Saturday, June 22, 2024
- Advertisement -
HomeEducationबच्चों ने अपने अभिनय से गुटखा थूकने वालों को लगायी फटकार

बच्चों ने अपने अभिनय से गुटखा थूकने वालों को लगायी फटकार

- Advertisement -
  • निगम ने दिया नुक्कड़ नाटक प्रतियोगिता के माध्यम से स्वच्छता का संदेश

जनवाणी संवाददाता |

सहारनपुर: विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने आज अपने सशक्त अभिनय और संवाद के साथ जनमंच में नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति के माध्यम से नाले-नालियों व सड़क पर कूड़ा-कचरा न डालने, नदियों-तालाबों को गंदा न करने और प्लास्टिक का प्रयोग न करने का संदेश दिया वहीं सड़क व इमारतों में जगह-जगह गुटखा थूकने वालों को फटकार लगायी।

नगर निगम द्वारा स्वच्छ भारत अभियान-2023 के तहत जनमंच में नुक्कड़ नाटक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता का उद्घाटन करते हुए अपर नगरायुक्त राजेश यादव ने कहा कि इस नाटक प्रतियोगिता का उद्देश्य घर-घर तथा प्रत्येक आदमी तक स्वच्छता का संदेश पहुंचाना और उसे जागरुक करना है। जनसहयोग से ही हम अपने शहर को साफ-सुथरा और स्वच्छ बना सकते है। उन्होंने लोगों से स्वच्छता अभियान में सहयोग देकर स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 में सहारनपुर को नंबर वन लाने का आह्वान किया।

नुक्कड़ नाटक प्रतियोगिता में ग्यारह काॅलेजों-सरस्वती विहार स्कूल, पी एस छुटमलपुर, सेंट मेरी स्कूल चिलकाना रोड़, पीच ग्रोव स्कूल, इण्डिस्ट्रियल मुस्लिम गल्र्स इण्टर काॅलेज, आशा माॅडर्न स्कूल चंद्रनगर, पाइन वुड स्कूल, गुरुनानक इण्टर काॅलेज व उच्च प्राथमिक विद्यालय मनोहरपुर के बच्चों ने अपने शानदार अभिनय और लोगों को सीधे संदेश देते संवादों से दर्शकों का मनमोह लिया। तालियों की गड़गड़ाहट के बीच नन्हें बच्चों ने गंगा के प्रदूषित होने तथा केदारनाथ जैसी आपदाओं के लिए सीधे-सीधे आम आदमी को जिम्मेदार ठहराते हुए भविष्य के प्रति सचेत किया।

उक्त स्कूलों के अलावा आईटीसी मिशन सुनहरा कल फोर्स व स्पेस सोसायटी के कलाकारों ने भी नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से स्वच्छता का संदेश दिया। निर्णायक मंडल में वरिष्ठ रंगकर्मी राकेश शर्मा, दिनेश तेजान व साहित्यकार डाॅ.वीरेन्द्र आजम रहे। सभी प्रतिभागियों को भागेदारी के लिए कार्यक्रम के नोडल तथा पशु चिकित्सा व कल्याण अधिकारी द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किये गए। प्रतियोगिता का निर्णय बाद में घोषित किया जायेगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments