Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliगन्ना समितियोंं पर अब नहीं होते धरने-प्रदर्शन: सुरेश राणा

गन्ना समितियोंं पर अब नहीं होते धरने-प्रदर्शन: सुरेश राणा

- Advertisement -
  • मंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को वितरित किए चेक

जनवाणी संवाददाता |

थानाभवन: उप्र सरकार का चार वर्ष का कार्यकाल पूरा होने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि प्रदेश में पहले जहां गन्ना समितियों पर आए दिन धरने-प्रदर्शन होते थे, वहीं जब प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी हैं तब से भीड़ भी नजर नहीं आती।

नगर पंचायत कार्यालय परिसर में आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि पहले घर बेटी जाती थी तो मां रोटी छोड़ देती थी, सोचती थी कि बस बेटी सही सलामत घर वापस लौट आये। पहले यूपी की बात होती थी तो छेड़छाड़ पहला मुद्दा होता था, आज छेड़छाड़ मुद्दा लोग भूल गए हैं।

उन्होंने कहा कि पहले रास्तों से गुजरते हुए लोगों के पाव कांपते थे लेकिन आज दिन हो या रात लोग बिना खौफ के अपने गंतव्य को जाते हैं। गन्ना किसानों पर बोलते हुए कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि 2012-13 से 2017 तक चार वर्षों में पूर्व की सरकार ने मात्र 1854 करोड़ का गन्ना भुगतान किया था जबकि योगी की सरकार ने इन चार वर्षों में 3610 करोड़ का भुगतान किया है।

पूर्व की सरकार के छह वर्षों के 11 हजार करोड़ का भुगतान भी योगी की सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार में गन्ना किसानों की हालत खराब होने से जहां चीनी मिलें बन्द होने की कगार पर थी, वहीं गन्ने की खेती को भी किसान छोड़ रहे थे। अब गन्ने का रकबा 20 लाख से बढ़कर 28 लाख हैक्टेयर हो गया है।

लॉकडाउन में यही सरकार थी जिसने गन्ना किसानों की सोची और मिल को बन्द नहीं होने दिया। जिससे किसानों का गन्ना मिल तक पहुंच सका।

39 11

उन्होंने कहा कि पहले गन्ना सोसाईटियों पर धरने होते थे, आज भीड़ भी नहीं मिलती। पर्चियां स्वयं मोबाईल पर ही पहुंच जाती हैं। किसान को डीजल के लिए पेट्रोल पम्पों पर नहीं खड़ा रहना पड़ता। खेतों में पर्याप्त विद्युत सप्लाई दी जा रही है। गन्ना मंत्री ने कहा कि एक गरीब बैंकों को देखता था तो सोचता था कि मैं भी कभी बैंक में जाउंगा, आज प्रधानमंत्री मोदी ने हर गरीब का जन धन खाता खुलवाया और लॉकडाउन जैसी परिस्थिति में उसी खाते में पैसा भेजकर गरीब को सहायता दी गई। 50 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन दिया गया।
मंत्री सुरेश राणा ने पिछली सरकारों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पहले प्रदेश में हर जगह दंगे होते थे और सैफई में नाच गाने होते थे। आज प्रदेश के हर गांव को सैफई जैसा बनाने की कवायत है जिसका परिणाम है कि थानाभवन के गांव गन्देवडा एक अद्भूत दार्शनिक स्थल बन गया है। विधान सभा की तीनों नगर पंचायतों में धार्मिक आध्यात्मिक स्थलों का पचास लाख की लागत से सौन्दर्यकरण किया जा रहा है। 50 वर्षों की अपेक्षा में सबसे बेहतर काम तीनों नगर पचांयतों में हो रहा है। कार्यक्रम के अन्त में पीएम स्ट्रीट वैडंर्स आत्मनिर्•ार निधि के चलते कोरोना काल मे बेरोजगार हुए लोगों दस-दस हजार रुपये के ऋण के चेक वितरित किए।
इस अवसर पर एडीएम अरविन्द्र सिहं, सीडीओ शभूनाथ तिवारी, एसडीएम संदीप कुमार, बीडीओ पंकज कुमार, ईओ मेघा गुप्ता, ईओ जलालाबाद विजय आनन्द आदि मोजूद रहे।

पीएम स्ट्रीट वेंडर्स योजना के चेक वितरित किए
झिंझाना। नगर पंचायत झिंझाना परिसर में रविवार को प्रदेश की योगी सरकार के सफलतापूर्वक चार वर्ष पूर्ण होने पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष सतेन्द्र तोमर ने चार वर्षों में प्रदेश में योगी सरकार द्वारा कराये गए कार्य और उपलब्धियों को गिनाया। उन्होंने कहा किप्रदेश में सरकार से पूर्व चल रहे गुंडाराज को खत्म कर भयमुक्त शासन योगी सरकार द्वारा प्रदेश की जनता को दिया है। वहीं पीएम स्ट्रीट वैडंर्स आत्मनिर्भर निधि के चलते कोरोना काल मे बेरोजगार हुए लोगों दस-दस हजार रुपये के ऋण के चेक भाजपा जिलाध्यक्ष सतेन्द्र तोमर द्वारा दिए गए।
इस मौके पर तहसीलदार ऊन, अधिशासी अधिकारी योगेन्द्र कुमार, नगर पंचायत चेयरमेन नौशाद ठेकेदार, भाजपा नेता सुनील बंसल, नामित सभासद जितेन्द्र चौहान, मंडल महामंत्री छोटू सैनी, डा. सतीश कश्यप, दिलदार सैनी, सभासद इलियास आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments