Wednesday, May 25, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -spot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutस्कूलों में मास्साब के झूठे बर्तन धो रहे नौनिहाल

स्कूलों में मास्साब के झूठे बर्तन धो रहे नौनिहाल

- Advertisement -
  • बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहे शिक्षक, साफ-सफाई के लिए कर्मचारी तक नहीं है नियुक्त

जनवाणी संवाददाता |

रोहटा: जहां लोग अपने बच्चों को स्कूल मे पढ़ने के लिए भेजते हैं। वहीं, दूसरी ओर कुछ शिक्षक ऐसे भी है जो बच्चों को अपने घर का नौकर समझ उन्हे पढ़ने के जगह उनसे झूठे बर्तन धुलवाते हैं। एक तरफ जहां योगी सरकार के द्वारा सरकारी स्कूलों में शिक्षा की स्थिति सुधारने के लिए कई मुख्य प्रयास किए जा रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर बेसिक शिक्षा विभाग के कुछ शिक्षक सरकार की इन कोशिशों पर पानी फेरते नजर आ रहे हैं।

सर्वशिक्षा अभियान पर करोड़ों रुपये खर्च करने के बाद भी सरकारी स्कूलों में पढ़ाई के बजाय बच्चों से काम कराया जा रहा है। शिक्षक ही बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करें तो बच्चों के भविष्य नहीं संवर सकता। रोहटा क्षेत्र के एक गांव में शिक्षकों द्वारा प्राइमरी के बच्चों से झूठे बर्तन धुलवाए जा रहे हैं। जबकि नियमानुसार इसके लिए अलग से कर्मचारी की नियुक्ति होती है।

उत्तर प्रदेश सरकार बच्चों की शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए पूरी तरह प्रयासरत है तथा उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्कूली बच्चों के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं। सरकार की इन्हीं योजनाओं में एक योजना मध्याह्न भोजन है। जिसमें सरकार द्वारा प्राथमिक विद्यालयों में स्कूल के बच्चों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाती है। भोजन बनाने के लिए व बर्तनों की साफ सफाई के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति की जाती है।

क्षेत्र के सलाहपुर गांव में शिक्षकों द्वारा उच्च प्राथमिक विद्यालय के बच्चों से झूठे बर्तन धुलवाए जा रहे हैं। शिक्षक ही नौनिहालों का भविष्य गर्त में धकेल रहे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार बच्चों की शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए पूरी तरह प्रयासरत है तथा उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्कूली बच्चों के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं।

जिसमें सरकार द्वारा प्राथमिक विद्यालयों में स्कूल के बच्चों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाती है। भोजन बनाने के लिए व बर्तनों की साफ सफाई के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति की जाती है। परंतु कुछ विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों द्वारा इस योजना को पलीता लगाया जा रहा है। रोहटा क्षेत्र के गांव सलाहपुर के उच्च प्राथमिक विद्यालय मे अध्यापक खड़े होकर स्कूल के बच्चों से झूठे बर्तन धुलवा रहे हैं।

इस घटना को कैमरे में कैद करने पहुंचे मीडिया कर्मियों को देखकर प्रधानाध्यापक ने झूठे बर्तन धोते बच्चों से बर्तन छोड़ क्लास में जाने के लिए बोला। जब प्रधान अध्यापक से जानकारी की तो वह कोई जवाब नहीं दे पाए। इस संबंध में एबीएसए रोहटा राजमोहन गुफ्ता से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मामले की जांच कराई जाएगी।

रोहटा ब्लॉक क्षेत्र के कई स्कूलों की पहले भी जांच पेंडिंग में पड़ी हुई है। जिसमें आज तक कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है। ग्राम प्रधान सलाहपुर नजाकत अली (गोटी) से बात की गई तो बताया कि बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। इसमें कार्रवाई होनी चाहिए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments