Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutभीषण गर्मी से घटा रोडवेज का राजस्व

भीषण गर्मी से घटा रोडवेज का राजस्व

- Advertisement -
  • बसों में यात्रियों की संख्या दिन-पर-दिन होती जा रही कम
  • सड़कों पर बिना यात्रियों के ही दौड़ रही रोडवेज बसें

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: चिलचिलाती गर्मी में लोगों का घर ने निकलना दुश्वार हो गया है। जिसका सीधा असर भैंसाली रोडवेज पर गिरता नजर आ रहा है। जहां बसें कम और यात्रियों की संख्या ज्यादा होती थी। यात्रियों का घर से निकलने का समय सुबह और शाम ही होता है। वहीं, रोडवेज बस स्टैंड पर दोपहर के समय में यह हाल है। बस चालक यात्रियों को सड़कों से पकड़ कर बसों में बैठाते हैं और बस भरने से पहले ही यात्रियों को लेकर निकलना पड़ता है।

वहीं, एक बड़ी बात यह भी सामने आ रही कि भीषण गर्मी में लोगों को एसी बसों की सुविधाएं नहीं मिल पा रही है। रोडवेज पर करीब हजारों की संख्याओं में बस आती जाती है, लेकिन एसी बस दो ही है। जिस कारण लोग बस में सफर करने के लिए सोचना पड़ रहा है। इस स्थिति में रोडवेज को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है।

25 6

वहीं, यात्री बसों में कम ट्रेनों में ज्यादा सफर कर रहे है। कुछ लोग तो इस गर्मी के प्रकोप को झेल नहीं पर रहे हैं और बस स्टैंड पर ही बेहोश हो कर गिर पड़ते हैं। वहीं, बीमार व्यक्ति, बुजुर्ग, एवं महिला तो दोपहर में रोडवेज पर नजर ही नहीं आते हैं। रोडवेज पर यात्री कम और बसें ज्यादा नजर आती है। यात्री सुबह को डयूटी जाने वाले या फिर जरूरी काम से जाने वाले ही रोडवेज पर नजर आते हैं।

यदि रोडवेज इस गर्मी को संज्ञान में लेते हुए एसी बसों को ज्यादा मात्राओं से रोड पर दौड़ा दे तो शायद रोडवेज का राजस्व में बढ़ोतरी हो जाये। जहां, लाखों की संख्याओं में यात्री रोडवेज से ही सफर करते थे। वहीं, लोगों ने सफर कम कर राजस्व को नीचे गिरा दिया है। लोगों ने गर्मी के कारण यात्राएं करनी भी कम कर दी।

कुछ बसों की हालत खराब होने के कारण कई बार बस बीच रास्ते में खराब हो जाती है। जिसमें सवार यात्रियों को इसका सामना करना पड़ता है। वहीं, दूसरी बस के आने तक यात्री गर्मी में फंसे रहते हैं। जिस कारण यात्री रोडवेज बसों में कम मात्राओं में सफर कर रहे हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
4
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments