Saturday, April 13, 2024
Homeधर्म ज्योतिषKarwa Chauth 2023: देशभर में आज करवा चौथ पर्व की धूम, यहां...

Karwa Chauth 2023: देशभर में आज करवा चौथ पर्व की धूम, यहां जानें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

- Advertisement -

नमस्कार, दैनिक जनवाणी डॉटकॉम वेबसाइट पर आपका हार्दिक स्वागत और अभिनंदन है। दो दिन बाद कार्तिक मास शुरू होने वाला है। कार्तिक महीना बहुत भी पावन माना जाता है। इस माह में करवा चौथ, अहोई अष्टमी सहित कई त्योहार पड़ते है। इसलिए इस महीने का महत्व और भी ज्यादा खास हो जाता है। वहीं, कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को पवित्र त्योहार यानि करवा चौथ मनाया जाता है। यह त्योहार महिलाएं अपने पति के मनाती हैं। जिसमें वह पूरे विधि विधान के साथ बिना जल-अन्न ग्रहण रहें पूरा दिन व्रत में गुजार देती हैं।

30

वहीं, आज करवा चौथ का त्योहार को मनाया जा रहा है। आज के दिन विवाहित महिलाएं अपने पति के जीवन की सुरक्षा और दीर्घायु सुनिश्चित करने के लिए सूर्योदय से चंद्रोदय तक कठोर उपवास रखती हैं। शाम को चंद्रमा उदय होने के बाद ही महिलाएं अपना व्रत पूर्ण करती हैं। तो चलिए जानते हैं करवा चौथ व्रत की तिथि आदि के बारे में…

कब है करवा चौथ 2023 जानें शुभ मुहूर्त

34 19

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि आरंभ: 31 अक्टूबर, मंगलवार, रात्रि 09:30 मिनट से कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि समाप्त:1 नवंबर, बुधवार, रात्रि 09:19 मिनट पर चतुर्थी तिथि का सूर्योदय व चंद्रोदय दोनों ही 1 नवंबर को होगा,इसलिए इसी दिन करवा चौथ का व्रत किया जाएगा।

हिंदू कैलेंडर के मु​ताबिक इस बार करवा चौथ आज यानी 1 नवंबर, बुधवार को है। वहीं चन्द्रोदय का समय रात्रि 08:15 रहेगा। ऐसे में अलग-अलग स्थानों पर चंद्रोदय के समय में 5 से 7 मिनिट का अंतर आ सकता है।

आखिर क्यों करते हैं चंद्रदेव की पूजा

40 15

इस समय दें चंद्रदेव को अर्घ

  • पौराणिक मान्यता के अनुसार चंद्रमा की पूजा को लेकर रामायण की एक कथा प्रचलित हैं। एक बार श्रीराम ने पूर्व दिशा की ओर चमकते हुए चंद्रमा को देखकर पूछा कि चंद्रमा में कालापन क्यों है। इस पर लोगों ने अलग-अलग तर्क दिए। तब भगवान राम ने कहा कि चंद्रमा में कालापन उसके विष के कारण है और इससे वह अलग रह रहे पति-पत्नी को जलाता रहता है।
  • इसलिए, सुहागिन महिलाएं चंद्रमा की पूजा करके प्रार्थना करती हैं कि उन्हें अपने पति से कभी दूर न रहना पड़े और वे खुशहाल वैवाहिक जीवन व्यतीत कर पाएं।

यहां जानें करवा चौथ पूजन-विधि

39 11

  • करवा चौथ के दिन स्नान करने के बाद स्वच्छ वस्त्रों को धारण करें। फिर व्रत का संकल्प लें। इस दिन निर्जला व्रत रखें।
  • बाद में आप अपनी पूजा की सामग्री को एकत्रित करें। इसके बाद घर के मंदिर की दीवार पर गेरू से फलक बनाकर करवा का चित्र बनाएं।
  • फिर शाम के समय फलक वाले स्थान पर चौकी रखकर लाल रंग का साफ वस्त्र बिछाएं। फिर भगवान शिव और माता पार्वती की तस्वीर स्थापित करें।
  • आप अपनी पूजा की थाली में दीप, सिंदूर, कुमकुम, रोली और करवे में जल भरकर रखें। फिर करवा चौथ व्रत की कथा सुनें।
  • रात में चांद के निकलने के बाद चंद्रदेव की पूजा करें और अर्घ्य दें। इसके बाद पानी पीकर अपना व्रत खोलें।
What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments