Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarदेश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ होती है बैंकिंगः सीडीओ

देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ होती है बैंकिंगः सीडीओ

- Advertisement -

– आजादी का अमृत महोत्सव के तहत वित्त मंत्रालय व कारपोरेट कार्य मंत्रालय ने किया आईकोनिक वीक सेलीबे्रशन

-बैंकों ने 6545 व्यक्तियों का किया 275 करोड़ का ऋण स्वीकृत

-बजट के सापेक्ष मुजफ्फरनगर के बैंकों ने किया ढाई गुणा कारोबार

जनवाणी संवाददाता |

मुजफ्फरनगरः आजादी का अमृत महोत्सव के तहत वित्त मंत्रालय व कारपोरेट कार्य मंत्रालय द्वारा आईकोनिक वीक सेलीब्रेशन किया जा रहा है, जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिल्ली के विज्ञान भवन में किया गया था। इसी कड़ी में मुजफ्फरनगर भी एक सेलीब्रेशन किया गया, जिसमें सभी बैकों के समन्वयकों व पीएनबी की शाखाओं ने भाग लिया।

09 5

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव ने कहा कि देश के आर्थिक विकास में बैंकों का बहुत सहयोग है। बैंकों के निरन्तर सहयोग से देश की आर्थिक स्थिति सुधरी है। इस दौरान उन्होंने बैंकों के प्रतिनिधियों से आह्नान कि वह बैंकिंग के दौरान अपने तजुर्बों का जरूरत इस्तेमाल करें, यदि कोई बड़ा चैक आ रहा है, तो उसे एक बार रिचेक जरूर कर लें, कि कहीं इसमें फ्राॅड तो नहीं हो रहा है। इसके अलावा उन्होंने बैंकों के कर्मचारियों से यह भी आह्वान किया कि वह ग्राहकों के साथ अपने व्यवहार में मधुरता लायें और केसीसी खातों को बंद करते समय यह ध्यान रखें कि कहीं कोई ब्याज बाकी तो नहीं रह गया है, क्योंकि अक्सर शिकायतें मिलती हैं कि ग्राहकों द्वारा सम्पूर्ण ऋण जमा किये जाने के बाद भी उन पर बैंकों ने बकाया निकाला हुआ है।

पीएनबी के सर्किल हेड़ राजकुमार अग्रवाल ने कहा कि मुजफ्फरनगर के बैंकों द्वारा अच्छा कार्य किया जा रहा है। इस बार मुजफ्फरनगर को ऋण के लिए 100 करोड़ का बजट आवंटित किया गया था, जिसके सापक्षे यहां के बैंकों ने 275 करोड़ के ऋण दिये हैं, जो अपने लक्ष्य के लगभग ढाई गुणा ज्यादा है। अकेले पंजाब नेशनल बैंक ने 110 करोड़ का ऋण स्वीकृत किया है। सोशल सिक्योरिटी के तहत 31947 लोगों को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा, 16685 लोगों को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना तथा 7112 लोगों को अटल पेन्शन योजना का लाभ दिया गया।

डीडीएम नाबार्ड अभिषेक श्रीवास्तव ने कहा कि अब बैंकिंग में बदलाव आ रहा है। प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत लगातार वित्तीय समावेशन हो रहा है और लोग बैंकों से जुड़ रहे हैं। जनसमर्थ पाॅर्टल की शुरूआत हो चुकी है, जो पहला पोर्टल है, जिस पर सरकार की बैंकिंग संबन्धित 13 योजनाओं का क्रियान्वयन हो सकेगी, जिसमें 4 तरह की कैटेगिरी होंगी। इस पाॅर्टल पर सात भाषाओं में एप्लाई से लेकर लाॅन मिलने तक पूरी प्रक्रिया अमल में लायी जा सकेगी।

11 5

एलडीएम बी.एस. तोमर ने कहा कि मुजफ्फरनगर के सभी बैंकर्स द्वारा लगातार उन्हें सहयोग प्रदान किया जा रहा है, जिसके चलते मुजफ्फरनगर को सरकार द्वारा जो लक्ष्य दिये जाते हैं, उन्हें पूरा किया जाता है। इस दौरान उन्होंने सीडीओ आलोक यादव, सर्किल हेड़ राजकुमार अग्रवाल व डीडीएम नाबार्ड अभिषेक श्रीवास्तव का बुके देकर स्वागत किया।

मनीवाईज सीएफएल की प्रबन्धक शीजा खानम ने सामाजिक सुरक्षा की तीनों योजनाओं प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना व अटल पेन्शन योजना की विशेषताएं विस्तार से बताते हुए सभी मौजूद लोगों से इन योजनाओं का लाभ लेने तथा अपने रिश्तेदारों व नौकरों को यह योजनाएं गिफ्ट करने का भी आह्वान किया।

कार्यक्रम को रिटेल हब के हेड़ प्रदीप अरोरा समेत कई बैकों के डीसी ने भी संबोधित किया। इस सभी बैकों के समन्वयक व बीसी मौजूद रहे। कार्यक्रम में सामाजिक सुरक्षा के लिए अच्छे कार्य करने वाले दस बीसी को सम्मानित किया गया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments