Saturday, June 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliपुलिस कार्य प्रणाली को लेकर अधिवक्ताओं में रोष

पुलिस कार्य प्रणाली को लेकर अधिवक्ताओं में रोष

- Advertisement -
  • अपर जिलाधिकारी को अधिावक्ताओं ने सौंपा ज्ञापन

जनवाणी संवाददाता  |

शामली: बार काउंसिल आफ उत्तर प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष एवं वर्तमान सदस्य सचिव अजय कुमार शुक्ला की पत्नी की हत्या का आरोप फर्जी अस्पताल संचालकों पर लगाया लगाते हुए जिला बार एसोसिएशन ने पुलिस कमिश्नर लखनऊ से आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़ी कार्यवाही की मांग की है।

जिला बार एसोसिएशन शामली के जिलाध्यक्ष राकेश कुमार और महासचिव धीरेंद्र कुमार के नेतृत्व में अधिवक्ताओं का एक प्रतिनिधि मंडल मंगलवार को अपर जिलाधिकारी संतोष कुमार सिंह से मिला। इस दौरान उन्होंने जिला बार एसोसिएशन की ओर से एडीएम को पुलिस कमिश्नर लखनऊ को संबोधित ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया गया|

कि बार काउंसिल आफ उत्तर प्रदेश के सदस्य सचिव एवं पूर्व अध्यक्ष अजय कुमार शुक्ला की पत्नी शीला शुक्ला की हत्या फर्जी अस्पताल संचालकों द्वारा कर दी गई है। इस संबंध में लखनऊ के मडियायां थाना पर पुलिस कमिश्नर के निर्देश पर सवा महीने बाद धारा-304 ए के तहत मुकदमा दर्ज किया गया जबकि मामले में हत्या के स्पष्ट साक्ष्य मौजूद थे।

न ही विवेचना अधिकारी ने मुलजिमों को गिरफ्तार किया। साथ ही, आरोपियों की मेडिकल डिग्री की जांच भी नहीं की गई। अजय कुमार शुक्ला की शिकायत पर पुलिस कमिश्नर लखनऊ द्वारा मामले में अभियोजन विभाग की राय ली। अभियोजन विभाग ने मामले को हत्या का बताया।

इसलिए मड़ियावा लखनऊ के दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ मामला दर्द कर अविलंब गिरफ्तार किया जाए। साथ ही, आरोपी कथित डाक्टरों की डिग्री की जांच कर अभियोग पंजीकृत करने के निर्देश दिए जाए।

इसके अलावा अधिवक्ता रजनीश कुमार वर्मा के बेटे की हत्या के मामले में भी अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की गई है। इस मामले में पुलिस मात्र एक महिला द्वारा हत्या करना बता रही है जबकि यह संभव नहीं है।

दूसरी ओर, खीरी के अधिवक्ता राज किशोर अवस्थी के पुत्र सैनिक दीपेंद्र अवस्थी ने सशस्त्र सीमा बल 41 बटालियन रानी गंगा सिलीगुड़ी, पश्चिम बंगाल में प्रशिक्षण केंद्र खेड़ी भोपाल के अधिकारियों व कमांडेंट मेडिकल अनूप कुमार के परेशान होकर आत्महत्या कर ली थी।

इस संबंध में थाना कोतवाली सदर, लखीमपुर में मुकदमा दर्ज है। आरोपी केंद्र व प्रदेश में होने के कारण पुलिस द्वारा विवेचना संभव नहीं है इसलिए इस मामले की विवेचना में सीबीआई द्वारा जांच कराई जाए।

ज्ञापन सौंपने वालों में जिला बार एसोसिशन के अध्यक्ष राकेश कुमार, महासचिव धीरेंद्र कुमार, ओमपाल सिंह, रामकुमार वर्मा, सतेंद्र खैवाल, राहुल मलिक, प्रवीण कुमार, मनोज जांगिड़, सत्यनारायण आदि अधिवक्ता शामिल रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments