने यहां मंदिर की ओर जाने वाले मार्गों को सील कर दिया था। किसी भी व्यक्ति को वहां जाने की अनुमति नहीं दी गई। करीब तीन घंटे पहले ही मार्ग पूरी तरह से बंद कर दिया गया था। चाहे आर्मी पर्सन हो यहां आम आदमी किसी को भी वहां जाने की अनुमति नहीं थी। आर्मी क्षेत्र भले ही हो, लेकिन सारी व्यवस्था पीएम की सुरक्षा में लगी टीम ने संभाली थी।

मोदी-मोदी, योगी-योगी के गूंजे नारे

पीएम का काफिला जैसे ही मंदिर परिसर से निकलकर शहीद स्मारक की ओर चला तो बीच मार्ग पर साइडों पर खड़े लोग पीएम की एक झलक पाने को तरसते दिखे। पीएम की गाड़ी पास पहुंचते ही सड़कों पर खड़े लोगों ने मोदी-मोदी, योगी-योगी के नारे लगाने शुरू कर दिये। जिसे देखकर पीएम मोदी ने गाड़ी धीमी गति पर कर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। यहां उनके साथ सीएम योगी आदित्यनाथ पीछे गाड़ी में चल रहे थे।

दिल्ली से सड़क मार्ग से मेरठ पहुंचे पीएम

दिल्ली में मौसम खराब होने की वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सड़क मार्ग से मेरठ लाया गया। पुलिस ने पहले से सड़क मार्ग से सभी इंतजाम किए हुए थे। प्रधानमंत्री के काफिले के समय मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर यातायात रोक दिया गया था। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि प्रधाममंत्री को हवाई मार्ग से मेरठ आना था, लेकिन विजिविलिटी कम थी, जिसके कारण सड़क मार्ग से आये। इसकी पुष्टि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अपने भाषण में की। दिल्ली में मौसम खराब था, जिसके चलते हवाई मार्ग से नहीं आ सकें। अचानक ही उनका कार्यक्रम में बदलाव हुआ, जिसके बाद

सड़क मार्ग से मेरठ पहुंचे।

ये खेल विश्वविद्यालय अपने आप में आधुनिक होगा। खेल की तमाम सुविधाएं उपलब्ध रहेगी। यहां पर सिंथेटिक हॉकी मैदान, फुटबाल मैदान के साथ बास्केटबॉल, वालीबॉल, हैंडबाल तथा कबड्डी ग्राउंड भी बनाया जाएगा। इनके साथ लान टेनिस कोर्ट, जिम्नेजियम हॉल, सिंथेटिक रनिंग स्टेडियम, तरणताल, बहुउद्देश्यीय हॉल और साइकिल वेलोड्रोम का भी निर्माण होगा। विश्वविद्यालय में निशानेबाजी, स्क्वॉश, जिमनास्टिक, भारोत्तलन, तीरंदाजी, कैनोइंग और कयाकिंग जैसी अन्य खेलों की सुविधायें भी रहेंगी। विश्वविद्यालय में 540 महिला और 540 पुरुष खिलाडिय़ों को मिलाकर कुल 1080 खिलाड़ियों को प्रवेश देकर उनको उच्च स्तरीय खेल प्रशिक्षण देने की क्षमता होगी।

पांच में नहीं, पूरे प्रदेश में काम होता है: कैशव मोर्य

इसी तरह डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी प्रदेश सरकार का गुणगान किया और विपक्ष पर निशाना साधा। कहा कि भाजपा सरकार ने ही श्रीराम मंदिर बनाने का काम किया। 370 हटाने का काम किया। इसलिए जनता भाजपा को पसंद कर रही है। आज भाजपा 60 में है और विपक्ष 40 में है। उसमें भी बटवारा हो रहा है। कहा कि जिस काशी मंदिर को औरंगजेब ने तोड़ा था।

उसे भाजपा सरकार ने भव्य रूप से बनाने का काम किया। भाजपा के राज में अपहरण उद्योग बंद हो गए हैं। पहले पांच जिलों में काम होता था। आज प्रदेश के सभी जिलों में विकास हो रहा है। आज साइकिल पर चलने वाले सरकार बनते ही फॉर्च्यूनर में आ जाएंगे। सीएम और डिप्टी सीएम ने विपक्ष पर खूब सवाल दागे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments