Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsनिराश्रितों को ठंड से बचाने को 'सड़क' पर तत्पर योगी सरकार

निराश्रितों को ठंड से बचाने को ‘सड़क’ पर तत्पर योगी सरकार

- Advertisement -
  • सीएम के निर्देश पर अफसर दे रहे ध्यान, सड़क पर कोई सोता न दिखे
  • सरकार ने सभी 75 जिलों में रैन बसेरे, कंबल व अलाव की कराई समुचित व्यवस्था
  • 2 लाख 86 हजार 740 निराश्रितों को दिए जा चुके कंबल, निरंतर कंबल वितरण कराते रहने का आदेश
  • 12594 से अधिक सार्वजनिक स्थानों पर प्रतिदिन जल रहे अलाव, 29228 जरूरतमंदों के लिए कराई जा चुकी रैन बसेरों की व्यवस्था
  • सर्द रात में मुख्यमंत्री गोरखपुर में खुद भी रैन बसेरों में पहुंच ले चुके हैं निराश्रितों का हाल

जनवाणी ब्यूरो |

लखनऊ: गरीबों, निराश्रितों व जरूरतमंदों को कड़ाके की ठंड से बचाने के लिए योगी सरकार ‘सड़क’ पर पूरी तरह से तत्पर दिख रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर अफसर रैनबसेरों, कंबल व अलाव की पूरी व्यवस्था पर नजर रखे हैं। सूबे के सभी 75 जिलों में वितरण के लिए योगी सरकार ने शीतलहरी में कुल 496883 कंबल खरीदे। इनमें से दो लाख 86 हजार 740 से अधिक लोगों में कंबल का वितरण भी हो गया।

शीतलहरी से बचाव के लिए 1220 से अधिक रैन बसेरे स्थापित किए गए। इसकी क्षमता 29228 है। इनकी व्यवस्था उत्कृष्ट रहे, इस पर भी नजर है। सूबे में अलाव जलाने के लिए 14043 स्थान चिह्नित किए गए हैं। यूपी के जनपदों में प्रतिदिन 12594 से अधिक सार्वजनिक स्थानों पर अलाव जलाया जा रहा है। दिसंबर की सर्द रात में सीएम योगी आदित्यनाथ गोरखपुर में रैन बसेरों की जमीनी हकीकत देखने खुद ही पहुंच गए थे।

अफसर रख रहे नजर, ठंड में कोई भी सड़क पर न सोए

शीतलहर के बीच निराश्रित जनों की सहायता के लिए प्रदेश में रैन बसेरों की स्थापना की गई है। अब तक 1220 से अधिक रैन बसेरे स्थापित किये गए हैं। सीएम ने निर्देश दिया था कि जिलाधिकारी स्वयं रैन बसेरों की व्यवस्था का औचक निरीक्षण करें। इसके बाद से अफसर नजर रखे हुए हैं कि ठंड में कोई भी व्यक्ति सड़क पर सोता न नजर आए। हर जरूरतमंद को रैन बसेरे की सुविधा उपलब्ध हो। कंबल वितरण का क्रम निरंतर जारी रखा जाए। कंबल आदि राहत सामग्री का वितरण स्थानीय सांसद, विधायक, निकाय चेयरमैन जैसे जनप्रतिनिधियों से ही कराया जा रहा है। प्रशासनिक अधिकारी भी निराश्रितों की मदद कर रहे हैं।

साफ-सफाई और सैनिटाइेजशन पर भी रखा जाए विशेष ध्यान

पिछले दिनों मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद सभी रैन बसेरों में साफ-सफाई पर भी पूरा ध्यान दिया जा रहा है। यहां कोरोना से बचाव के मद्देनजर स्थानीय प्रशासन सैनिटाइजेशन की भी व्यवस्था करा रहा है। स्थायी व अस्थायी रैन बसेरों में रजाई, कंबल, गद्दे, तकिया समेत सभी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से की गई हैं। समय-समय पर अफसर इसका अवलोकन भी कर रहे हैं। वहीं अकेले व परिवार के साथ जाने वालों के लिए भी अलग व्यवस्था रैन बसेरों में की जा रही हैं।

निरंतर तेजी से बांटे जा रहे कंबल

शीतलहरी में योगी आदित्यनाथ सरकार की ओर से निरंतर कंबल बांटे जाने का आदेश दिया गया है। सभी 75 जनपदों में सरकार की ओर से स्थानीय जनप्रतिनिधि कंबल वितरण कर रहे हैं। हरदोई में सबसे अधिक 16379 कंबलों का वितरण किया गया। प्रयागराज में यह आंकड़ा 9894 रहा। पीएम मोदी की काशी में 10988 कंबलों की खरीद हो गई। 7065 से अधिक कंबल वितरित किए जा चुके हैं। रामनगरी में 4320 जरूरतमंदों को योगी सरकार की तरफ से कंबल दिए गए।

कानपुर समेत सभी जनपदों में रैन बसेरों में ठहरने की कराई गई व्यवस्था

योगी सरकार का निर्देश है कि ठंड के दिनों में कोई भी बाहर न सोए। इसके लिए सभी व्यवस्थाओं से रैन बसेरों को सुदृढ़ किया गया है। कानपुर नगर में 1029, लखनऊ में 1962 लोग रैन बसेरों में ठहर रहे हैं। प्रयागराज में सरकार की ओर से ठंड से राहत के लिए बनाए गए रैन बसेरे में 1228 लोगों की व्यवस्था है। अलीगढ़ में 954 निराश्रितों के ठहरने की व्यवस्था रैन बसेरे में की गई है। वाराणसी में 916, गाजियाबाद में 893, कासगंज में 840, गौतमबुद्ध नगर में 748 लोगों की संख्या के अनुरूप रैन बसेरे स्थापित किए गए। बरेली में 660 से अधिक लोग रैन बसेरों में ठहर रहे हैं।

12594 से अधिक जगहों पर प्रतिदिन जल रहे अलाव

सूबे के सभी 75 जिलों में अलाव जलाने की व्यवस्था की जा रही है। बढ़ती ठिठुरन में किसी को दिक्कत न हो। इसके लिए सरकार अलाव जलवा रही है। कुल 14043 स्थान चिह्नित किए गए हैं, इनमें से 12594 जगहों पर प्रतिदिन अलाव जल रहे है। लखनऊ में 724 स्थानों पर अलाव जलाकर लोगों को राहत दिलाया जा रहा है। अलीगढ़ में 505, प्रयागराज में 429, उन्नाव में 411, बिजनौर में 402, हरदोई में 370, मेरठ में 306, सिद्धार्थनगर में 294, मऊ में 283, सहारनपुर में 262, मुरादाबाद में 256, शाहजहांपुर में 255, गाजीपुर में 252, जौनपुर में 246, सीतापुर में 233 स्थानों पर प्रतिदिन अलाव जल रहे हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments