Tuesday, June 25, 2024
- Advertisement -
Homeसंवादसेहतस्वस्थ शरीर के लिए जरूरी है गहरी नींद

स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी है गहरी नींद

- Advertisement -

Sehat 2


अनूप मिश्र |

जिस तरह शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए व्यायाम की आवश्यकता होती है, ठीक उसी प्रकार स्वस्थ दिल-दिमाग रखने हेतु जमकर नींद लेनी जरूरी होती है लेकिन इसके बावजूद अधिकांश लोग कच्ची नींद उठकर काम के बोझ को कम करने में लग जाते हैं। फलस्वरूप वे दिमागी सुकून गंवा बैठते हैं और अक्सर कोई न कोई अजीबोगरीब हरकत करते नजर आते हैं। बुढ़ापे में चूंकि नींद बहुत कम ही आती है, सो व्यक्ति की सोच-विचार करने की शक्ति क्षीण हो जाती है और वह स्वयं को अस्वस्थ महसूस करने लगता है जबकि यदि वह बुढ़ापे में आराम करके गहरी नींद सोता है तो खुद को तरोताजा मानता है, साथ ही मानसिक समस्याओं से भी छुटकारा पा लेता है।

अगर आप को ठीक तरह से नींद नहीं आती है तो यह जरूरी है कि आप जमकर सोएं और नींद खराब न होने दें क्योंकि शोधकर्ताओं का कहना है कि गहरी नींद की स्थिति भोगते रहने से आपकी सोचने-समझने की शक्ति में वृद्धि होती है।
ग्रोथ हारमोन या एंटी एजिंग हारमोन का स्राव भी नींद के दौरान होता है। शरीर में ऊतकों के पुनर्जनन, लिवर की सफाई, मांसपेशियों के विकास और ब्लड शुगर को सामान्य अवस्था में रखने के लिए मुख्य तौर पर यही हारमोन पूर्णत: जिम्मेदार होते हैं। लिहाजा अच्छी नींद लेने हेतु आसपास का माहौल भी आरामदेह होना चाहिए और सुनहरा मौका मिलते ही गहरी नींद का लुत्फ उठाना चाहिए।

एक रिपोर्ट के मुताबिक गहरी नींद के दौरान मानव मस्तिष्क की क्रियाशीलता अपेक्षाकृत बढ़ जाती है। यही नहीं, इस दौरान भूलने और याद रखने की प्रक्रि या भी तेज हो जाती है। यही वजह है कि दिन भर काम के कारण उत्पन्न होने वाली उलझनें गहरी नींद लेने के उपरांत मस्तिष्क में भली-भांति सुलझने की स्थिति में आ जाती हैं और आप जब सो कर उठते हैं तो खुद को ताजगी से भरपूर होकर नए सिरे से सोचने की क्षमता रखने लगते हैं। आइए अब जानते हैं उन महत्त्वपूर्ण टिप्स को जिसके बलबूते आप आरामदेह नींद ले सकते हैं।

खुद को अधिक न जगाएं

अधिकांश व्यक्ति अधिक रात होने पर भी काम करते रहते हैं जो सरासर गलत है। ध्यान रखें कि अच्छी नींद स्वास्थ्य हेतु अति अनिवार्य है, इसलिए खुद को काम के बोझ को कम करने के लिए जगाए रखना यह किसी भी हद तक ठीक नहीं कहा जा सकता। यह आदत शरीर के लिए हानिकारक सिद्ध हो सकती है जिसके कारण भविष्य में आपको नींद आने में भी परेशानी हो सकती है। बेहतर यही होगा कि अधिक रात्रि तक स्वयं को नहीं जगाएं बल्कि रात-रातभर काम करने के स्थान पर जल्दी सोने की आदत के लिए खुद को तैयार करें।

सोने का समय निश्चित करें

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जहां नींद लेना बेहद जरूरी होता है वहीं दूसरी ओर हर वक्त सोते रहने से भी मानसिक विकार उत्पन्न होने लगता है इसीलिए जहां तक संभव हो सके, अपने सोने व जागने का समय निश्चित करें। यकीनन गहरी नींद लेने में आसानी होगी। वैसे भी एक वयस्क के लिए 6 से 8 घंटे की नींद को पर्याप्त माना जाता है किंतु कभी-कभी दिन में भी जरा सी पलकें झपका लेने में कोई हरज नहीं है। आजकल लोगों में यही प्रवृत्ति काफी पसंद की जाने लगी है क्योंकि नींद की एक झपकी हमारी क्षमताओं को काफी बढ़ा देती है जो याद रखने में लंबे समय तक कारगर होती है।

खुद के बिस्तर का ही इस्तेमाल करें

प्राय: देखने में आता है कि व्यक्ति जब कभी अपने बिस्तर पर नहीं लेटता है, तब सारी-सारी रात करवटें ही बदलता रहता है। इस प्रकार उसे दूसरे के बिस्तर पर बिलकुल नींद नहीं आती, इसलिए ध्यान रखें कि सदैव अपने निर्धारित स्थान रूपी बिस्तर का इस्तेमाल ही करें। निस्संदेह तभी आपको गहरी नींद आएगा अन्यथा आपको नींद लेने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इससे शरीर में अन्य बीमारियां भी खड़ी हो सकती हैं।

सोने के पहले टीवी नहीं देखें

अक्सर छोटे-छोटे बच्चे जब अपने शयन कक्ष में सोने हेतु निश्चित समय पर पहुंचते हैं तो बिस्तर पर बैठ कर टीवी देखने लगते हैं और देखते ही देखते कब आधी रात बीत जाती है, उन्हें तनिक भी आभास नहीं होता। परिणामस्वरूप टीवी के चक्कर में वे पर्याप्त नींद नहीं ले पाते हैं और सुबह उठने में दिक्कत करने लगते हैं, सो टेलीविजन को अलग कक्ष में रखें तो ही बेहतर होगा। अपने बैडरूम का प्रयोग सिर्फ सोने के लिए ही करें। बाकी काम सोने से पूर्व बेडरूम के बाहर ही निपटाएं। यह अच्छी एवं गहरी नींद लेने हेतु मददगार साबित हो सकता है।

माहौल शांत रखें

काम को निपटाने के बाद जब अधिकांश लोग अपने शयनकक्ष में पहुंचते हैं तो घर का माहौल शांत न होने के कारणवश नींद लेने में परेशानी महसूस करती हैं, इसलिए चाहिए कि अपने शयनकक्ष के संपूर्ण वातावरण को शांत और आरामदायक बनाकर रखें। जाहिर है कि फ्रिज,टीवी आदि उपकरणों को कतई स्थान न दें बल्कि नींद को डिस्टर्ब करने वाले इन उपकरणों के लिए अलग से कक्ष बनाएं तो कहीं ज्यादा बेहतर होगा।

गुनगुने पानी में नहाएं

अच्छी नींद लेने के महत्वपूर्ण टिप्स में अंतिम बारी गुनगुने पानी में नहाने की आती है। जब हम रोजाना संध्या के समय कसरत करते हैं तब उसके उपरांत हमें सोने से पहले गुनगुने पानी से नहाने की आवश्यकता होती है। इससे न सिर्फ थकावट दूर होती है अपितु नहाने से गहरी व अच्छी नींद लेने में भी आसानी होती है। इसीलिए नामचीन चिकित्सकों की भी यही सलाह है कि आप सोने से पूर्व गुनगुने पानी से अवश्य नहाएं।

अच्छी नींद का लुत्फ उठाने में यह कारगर होने के साथ-साथ बहुत सी मानसिक परेशानियों को भी दूर करने में अहम भूमिका निभाता है। ‘सलिए ह्यजो सोते हैं, वो खोते हैं’ की पुरानी कहावत को नजरअंदाज करके जी भर कर सोएं और बुद्धिमान बनें।


janwani address 2

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments