Wednesday, February 21, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutशांतिपूर्ण संपन्न हुआ सहकारी समितियों का चुनाव

शांतिपूर्ण संपन्न हुआ सहकारी समितियों का चुनाव

- Advertisement -
  • सहकारी समितियों पर तैनात रही पुलिस फोर्स

जनवाणी संवाददाता |

सरधना: शनिवार को किसान सेवा सहकारी समितियों का चुनाव आयोजित हुआ। सभी समितियों पर शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्न हुआ। इस दौरान समितियों पर पुलिस बल तैनात रहा। पुलिस ने केंद्रों पर भीड़ को रुकने नहीं दिया। दिनभर हुई बारिश का भी चुनाव पर कुछ खास असर नजर नहीं आया।

सरधना ब्लॉक में महादेव, कपसाड़, सलावा, सकौती टांडा, मण्डौरा, सरधना, खेड़ा में शनिवार को सुबह दस बजे से मतदान हुआ। जिसमें समितियों कार्यालयों पर ही बूथ बनाए गए थे। जिन पर शाम चार बजे तक वोट डाले गए जिसके बाद मतगणना की गई। साधन सहकारी समिति महादेव पर नंगला आडर गांव की सीट पर संचालक पद के लिए चुनाव हुआ। जिसमें प्रवेश देवी ने सरोज बाला को चार वोट से हराकर जीत हासिल की।

जबकि गांव छबड़िया से टिकैन्द्र, यशपाल, झिटकरी से अश्वनी, जसवीर महादेव से प्रदीप, बोबी, व सरधना से मौहम्मद ईशाक निर्विरोध निर्वाचित हुए। जबकि गांव चांदना व जुल्हेड़ा से कोई नामांकन नहीं होने से सीट खाली रह गई है। साधन सहकारी समिति सरधना में मदारपुरा सीट पर पिंटू ने ज्ञानेन्द्र को 38 वोटों से हराया। जबकि नीरज ने समरपाल को 67 वोटों से हराया। अलीपुर सीट पर गुडिया ने रमेश को 40 वोटों से हराया।

वहीं, पिंकी ने संतोष को 58 वोटों के अंतर से हराया। टेहकरी से संचालक पद के लिए मनुवीर ने कमल कुमार को 278 वोटों से हराया। जबकि कुलंजन से बीरी देवी ने मुन्नी को 27 वोटों से हराया। साधन सहकारी समिति सलावा से कुशावली से राजपाल, अक्खेपुर से सुभाष, दौलतपुर से घनश्याम व सुंदरपाल, सलावा से नीरज, हरीश, सोमवीर, सुनीता को निर्विरोध निर्वाचित हुए।

साधन सहकारी समिति मण्डौरा के गांव शाहरपुर जदीद से जगरोशनी, शाहपुर पीरपुर से राजवती, नंगली सादात से बदलू व पिंकी शर्मा, नंगला राठी से सूबे, दादरी से प्रदीप व मोनू कुमार, मण्डौरा से जयप्रकाश व मदन शर्मा संचालक विजय घोषित किए गए हैं।

परीक्षितगढ़: साधन सहकारी समिति लिमिटेड का शनिवार को सदस्यों का तीन वार्डों के लिए मतदान हुआ। जिसमें अपने प्रतिद्वंद्वी को हराकर जीत हासिल की। चुनाव अधिकारी दीपक कुमार ने बताया कि साधन सहकारी लिमिटेड के लिए तीन वार्डों में सुबह 10 बजे से मतदान शुरू हुआ। जिसमें वार्ड-1 से प्रत्याशी शरद गुर्जर व शैलेंद्र के बीच हुआ। जिसमें शरद गुर्जर दो वोटों से विजयी रहे। वार्ड-2 से छिद्दा त्यागी व ललित त्यागी के बीच मुकाबला हुआ। जिसमें छिद्दा त्यागी ने अपने प्रतिद्वंद्वी ललित त्यागी को तीन वोटों से पराजित कर जीत हासिल की।

वार्ड-9 में जयवीर त्यागी व प्रदीप त्यागी के बीच कांटे का मुकाबला हुआ। जिसमें दोनों प्रत्याशियों को बराबर-बराबर वोट हासिल की तथा बाद में दोनों प्रत्याशियों की सहमति पर फर्ची डाली गई। जिसमें प्रदीप त्यागी को विजयी घोषित किया गया। वहीं, छह प्रत्याशी निर्विरोध चुने गए हैं। जीत हासिल करने वाले प्रत्याशी रविवार को होने वाले सभापति के चुनाव की तैयारी में लग गए हैं तथा मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए गोट बिछा रहे हैं। चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न हुआ तथा पुलिस सुरक्षा मद्देनजर तैनात रही।

सरूरपुर: विकास खंड सरूरपुर के साधन सहकारी समिति सरूरपुर के गांव भूनी से सुमन पत्नी अनिल, हर्रा से राजबल व शाबिर हर्रा विजयी हुए। जबकि जसड़ सुलताननगर सीट से कुलदीप व ओमप्रकाश निर्विरोध निर्वाचित हुए। वहीं, मैनापूठी से सुंदरपाल, सरूरपुर से कुंवरपाल चौधरी, वीरसिंह, रिजवाना पत्नी सलीम जैनपुर को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया। वहीं, साधन सहकारी समिति पाथौली के गांव करनावल से लाल सिंह, कृष्णपाल, राजेश कुमार, सुबोध संचालक निर्वाचित हुए।

वहीं, खिवाई से शकुंतला देवी, निमेष कुमार, साबिर संचालक बने। जबकि पाथौली से संदीप व नेहा को समिति का संचालक विजयी घोषित किया गया। साधन सहकारी समिति गोटका के गांव पांचली बुजुर्ग से विनोद, फारूख जबकि गोटका से गणेश, भुल्लन, मुल्हेड़ा ब्रहमपाल व मुकेश को संचालक घोषित किया गया। बपारसी से वेदपाल, रिठाली सूरजपाल, डाहर से मनीषा को संचालक निर्वाचित किया गया। ईकड़ी सहकारी समिति के गांव भावा नंगला से आदेश, कक्केपुर से अजय त्यागी, नानू से शाहिद व रविन्द्र, ईकड़ी से नवीन त्यागी, प्रियंका शर्मा, रतौली से रोहताश संचालक निर्वाचित हुए।

भलसौना राजवीर सिंह व मेहरमति से फुरकान विजेता रहे। साधन सहकारी समिति दबथुवा की सीट से सुदेश देवी, प्रवीण, सतेन्द्र व खिर्वा जलालपुर से छोटू, अरविंद, त्यागी, बहादुरपुर से देवेन्द्र व सतेन्द्र, बुबकपुर से जॉन कुमार संचालक विजयी हुए। साधन सहकारी समिति कालंदी के गांव नवादा से रेशमवती, पाली से लता, कालंदी से अशोक व जीत सिंह, रामकुमार जबकि कालंद से शादाब, नरेश, पिठलोकर से वसलीम, छुर से चन्द्रपाल संचालक निर्वाचित हुए। जीत के बाद विजेता व समर्थकों ने खुशी मनाई।

दौराला सहकारी समिति पर अर्चना ने मारी बाजी

दौराला: सहकारी समिति दौराला में चल रहे जोड़तोड़ के चुनाव में शनिवार को दौराला समिति के प्रांगण में चुनाव संपन्न हुआ। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सुबह 10 बजे से समिति के प्रांगण में मतदान की प्रक्रिया शुरु हुई। मतदान करने के लिए सुबह से ही मतदाताओं में जबरजस्त उत्साह देखने को मिला। मतदान प्रक्रिया को कोई प्रभावित न कर सके। इसके लिए पुलिस और आरएएफ बल बड़ी तादाद में समिति के पंं्रागण में तैनात रहा।

सुबह 10 बजे से लेकर चार बजे तक मतदान होना था। चार बजे के बाद वोटों की गिनती की गई। दौराला समिति पर चुनाव लड़ रही अर्चना भाजपा समर्थित प्रत्याशी को 258 सतबीरी को 93 एवं सुनीता को 172 वोट मिली। जिसमें भाजपा समर्थित अर्चना को जीत का प्रत्याशी घोषित किया गया। इसके बाद इकलौता समिति पर सीपी सिंह को 110 अजय कुमार को 99 वोट मिले। सुरानी पर उम्मेद को 87 एवं विनोद को 92 वोट मिले। सबसे अहम और खास बात यह है कि दौराला समिति का चुनाव बेहद खास था।

क्योंकि इस चुनाव में पिछले कई दिनों से जोड़तोड़ की राजनीति की जा रही थी। अर्चना को लड़ाने के लिए भाजपा के पदाधिकारी लगे हुए थे। जबकि अन्य प्रत्याशी खुद अपने दम पर लड़ रहे थे। अब दौराला सहकारी समिति में अर्चना का चेयरमैन बनना लगभग तय हो गया है। रविवार को चेयरमैन चुना जाना है। भाजपा समर्थित होने के कारण अर्चना का लगभग चेयरमैन बनना तय हो गया है।

भाकियू तोमर के सामने झुका प्रशासन, चुनाव निरस्त

बहसूमा: साधन सहकारी समिति मोड़खुर्द के सभापति के लिए चुनाव होने हैं। जिसमें आज डायरेक्टर के पद पर चुनाव होने थे। जिसमें रिटर्निंग आॅफिसर को चार पर्चे वापस हो गए थे, लेकिन एक पर्चा रिटर्निंग आॅफिसर ने भाजपा के नेताओं के दबाव में आकर निरस्त कर दिया था। जिस पर भाकियू तोमर के जिलाध्यक्ष सन्नी चौधरी एवं अखिलेश चौधरी मंडल अध्यक्ष आनंदपाल सिंह, प्रधान इंतजार देशवाल, महिला मोर्चा की अध्यक्ष काजल शर्मा आदि ने कहा कि समिति के अधिकारियों पर भाजपा नेताओं के दबाव के चलते पर्चा निरस्त किया गया है।

जबकि ये नियम के विरुद्ध है। गुरुवार से चले धरने को लेकर एसडीएम मवाना अखिलेश यादव एवं सीओ मवाना आशीष शर्मा पुलिस फोर्स को साथ लेकर यूनियन के पदाधिकारियों से वार्ता करने के लिए पहुंचे थे। जिस पर उन्होंने कहा था कि गांव सदरपुर के चुनाव को रोक दिया जाएगा। बाकी गांव के चुनाव करा दिया जाये। जिस पर भाकियू तोमर के पदाधिकारियों ने कहा था कि जब तक निरस्त हुए पर्चे को बहाल नहीं किया गया तो धरना समाप्त नहीं होगा। उसके बाद एसडीएम मवाना ने कहा था कि जिले के अधिकारियों से वार्ता करने के बाद ही कुछ कहा जाएगा।

उसके बाद वह बैरंग लौट गए थे। उसके बाद देर रात थाना प्रभारी पुलिस फोर्स के साथ धरना स्थल पर पहुंचे और भारतीय किसान यूनियन तोमर के पदाधिकारी से वार्ता कर बताया कि चुनाव को निरस्त कर दिया गया है। जिसमें निर्वाचन अधिकारी प्रदीप कुमार के हस्ताक्षर पर चुनाव को रोकने का नोटिस चस्पा कर दिया। जिसके बाद भाकियू तोमर के पदाधिकारीयों ने धरना समाप्त कर दिया। चुनाव रोके जाने पर भारतीय किसान यूनियन तोमर के पदाधिकारियों में हर्ष व्याप्त हो गया है।

सहकारी समितियों पर संचालकों का चुनाव संपन्न

किठौर: क्षेत्र में पुलिस फोर्स की मुस्तैदी के बीच हल्की नोंकझोंक के साथ साधन सहकारी समितियों के संचालकों के चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न हो गए। सियासी कस्बा किठौर की सहकारी समिति पर सात संचालक जराफत, जावेद, शाहिद, तेजबहादुर, वासिक खां मनोज कुमार और रूबी पत्नी राजेंद्र जहां र्निविरोध चुनी गईं वहीं सुनीता पत्नी रविंद्र को रिक्त सीट पर मनोनीत किया गया जबकि एक संचालक पद के लिए चुनाव हुआ

जिसमें चंद्रशेखर अपने प्रतिद्धंदी रिफाकत अली को मात देकर संचालक बना। बोंद्रा में सत्यवीर मुखिया, अली मुहम्मद, सुखवीर सिंह, महावीर सिंह र्निविरोध चुने गए जबकि लीलू ने अपने प्रतिद्धंदी चंद्रवीर, विमेलश ने राकेश को मात देकर संचालक पद कब्जाया। तीन संचालक पदों के लिए शैला पत्नी अब्बास व रेशमा पत्नी फरीद, अफजाल व शाहवेज और भूरे व जाकिर के बीच कांटे का मुकाबला देर रात तक चलता रहा। फतेहपुर नारायण में दो संचालक पदों पर तीन प्रत्याशियों के बीच कड़ा मुकाबला रहा।

यहां सुरेंद्र चैधरी और संदीप त्यागी को 160 बराबर वोट मिले। जबकि तीसरे प्रत्याशी सुरेंद्र त्यागी को 158 वोट मिले। यहां तीन बार पुर्नमतगणना हुई। लेकिन नोंकझोंक के कारण परिणाम रोक दिया गया। रविवार को यहां डायरेक्टर के चुनाव से पूर्व यहां संचालकों का परिणाम घोषित किया जाएगा। वहीं महमूदपुर गढ़ी में ललित ने अपने प्रतिद्धंदी सुरेंद्र, पुष्पेंद्र उर्फ पाल ने सूबे सिंह, टोनी ने सतीश कुमार मुनेश कुमार ने जयपाल सिंह और महाराज सिंह ने आसिफ अली को मात देकर संचालक पद पर विजय प्राप्त की। जबकि सरोज पत्नी नयन सिंह, हाकम, राजपाल और बल्ले सिंह र्निविरोध चुने गए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
4
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments