Tuesday, May 28, 2024
- Advertisement -
Homeजनवाणी विशेषहोली पर क्यों पहने जाते हैं सफ़ेद वस्त्र, यह जाने रहस्य...

होली पर क्यों पहने जाते हैं सफ़ेद वस्त्र, यह जाने रहस्य…

- Advertisement -

नमस्कार, दैनिक जनवाणी डॉट कॉम वेबसाइट पर आपका हार्दिक स्वागत और अभिनन्दन है। सनातन धर्म में होली एक प्रमुख त्यौहार है। जिसे हर वर्ष बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है। इस त्यौहार में रगों का बहुत महत्व है। जीवन में होली के हर रंग की अपनी अलग विशेषता है।

10 18

एक तरफ जहां लाल रंग प्रेम और उर्वरता को दर्शाता है तो वहीं पीला यानि हल्दी का रंग जीवन में शुभ संकेत बताता है। इतना ही नही भगवान श्रीकृष्ण का रंग नीला है तो हरा रंग बसन्त ऋतु की शुरूआत और कुछ नया करने का प्रतीक है। इसी प्रकार सफेद रंग का भी हमारी जिंदगी से गहरा नाता है। आइये जानते है….

09 11

होली पर अक्सर लोग सफेद रंग के कपड़े पहनकर ही होली का त्योहार मनाते हैं। सफेद रंग के पीछे केवल फैशन ट्रैंड ही नहीं बल्कि आध्यात्मिक महत्व भी है। शास्त्रों में सफेद रंग को शांति और पवित्रता का प्रतीक माना गया है। सफेद रंग पर हर रंग चढ़ता है। होली भाईचारे और प्रेम का त्योहार है और इसमें दूसरे के रंग में रंग जाना ही मकसद होता है। सफेद रंग की पवित्रता ही हमें इस त्योहार को साफ मन से बिना किसी वैमनस्य से खेलने की प्रेरणा देती है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
4
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments