Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutशिक्षिका हमले में पुलिस बेनतीजा, व्यापारियों में आक्रोश

शिक्षिका हमले में पुलिस बेनतीजा, व्यापारियों में आक्रोश

- Advertisement -
  • आक्रोशित व्यापारियों खुलासे के लिए बैठक बुलाई, पुलिस ने की सहयोग की अपील

जनवाणी संवाददाता |

किठौर: कस्बे में प्राइवेट स्कूल की शिक्षिका पर घर में घुसकर हुए जानलेवा हमला प्रकरण में पुलिस अभी बेनतीजा है। मंगलवार को कस्बे के व्यापारियों और स्कूल संचालकों ने मुख्य बाजार स्थित रामलीला मैदान में बैठक कर इंस्पेक्टर से घटना के शीघ्र खुलासे की मांग की। वहीं दिल्ली अस्पताल में भर्ती घायल शिक्षिका की हालत नाजुक बताई जा रही है। पीड़िता के भाई ने अज्ञात लोगों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई है।

सोमवार शाम मोहल्ला नईबस्ती निवासी एसएम प्लेवे स्कूल की शिक्षिका राजबाला को थाने से सटे उसके मकान में धारदार हथियार से सिर पर ताबड़तोड़ वार कर गंभीर घायल कर दिया गया था। शाम करीब 7:00 बजे घर पहुंचे नौकर ने शिक्षिका को अचेत हालत में लहूलुहान देख बेटे संचित को घटना की जानकारी दी। जिस पर संचित अपने मामा धर्मपाल के साथ घर पहुंचा और दोनों घायल राजबाला को तुरंत न्यूटिमा अस्पताल ले गए।

नाजुक हालत देख डाक्टरों ने उसे दिल्ली गंगाराम अस्पताल रेफर कर दिया। जहां उसकी हालत स्थिर है। उधर, सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल के निरीक्षण के साथ पड़ोसियों से पूछताछ की। पता चला कि 6:40 बजे राजबाला दूध लाती दिखी थी। पड़ोसियों ने बताया कि करीब सात बजे उन्हें राजबाला के घर से चीख-पुकार की आवाज तो आई मगर रोजे में खानपान के कारण उन्होंने तवज्जो नहीं दी।

26 9

जिसके बाद इंस्पेक्टर ने मकान को सील कर आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगालते हुए डाग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम को बुलवाया। टीम रात में ही नमूने लेकर रवाना हो गई। पीड़िता के भाई श्यामसुंदर पुत्र हरवंश लाल ने बदमाशों के विरुद्ध घर में घुसकर जानलेवा हमले की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

माथापच्ची करती रही पुलिस

घटना के खुलासे के लिए इंस्पेक्टर विनय कुमार ने दिन निकलते ही चार पुलिस टीमें गठित कर दीं। दिनभर कस्बा, झीड़ियो गांव और आसपास में दिनभर माथापच्ची करती रहीं। घटनास्थल से बीटीएस उठाने के अलावा शिक्षिका की पिछले दो महीने की काल डिटेल निकालीं, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला।

व्यापारी-स्कूल संचालकों ने की खुलासे की मांग

वारदात से कस्बे के स्कूल संचालकों और व्यापारी वर्ग में रोष व्याप्त है। मंगलवार को उन्होंने मुख्य बाजार स्थित रामलीला मैदान में बैठक कर पुलिस से घटना के शीघ्र खुलासे की मांग की। इंस्पेक्टर ने व्यापारियों से सहयोग की अपील की।

कई बिंदुओं पर चल रही जांच

इंस्पेक्टर विनय कुमार ने बताया कि राजबाला का किठौर में मायका है। लगभग 25 वर्ष पूर्व पति कृष्ण बलदेव से तलाक के बाद से वह अपने इकलौते बेटे संचित साथ किठौर में रहती है। संचित कस्बे में अरोड़ा रेडीमेड गारमेंट्स और राजबाला अपने घर में स्कूल चलाती है। वह पास के गांव झीड़ियो से रोजाना पैदल दूध लाती थी। पुलिस महिला की प्रॉपर्टी समेत कई बिंदुओं पर जांच कर रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments