Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबॉम्बे डाइंग की नकली बैड शीट सेटिंग कर छोड़ी

बॉम्बे डाइंग की नकली बैड शीट सेटिंग कर छोड़ी

- Advertisement -
  • धर्मपुरा मोहल्ले में पुलिस ने पकड़ा था भारी मात्रा में माल
  • लंबे समय से चल रहा नकली चादरों का महाखेल

जनवाणी संवाददाता |

सरधना: सरधना में ब्रांडेड कंपनी की बैड शीट तैयार करने का धंधा बड़े स्तर पर चल रहा है। बॉम्बे डाइंग समेत विभिन्न कंपनी के टैग लगाकर दूर शहरों में माल सप्लाई किया जा रहा है। सरधना पुलिस ने धर्मपुरा मोहल्ले में भारी मात्रा में माल पकड़ लिया। मगर सांठगांठ करके कार्रवाई किए बिना ही छोड़ दिया। इससे पहले भी नगर में फर्जी तरीके से टैग लगाकर बनाई जा रही चादर भारी मात्रा में पकड़ी जा चुकी है। इतना ही नहीं कुछ पुलिसकर्मी चादर बनाने वालों के यहां लगातार चक्कर काट रहे हैं।

सरधना में कपड़े का कारोबार बड़े स्तर पर किया जाता है। पहले खद्दर और अब बैड शीट बनाने का कारोबार भी व्यापक स्तर पर किया जा रहा है। कुछ लोग ब्रांडेड कंपनी के टैग चादर पर लगाकर बाहर सप्लाई कर रहे हैं। मुख्य रूप से धर्मपुरा, तहसील रोड, कालंद चुंगी, कमरानवाबान इलाकों में बड़े स्तर पर फर्जी तरीके से बैड शीट तैयार की जा रही हैं। कुछ समय पहले बॉम्बे डाइंग कंपनी की टीम ने छापा मारकर सरधना में बड़े स्तर पर कंपनी के टैग लगा माल बरामद किया था।

14 15

तब तो कुछ समय के लिए फर्जीवाड़ा करने वाले यह लोग शांत बैठ गए थे। मगर यह धंधा फिर से रफ्तार पकड़ने लगा है। कई कंपनियों के टैग लगाकर बैड शीट तैयार की जा रही हैं। बीते दिन धर्मपुरा मोहल्ले में पुलिस ने भारी मात्रा में ब्रांडेड कंपनी के टैग लगी भारी मात्रा में बैड शीट पकड़ ली थी। मगर कार्रवाई क्रने के बजाए पुलिस ने वहीं सांठगांठ करके छोड़ दी। इतना ही नहीं मामला प्रकाश में आने के बाद कुछ पुलिसकर्मी इस तरह का कारोबार करने वालों के यहां चक्कर काटने लगे हैं।

मतलब कार्रवाई करने के बजाए उन पर दबाव बनाया जा रहा है। इस संबंध में सीओ संजय जायसवाल का कहना है कि मामला जानकारी में आया है। पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी। कौन पुलिसकर्मी इसमें शामिल है, इसकी भी जांच की जाएगी। अवैध कारोबार नहीं होने दिए जाएंगे।

कोर्ट के आदेश पर भूमि विवाद के दो मामले दर्ज

किठौर: कोर्ट के आदेश पर किठौर थाने में भूमि विवाद से जुड़े दो मुकदमें दर्ज हुए हैं। पुलिस दोनों मामलों को लेकर चौकन्नी है। महमूदपुर गढ़ी निवासी राजेश पत्नी चतर सिंह ने दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि गांव स्थित खसरा 117/2 क्षेत्रफल 1.0787 हेक्टेयर में कालीचरण पुत्र खजान सिंह 1/4 भाग का संक्रमणीय भूमिधर था। 25 अप्रैल 2022 को उसने अपने कुल हक का बैनामा रवि पुत्र ओमसिंह निवासी भावनपुर को करा दिया।

पूरे एकवर्ष पश्चात राजेश ने रवि से उक्त भूमि खरीद ली। आरोप है कि कालीचरण ने चालाकी व मुठमर्दी के बल पर उक्त भूमि में से 126.2 वर्गमीटर का प्लाट गांव के ही कपिलदेव, अरविंद वर्मा पुत्र जगत सिंह को बेच दिया। आरोप ये भी है कि विक्रय पत्र में गवाह संत सिंह, शेरा सिंह धर्मसिंह पुत्र भौंडिया आरोपी के साथ मिलकर धोखाधड़ी व अनाधिकृत रूप से और भूमि बेचने का प्रयास कर रहे हैं। जिससे विवाद की प्रबल आशंका है। वहीं, बहरोड़ा निवासी शकील पुत्र आशक अली ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसका बेटा वकील पैतृक भूमि अपने नाम कराने की जिद कर रहा है।

मना करने पर वह शकील, उसकी पत्नी जैतून और बेटियों के साथ अभद्रता व मारपीट करता है। एक बेटी अविवाहित होने के कारण शकील बेटे को भूमि नही देना चाहता है। आरोप है कि वकील ने इसी विवाद में गत महीने अपनी मम्मी का हाथ व पसली तोड़ दी। अब वह शकील के पक्ष में आए उसके भाई जुल्फिकार को भी जान से मारने की धमकी दे रहा है। बताया कि गलत संगति के कारण शकील उसे बेदखल भी कर चुका है।

पीड़ित ने बेटे से जान का खतरा और शांतिभंग की आशंका के चलते रिपोर्ट दर्ज कराई है। इंस्पेक्टर सुनील कुमार सिंह का कहना है कि दोनों विवाद राजस्व विभाग से जुड़े हैं। वही इसकी जांच करे। पुलिस का काम शांति बहाली है। इसमें कोताही नहीं बरती जाएगी। विवाद करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments