Sunday, January 23, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarभ्रष्टाचार की भेंट चढ़े विद्यालय परिसर में खड़े पेड़

भ्रष्टाचार की भेंट चढ़े विद्यालय परिसर में खड़े पेड़

- Advertisement -
  • ग्राम प्रधान ने चहेते ठेकेदार के साथ मिलकर की लाखों की हेराफेरी
  • सांठगांठ के चलते बिना ठेका निरस्त कराए लगवा दी वृक्षो की दोबारा बोली
  • वृक्ष कटान से मतदान केंद्र की बिल्डिंग को लाखों का नुकसान

जनवाणी संवाददाता |

मोरना: ककरौली थाना क्षेत्र के गांव कटिया में प्राथमिक विद्यालय परिसर में खड़े पेड़ ग्राम प्रधान व उसके चहेते ठेकेदार के भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गए जंहा एक और वृक्ष कटान के नाम पर लाखों रुपए की हेराफेरी की गई वहीं दूसरी ओर वृक्ष कटान के बाद विद्यालय की बिल्डिंग ध्वस्त हो गई जिससे विद्यालय को लाखों रुपए का नुकसान पहुंचा है ग्रामीण दबी जुबान में मामले की चर्चा कर रहे हैं

ककरौली थाना क्षेत्र के गांव कटिया के प्राथमिक विद्यालय में खड़े 83 वृक्षों के कटान का ठेका छोड़ने में लाखों रुपये की हेराफेरी का मामला सामने आया है ग्रामीणों के अनुसार विद्यालय में यूकेलिप्टस के लगभग 89 व जामुन के दो पेड़ खड़े हुए थे ग्राम प्रधान द्वारा उनके कटान की अनुमति मांगने के लिए वन विभाग को शिक्षा विभाग द्वारा पेड़ो का मूल्यांकन करने के लिए पत्र भेजा गया था जिसमे 91 पेड़ो का मूल्यांकन 1लाख 20 हजार रूपये किया गया था|

परंतु उस समय वृक्षों की किसी कारण से नीलामी नही हो पाई थी बाद में शिक्षा विभाग द्वारा विद्यालय प्रांगण से 8 वृक्ष गायब कर वृक्षों की संख्या 83 करते हुए उनका दोबारा मूल्यांकन कराया गया जिसकी कीमत लगभग 85 हजार रूपये का मूल्यांकन कराया गया ओर नीलामी के दौरान इन वृक्षो की कीमत 4 लाख रखते हुए टन्ढेड़ा के एक ठेकेदार को वृक्षों के कटान का ठेका छोड़ दिया गया जैसे ही ग्रामीणों को वृक्षों के ठेके के बारे में जानकारी लगी तो ग्रामीणों ने कीमत कम बताकर हंगामा करना शुरू कर दिया इस पर ग्राम प्रधान ने गांव में एक पंचायत बुलाकर बिना ठेका निरस्त कराएं दोबारा वृक्षों की बोली लगानी शुरू कर दी यह बोली जब पांच लाख रुपये तक जा पहुंची तो ग्राम प्रधान ने अपने चहेते ठेकेदार को दोबारा कटान का ठेका छोड़ दिया ग्रामीणों के अनुसार काटे गए पेड़ों की कीमत लगभग 15 लाख रुपये है परंतु ग्राम प्रधान ने चहेते ठेकेदार के साथ मिलकर मात्र पांच लाख में पेड़ों को बेच दिया है|

वृक्ष कटान के नाम पर मतदान केंद्र पर तोड़फोड़

प्राथमिक विद्यालय में एक और तो जहां वृक्षों के ठेका छोड़ने में लाखों रुपए की हेराफेरी की गई वहीं दूसरी ओर ठेकेदार द्वारा वृक्ष कटान के दौरान प्राथमिक विद्यालय की बिल्डिंग बुरी तरह से ध्वस्त हो गई विद्यालय के एक कमरे का लिंटर टूट गया वही प्राथमिक विद्यालय के मतदान केंद्र में दिव्यांगों के जाने के लिए बनाई गई रेलिंग भी वृक्ष कटान के दौरान बुरी तरह ध्वस्त कर दी गई जिससे सरकार को लाखों रुपए का नुकसान पहुंचा है|

ग्राम प्रधान कटिया विनोद कुमार ने बताया कि विद्यालय में 83 पेड़ ही मौजूद थे पूर्व प्रधान द्वारा 91 पेड़ो के लिए मूलयांकन कराया गया था इस मामले में जानकारी नही है कि बाकी के पेड़ कहा गये पेड़ो की नीलामी 5 लाख रूपये में की गई है|

ठेकेदार अखलाक ने बताया कि 83 पेड़ो की नीलामी ग्राम प्रधान व विद्यालय के स्टाफ़ द्वारा 4 लाख में नीलामी छोड़ी गयी थी जिसमे 81 पेड़ यूकेलिप्टस 2 पेड़ जामुन के थे नीलामी की पूरी रकम विभाग में जमा कर दी गयी है बाकी 8 पेड़ो की जानकारी नही है|

खण्ड शिक्षा अधिकारी जानसठ डॉ सविता डबराल ने बताया कि विद्यालय की ओर से 83 पेड़ो के मूल्यांकन के लिए लेटर जारी किया गया था जिनका मूल्यांकन कराकर पेड़ो को नीलाम किया गया है बाकी पेड़ो की जानकारी नही है अगर पेड़ ज्यादा काटे गये है तो जांच कराकर कार्यवाही की जायेगी|

उपजिलाधिकारी जानसठ जयेन्द्र कुमार ने बताया कि पेड़ो की कटाई के बारे में जानकारी नही है अगर पेड़ो की नीलामी में कोई घोटाला हुआ है तो उसकी जांच कराई जायेगी|

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments