Sunday, May 26, 2024
- Advertisement -
Homeसंवादपवित्रता में वृद्धि

पवित्रता में वृद्धि

- Advertisement -

Amritvani


किसी व्यक्ति के बारे में यह पता लगाना मुश्किल होता है कि वह भला आदमी है, या नहीं? किसी मौके पर उसके आचरण से ही पता चलता है कि वह कितना भला या बुरा है। बहुत पहले की बात है। सूफी गुरु इब्न-अल-हुसैन से एक शिष्य ने पूछा, ‘दुनिया में शांति और पवित्रता कैसे आएगी?’ हुसैन ने कहा, ‘दमिश्क में अबू मूसा अल-कुमासी नामक एक शेख रहता था।

उसके इल्म और अच्छाई की सब मिसाल देते थे, लेकिन हकीकत में किसी को यह पता नहीं था कि वह वाकई भला आदमी है भी या नहीं।’ एक रोज किसी वजह से शेख का घर ढह गया और शेख और उसकी बीवी मलबे में दब गए। घबराए हुए पड़ोसियों ने मलबे में उनकी तलाश शुरू कर दी।

उन्होंने शेख की बीवी को खोज लिया। बीवी ने पड़ोसियों को देखते ही कहा, ‘मेरी फिक्र मत करो और पहले मेरे शौहर को बचाओ। वे उस कोने में बैठे हुए थे।’ ‘पड़ोसियों ने बीवी की बताई जगह पर से मलबा हटाया और उन्हें लकड़ी की एक शहतीर के नीचे दबा शेख दिख गया।

उन्हें देखते ही शेख ने चिल्लाकर कहा झ्र ‘मैं ठीक हूं! पहले मेरी बीवी को बचाओ! बेचारी उस कोने में कहीं दबी होगी!’ ‘जब भी कोई व्यक्ति ऐसा आचरण करेगा, जैसा इन पति-पत्नी ने किया तो वह दुनिया में शांति और पवित्रता में इजाफा ही करेगा।’


janwani address 4

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments