Wednesday, October 20, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsBaghpatलापता बेटे का नहीं लगा सुराग, पलायन की तैयारी

लापता बेटे का नहीं लगा सुराग, पलायन की तैयारी

- Advertisement -
  • बालैनी थाना क्षेत्र के औगटी गांव का मामला

जनवाणी संवाददाता |

बालैनी: बालैनी थाना क्षेत्र के औगटी गांव से डेढ़ वर्ष से लापता युवक का अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया। लापता युवक की मां ने कोर्ट के आदेश पर गांव के ही दो युवकों के खिलाफ बालैनी थाने पर रिपोर्ट दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की। जिसके चलते युवक की मां ने गांव से पलायन करने का निर्णय लिया है। पीड़ित महिला सीएम से लेकर पीएम तक अपनी गुहार लगा चुकी है।

क्षेत्र के औगटी गांव निवासी चाहती पत्नी स्वर्गीय सतबीर ने बताया कि पिछले वर्ष जनवरी 2020 में गांव के ही दो युवक उसके बेटे सुनील उर्फ बिट्टू को काम करने के लिये कहकर जानी लेकर गए थे, लेकिन जब वह महीनों तक नही आया तो उसने दोनो युवकों से जानकारी ली तो वह हर बार उसे कह देते की अगले महीने आ जाएगा। परंतु जब कई महीनों तक उसका बेटा नहीं आया तो उसने इसकी सूचना बालैनी पुलिस को दी। पुलिस ने उन्हें जानी थाने का मामला कहकर टरका दिया।

फिर वह जानी थाने गई तो वहां से भी यही जवाब मिला। मार्च 2021 में कोर्ट के आदेश पर गांव के ही दोनो युवक विनोद और प्रिंस के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई। महीनों बीतने के बाद भी पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की और दोनों युवक उसे डराते है। पीड़ित महिला ने अपने बेटे की हत्या की आशंका जताते हुए मामले की शिकायत पीएम, सीएम, एडीजी, आईजी और अन्य अधिकारियों से की, लेकिन अभी तक भी उसके बेटे का कोई पता नहीं लगा है और आरोपियों पर पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की। अब परेशान होकर लापता युवक की बूढ़ी मां ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए और सरकार दे न्याय नहीं मिलने पर गांव से पलायन करने का निर्णय लिया है और अपने मकान पर ‘मकान बिकाऊ है’ लिख दिया है।

पीड़िता ने बताया कि पिछले डेढ़ वर्ष से वह अपने बेटे के लिये दर दर की ठोकरे खा रही है। लेकिन कोई भी उसकी सुनने वाला नहीं है। वह रोज इसी आस में अपना दिन गुजार देती है कि उसका बेटा आज आयेगा। लेकिन अब तो सिस्टम से तंग आकर वह उम्मीद ही छोड़ चुकी है। इस बारे में बालैनी एसओ रामनिवास का कहना है कि कोर्ट के आदेश पर मामला हमारे यहां मामला दर्ज हुआ था, लेकिन मामला जानी थाने से जुड़ा होने के कारण उसकी विवेचना वही ट्रांसफर कर दी गई थी। पीड़िता के पलायन करने की जानकारी उन्हें नहीं है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments