Saturday, June 15, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBaghpatवेदज्ञान ही मनुष्य की सर्वांगीण उन्नति का आधार: गुरुवचन शास्त्री

वेदज्ञान ही मनुष्य की सर्वांगीण उन्नति का आधार: गुरुवचन शास्त्री

- Advertisement -
  • लाक्षाग्रह बरनावा पर यज्ञ का दूसरा दिन

जनवाणी संवाददाता  |

बिनौली: महाभारत कालीन लाक्षगृह पर स्थित श्री महानंद संस्कृत महाविद्यालय गुरुकुल में चल रहे आठ दिवसीय 63 वें विश्व कल्याण चतुर्वेद पारायण महायज्ञ के दूसरे दिन सोमवार को यज्ञ के ब्रह्मा आचार्य गुरुवचन शास्त्री ने कहा कि वेदों का ज्ञान परमात्मा प्रदत्त ज्ञान है, वेदज्ञान मनुष्य की समग्र वा सर्वांगीण उन्नति का आधार है।

WhatsApp Image 2022 03 07 at 3.33.43 PM 1

उन्होंने कहा कि परमात्मा ने हमें मनुष्य जीवन शुभ कर्म करने के लिए दिया है। मनुष्य जीवन की उन्नति व कल्याण के लिए परमात्मा ने सृष्टि में वेदों का ज्ञान दिया,बिना वेदज्ञान के मनुष्य अपनी आत्मा व जीवन की उन्नति नहीं कर सकता।

आचार्य रवि दत्त शास्त्री ने कहा कि ऋषि मुनियों की तपो भूमि पर संस्कारो का बीजारोपण कराया जाता है, धर्म को धारण करने वाला मनुष्य ही जीवन की ऊंचाइयों को छूता है, बिना धर्म के मनुष्य पशु समान होता है।

प्रधानाचार्य आचार्य अरविंद कुमार शास्त्री ने कहा कि वेदों में हमें ईश्वर, जीवात्मा तथा कारण व कार्य सृष्टि का सत्यस्वरूप प्राप्त होता है। वेदों से हम ईश्वर की महानता से परिचित होते है, वेदों का अनुशरण करने से मनुष्य का जीवन सुख व आनन्द से युक्त बनता है।

पूर्व प्रधानाचार्य आचार्य विनोद कुमार शास्त्री, सोमदत्त भारद्वाज, सुनील शास्त्री आदि विद्वानों ने भी वेदोपदेश दिए। गुरुकुल के ब्रह्मचारी जयकृष्ण शास्त्री, रोहित शास्त्री, मोहित शास्त्री, कपिल शास्त्री, देवेंद्र शास्त्री ने सस्वर वेदपाठ किया।

अशोक चौहान,कांति त्यागी, महेंद्र सिंह,नरेंद्र सिंह, बालकृष्ण त्यागी, हर्षकुमार, फकीरचंद त्यागी, अमित कुमार, मधुसूदनेश्वर, विशू सपत्नीक यज्ञमान रहे। यज्ञ में बीएसएनएल के पूर्व जीएम चंद्रहास, प्रधान यशोधर्मा सौलंकी, मंत्री राजपाल त्यागी, स्वामी प्रदुमन महाराज, वीर सिंह, राहुल त्यागी, विजय कुमार, गंगाशरण,धनपाल बैंसला आदि उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments