Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarगूगल ने मास्टर विजय सिंह का धरना बताया दुनिया का सबसे लंबा

गूगल ने मास्टर विजय सिंह का धरना बताया दुनिया का सबसे लंबा

- Advertisement -

—जानिये क्या है, सार्वजनिक भूमि अवैध कब्जा मुक्त कराने को 26 साल से दिया जा रहा यह धरना

जनवाणी संवाददाता |

मुजफ्फरनगर:मुजफ्फरनगर में शामली के गांव चौसाना की 4 हजार बीघा सार्वजनिक कृषि योग्य भूमि अवैध कब्जा मुक्त कराने को 26 साल से दिये जा रहे मास्टर विजय सिंह के धरने को गूगल ने विश्व का सबसे लंबा धरना बताया है। गूगल पर मास्टर विजय सिंह का नाम विश्व के सबसे बड़े धरने के साथ ट्रेंड कर रहा है। मास्टर विजय सिंह के मुताबिक गूगल इंडिया हेड ने 1 दिन पहले फोन कर उन्हें यह जानकारी दी।

15 3

सैंकड़ो करोड़ की सरकारी भूमि पर भू माफिया का कब्जा
शामली की ऊन तहसील के गांव चौसाना की सैंकड़ो करोड़ की कीमत वाली करीब 4 हजार बीघा सार्वजनिक कृषि योग्य भूमि पर भू-माफिया का अवैध कब्जा है। 26 फरवरी, 1996 को चौसाना के मास्टर विजय सिंह ने अवैध कब्जा हटवाने की मांग करते हुए मुजफ्फरनगर DM कार्यालय के सामने धरना शुरू किया था। धरने के साढे 26 साल बीतने के बावजूद कोई भी सरकार जनहित में मास्टर विजय सिंह को न्याय नहीं दिलवा सकी।

सीएम की कराई जांच के बावजूद नहीं हुई कार्रवाई
8 अप्रैल, 2019 को CM योगी की शामली में हुई चुनावी सभा में विजय सिंह ने प्रदर्शन किया था। इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने DM शामली को जांच कराने के आदेश दिए थे। एसडीएम ऊन सुरेंद्र सिंह ने जांच कर DM को रिपोर्ट दी थी। इसमें सैकड़ों करोड़ की हजारों बीघा सार्वजनिक कृषि भूमि पर पूर्व विधायक ठा. जगत सिंह का अवैध कब्जा साबित हुआ था। रिपोर्ट में ठा. जगत सिंह को भू-माफिया घोषित करने की संस्तुति भी की गई थी। इसके बाद DM ने मौके पर पहुंचकर भौतिक सत्यापन कर कार्रवाई के लिए शासन को रिपोर्ट भेज दी थी।
विजय सिंह का कहना है कि CM योगी ने शामली की भरी सभा में जो वादा किया था, उसे आज तक पूरा नहीं किया। उनके 5 साल के कार्यकाल में मास्टर विजय सिंह कई बार लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास जाकर योगी से मुलाकात का समय मांगा, मगर मिल नहीं पाए।

अखिलेश के आश्वासन पर भी सपा सरकार रही मौन
2012 में कृषि भूमि अवैध कब्जा मुक्त कराने के लिए विजय सिंह पद यात्रा करते हुए लखनऊ पहुंचे थे। तत्कालीन CM अखिलेश यादव से मुलाकात कर भूमि कब्जा मुक्त कराने की मांग की थी। इस पर जांच कमेटी गठित की गई, लेकिन आरोपियों के सपा में चले जाने से राजनीतिक हस्तक्षेप के कारण कोई कार्रवाई नहीं की गई थी।बसपा सरकार के दौरान प्रमुख सचिव गृह ने कार्रवाई का आदेश दिया था। इस पर जिला प्रशासन ने 300 बीघा भूमि अवैध कब्जा मुक्त कराई थी। बाद में राजनीतिक हस्तक्षेप के चलते कोई कार्रवाई नहीं हुई।

कई रिकार्ड में दर्ज हुआ दुनिया का सबसे लंबा धरना
सार्वजनिक कृषि भूमि कब्जा मुक्त कराने की मांग के लिए विजय सिंह 26 साल से लगातार धरना दे रहे हैं। उनका धरना लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, वर्ल्ड रिकार्ड इंडिया और मीरा सेल्स ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज हो चुका है।

कमिश्नर, आईजी की जांच में भी हुई अवैध कब्जे की पुष्टि
मेरठ मंडल कमिश्नर एचएल बिरदी ने 1995 में मामले की जांच कर घोटाले की पुष्टि करते हुए रिपोर्ट भेजी थी। आईजी सीबीसीआइडी एसी शर्मा (पूर्व डीजीपी, यूपी) ने जांच कर अवैध कब्जे की पुष्टि कर शासन को रिपोर्ट भेजी थी।

 

विजय सिंह के धरने को सबसे ऊपर दिखा रहा गूगल
मास्टर विजय सिंह 26 साल से धरनारत हैं। उनका धरना कई रिकार्ड बुक में दर्ज किया जा चुका है। मास्टर विजय सिंह का धरना गूगल सर्च इंजन ओप्टिमाइजेशन के लिहाज से भी टाप पर है। विश्व का सबसे बड़ा धरना टाइप कर सर्च करते ही गूगल पर मास्टर विजय सिंह के 26 साल से चल रहे धरने से संबंधित खबरे ट्रैंड करने लगती हैं। मास्टर विजय सिंह के मुताबिक एक दिन पहले ही इस बात की जानकारी गूगल इंडिया हैड ने उन्हें स्वयं फोन कर भी दी थी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments