Wednesday, December 1, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकैंट बोर्ड की नजर हटते ही सोतीगंज में अवैध निर्माण शुरू

कैंट बोर्ड की नजर हटते ही सोतीगंज में अवैध निर्माण शुरू

- Advertisement -
  • पुलिस की गोली से घायल बदमाश के गुर्गे ले रहे अवैध निर्माण के ठेके
  • आवासीय इमारत को ध्वस्त कर बगैर नक्शा और अनुमति के किया जा रहा था निर्माण

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: सोतीगंज में कैंट बोर्ड की नजर हटते ही दोबारा से दिनदहाडे अवैध निर्माण शुरू करा दिया गया। छावनी के सोतीगंज मंदिर के सामने अवैध तरीके से किए जा रहे निर्माण पर कैंट बोर्ड का चाबुक चला है। अवैध निर्माण फिलहाल रुकवा दिया गया है।

हालांकि यहां कैंट प्रशासन को गच्चा देकर चार पिल्लर खडे कर लिए गए हैं। काली पन्नी डालकर काम कराया जा रहा था। निर्माण कार्य रुकवाने के बाद कैंट प्रशासन ने यहां पहरा बैठा दिया है। हालांकि कैंट बोर्ड की नजर हटते ही वहां फिर से काम लगा दिया गया है।

अपराधिक के गुर्गों ने लिया ठेका

सोतीगंज में त्रिलोक मंदिर के ठीक सामने जिस आवासीय भवन को गिराकर वहां व्यवसायिक निर्माण कराया जा रहा है उसका ठेका सोतीगंज में चोरी के वाहन काटने के अपराध मे लिप्त एक कबाड़ी के गुर्गे जिसका नाम राजू बताया जा रहा है उसके गिरोह ने लिया है। आसपास के लोगों ने बताया कि ये शख्स इसी प्रकार के अपराधिक कामों में लिप्त है।

हालांकि इसका मुख्य धंधा चोरी के वाहनों का कटान व कटान में मदद कराना है। पुलिस ने इसके आका को तो मुठभेड़ में गोली मारकर जेल भेज दिया, लेकिन इसका अभी पुलिस के हत्थे चढ़ना बाकी है। आसपास के कबाड़ियों ने ही नाम न छापे जाने की शर्त पर बताया कि यदि पुलिस इस शख्स पर भी शिकंजा कस दे तो सोतीगंज में चोरी के वाहनों का कटान तथा अवैध निर्माण के ठेके सरीखे कामों पर एक ही झटके में रोक लग जाएगी।

कैंट अफसरों पर लगाए गंभीर आरोप

सोतीगंज त्रिवेणी मंदिर के सामने किए गए अवैध निर्माण को कवर करने को जब जनवाणी के संवाददाता व छायाकार पहुंचे तो वहां पर जेल गए अपराधी के गुर्गे ने उनके काम में बाधा डालने का प्रयास किया। इतना ही नहीं उसने सार्वजनिक रूप से कैंट प्रशासन के कुछ अधिकारियों का नाम लेकर चिल्लाना शुरू कर दिया।

उसने दावा किया कि भारी भरकम रकम देने के बाद ही यहां निर्माण कराया जा रहा है। उसका निर्माण कोई छू भी नहीं सकता। तमाम अनर्गल आरोप लगाने लगा। उसके आरोपों को खारिज कर दिया गया। क्योंकि कैंट प्रशासन ने कठोर कार्रवाई का चाबुक चलाकर कराए जा रहे अवैध निर्माण को रुकवा दिया है।

रविन्द्रपुरी के अवैध निर्माण पर कार्रवाई कब

कैंट के रविन्द्रपुरी खटीक मोहल्ला में कब्जायी गयी सरकारी जमीन अवैध निर्माण कर बनवायी गयी दुकानों पर कार्रवाई कब की जाएगी यह बड़ा सवाल बना हुआ है। यहां कराए गए अवैध निर्माण को लेकर कैंट बोर्ड के एक सभासद व एक सभासद पति के नाम की चर्चा है।

हैरानी तो इस बात की है कि जिन दुकानों का निर्माण कराया गया है वहां रंगाई-पुताई कराकर उन्हें पुरानी साबित कर दिया गया है। सोतीगंज मंदिर के सामने वाले अवैध निर्माण की तर्ज पर सरकारी जमीन पर कब्जा कर बनायी गयी दुकानों पर भी कार्रवाई का इंतजार है। ये दुकानें एक कबाड़ी ने बनायी हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments