Wednesday, July 24, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसंसाधनों की कमी, कैसे होगी नकलविहीन परीक्षा?

संसाधनों की कमी, कैसे होगी नकलविहीन परीक्षा?

- Advertisement -
  • इस वर्ष 10वीं और 12वीं में 79,407 छात्र-छात्राएं होंगे परीक्षा में शामिल

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानि यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए केद्रों की सूची फाइनल कर दी गई है। जिले में 108 परीक्षा केंद्रों पर 10वीं के 40582 और 12वीं के 38825 छात्र-छात्राएं परीक्षा देंगे। परीक्षा नकलविहीन सम्पन्न कराने के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर से पूरी तैयारी कर ली गई हैं, लेकिन कुछ ऐसे विद्यालयों को भी केंद्र बनाया गया है, जिनमें संसाधनों की कमी है। वित्तविहीन विद्यालयों को भी काफी संख्या में केंद्र बनाया गया।

बता दें कि परीक्षाएं नजदीक है और तैयारियां युद्धस्तर पर चल रही है। कक्ष निरीक्षकों के शैक्षिक विवरण को भी अपलोड कर दिया गया है। यूपी बोर्ड की ओर से 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं का सिलेबस जल्द से जल्द पूरा कराने के निर्देश दिए गए हैं।

15 20

आॅनलाइन कक्षाओं की वजह से अभी तक कुछ स्कूलों का सिलेबस समय से पूरा नहीं हो सका है। बोर्ड ने सिलेबस समय से पूरा कराने के लिए अतिरिक्त कक्षाओं का सहारे लेने के लिए कहा है। 10वीं और 12वीं के परीक्षार्थियों की बात करे तो इस वर्ष मेरठ जिले में 10वीं के 40582 और 12वीं के 38825 छात्र है।

शासन की ओर से कोरोना की तीसरी लहर के चलते जिस तरह परीक्षार्थियों को शारीरिक दूरी पर बैठाने के लिए कहा गया है उसके हिसाब से परीक्षा केंद्र कम बढ़ाए गए हैं, क्योंकि परीक्षा के लिए गत वर्ष 117 केंद्र जिले में बनाए गए थे। जिसमें 10 राजकीय विद्यालय और 17 वित्तविहीन विद्यालय शामिल थे, लेकिन इस वर्ष केंद्रों की संख्या गत वर्ष से कम है।

इस वर्ष 7 राजकीय, 89 सहायता प्राप्त और 12 स्ववित्त पोषित विद्यालयों को केंद्र बनाया गया है। जिला विद्यालय निरीक्षक गिरजेश चौधरी का कहना है कि बोर्ड परीक्षा को किसी भी सूरत में बाधित नहीं होने दिया जाएगा। जिन विद्यालयों को केंद्र बनाया गया है। वहां की पूरी व्यवस्था का जायजा परीक्षा से पहले भी लिया जाएगा।

नकल विहीन परीक्षा के लिए ये है प्रबंध

  • प्रत्येक कक्षा में वेब कास्टिंग की व्यवस्था।
  • हर कक्ष में दो-दो सीसीटीवी कैमरे और वायस रिकॉर्डर।
  • इंटरनेट कनेक्शन।

केंद्रों पर ये है समस्या

  • कई केंद्रों पर केवल एक-एक ही है सीसीटीवी कैमरा।
  • वायस रिकॉर्डर भी सिर्फ एक
  • कई केेंद्रों पर फर्नीचर की है कमी।
  • कई केंद्रों पर कमरों की है कमी।
What’s your Reaction?
+1
0
+1
6
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments