Tuesday, January 18, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutफर्जी राशन कार्ड का बड़ा खेल: महानगर में भी चल रही धांधली

फर्जी राशन कार्ड का बड़ा खेल: महानगर में भी चल रही धांधली

- Advertisement -
  • साल 2017 में सीएम की एसआईटी निरस्त कर चुकी है करीब 52 हजार से ज्यादा राशन कार्ड

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान सरीखे राज्यों के आधार पर मेरठ में राशन का खेल चल रहा है। दरअसल आपूर्ति विभाग के कुछ भ्रष्ट अफसरों व राशन डीलरों की मिलीभगत के चलते हर माह हजारों फर्जी बनाए गए राशन कार्डों के नाम पर लाख रूपए कीमत का खाद्यान डकारा जा रहा है।

भ्रष्टाचार की इस कमाई में जहां तक डीलरों की बात है तो वो तो केवल प्यादे भर हैं। इस खेल में शतरंज के असली खिलाड़ी एरिया के एआरओ व सप्लाई इंस्पेक्टर सरीखे अधिकारी हैं। ऐसे सौ दो सौ नहीं बल्कि हजारों की संख्या में राशन कार्ड चल रहे हैं। मंडलायुक्त या जिलाधिकारी अथवा शासन में बैठे अफसर इस पूरे खेल की यदि बिजिलेंस जांच करा दें तो आपूर्ति विभाग के कई अफसरों की कारगुजारियों की परतें खुल जाएंगी।

कारगुजारी की शिकायत सीएम योगी से

गरीबों के नाम पर निवाला डकारने की इस कारगुजारी की शिकायत सीएम योगी से की गयी है। पूर्व विधायक दामोदर शर्मा युवक कांग्रेस कैंट विधासनसभा अध्यक्ष अर्चित गुप्ता की ओर से इस संबंध में कई राशन कार्ड व उसमें चढ़ा गए आधार नंबरों के साथ ठोस सबूत के साथ ब्योरा भेजा गया है।

इसमें उन परिवारों का ब्योरा दिया गया है जिनके सदस्यों के नाम पर अलग अलग राशन कार्ड में शामिल कर लिए गए हैं। इन राशन कार्ड में बाकि आधार दूसरे राज्यों के हैं। जिनमें बड़ी संख्या दिल्ली, हरियाणा व राजस्थान के आधार नंबरों की है।

एसआईटी कर चुकी है जांच

साल 2017 में ऐसे ही फर्जी राशन कार्डों की शिकायत सीएम तक पहुंची थी। उसके बाद लखनऊ से एक एसआईटी जांच को भेजी गयी थी। मेरठ पहुंचे एसआईटी के अफसर यहां दो दिन तक शहर के एक महंगे होटल में डेरा डाले रहे थे। सूत्रों की मानें तो उनके नाम पर तत्कालीन आपूर्ति अफसरों ने प्रति डीलर एक एक हजार की हिसाब से कई लाख रूपए जमा कर लिए थे।

52 हजार कार्ड हुए थे निरस्त

एसआईटी ने अपनी जांच में मेरठ में तब करीब 52 हजार राशन कार्ड जो अपात्रों के बना दिए थे निरस्त किए थे। इस बात की पुष्टि जिला आपूर्ति अधिकारी नीरज सिंह भी करते हैं। इतनी बड़ी संख्या में राशन कार्ड निरस्त कर दिए जाने के बाद दोबार उससे ज्यादा फर्जी राशन कार्डों की आशंका जतायी जा रही है।

एरिया थर्ड व फोर्थ ज्यादा बदनाम

आपूर्ति विभाग का एरिया थर्ड व फोर्थ कथित फर्जी राशन काडों को लेकर खासा बदनाम बताया जाता है। इन दोनों एरियाओं में एसआरओ, सप्लाई इंस्पेक्टर व डीलरों की साजिश से हजारों का खाद्यान डकारे जाने का आरोप लगाते हुए सीएम को भेजे पत्र में जांच की मांग की गयी है।

ये हैं कुछ राशन कार्ड

जिन राशन कार्ड की शिकायत सीएम योगी को भेजी गयी है उनमें एरिया थर्ड के राशनकार्ड रशीद नगर निवासी अल्लाह रखी व आईडी नंबर 113840659191। आरोप है कि इसमें सिर्फ अल्लाह रखी सही है बाकि कार्ड में बाकि आधार नंबर व नाम फर्जी।

तारापुरी निवासी मुस्कान व आईडी नंबर 113840743672। इस कार्ड में केवल मुस्कान का नाम ठीक है बाकि नाम व आधार नंबर फर्जी हैं। रशीद नगर निवासी सामिया व आईडी नंबर 113840743673। इसमें जोडे गए बाकि नाम व आधार फर्जी हैं। ऐसे ही अन्य कार्डों में शवनूर व आईडी नंबर 113840743675। कम्मो व आईडी नंबर 113840093426 सरीखे करीब बीस राशन कार्डों का उल्लेख सीएम को भेजी गयी शिकायत में किया गया है।

ये कहना है डीएसओ का

जिला पूर्ति अधिकारी नीरज सिंह का कहना है कि अभी उनके संज्ञान में ऐसे कोई मामला नहीं। यदि कोई शिकायत संज्ञान में आएगी तो जरूर जांच कराकर कठोर कार्रवाई करेंगे। उन्होंने रेडम जांच की बात भी कही है। इस तरह का मामला गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments