Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutभीषण गर्मी में सूखे पड़े सरकारी हैंडपंपों के हलक

भीषण गर्मी में सूखे पड़े सरकारी हैंडपंपों के हलक

- Advertisement -
  • पानी के लिए राहगीरों को उठानी पड़ रही परेशानी

जनवाणी संवाददाता |

सरधना: क्षेत्र में अधिकांश सरकारी हैंडपंप खराब पड़े हैं। जिसके चलते राहगीरों को पानी के लिए परेशान होना तो लाजिमी है। गर्मी के तेवर लगातार तीखे होते जा रहे हैं। ऐसे में सवाल यह उठता है कि सूखे पड़े हैंडपंप राहगीरों की प्यास कैसे बुझाएं? आलम यह है कि दर्जनों हैंडपंप रीबोरिंग नहीं होने के कारण खराब पड़े हैं। चोर कई हैंडपंप का सामान तक चोरी करके ले गए। प्रशासन किसी का इस ओर कोई ध्यान नहीं है।

गर्मी ने अपना रूप दिखाना शुरू कर दिया है। तपती धूप और गर्म हवाओं के थपेड़ों से लोग बिलबिलाने लगे हैं। ऐसे में यदि प्यास की शिद्दत हो और पानी न मिले तो कोढ़ में खाज वाली बात हो जाती है। क्षेत्र में राहगीरों को पानी के लिए भटकना पड़ रहा है। क्योंकि पालिका द्वारा लगवाए गए फ्रीजर शोपीस बने हुए हैं।

23 17

वहीं अधिकांश सरकारी हैंडपंप भी खराब पड़े हंै। आलम यह है कि दर्जनों हैंडपंप रीबोरिंग नहीं होने के चलते जंग खा रहे हैं। इतना ही नहीं चोर कई हैंडपंपों की मशीन तक चोरी करके ले गए हैं। ऐेसे में गर्मी के मद्देनजर अधिकारियों द्वारा क्या तैयारी यह बात साबित होती है। बिनौली रोड निवासी संजय, विमल, वेदपाल का कहना है कि हैंडपंप काफी दिनों से खराब पड़ा है।

चोर हैंडपंप की मशीन तक खोलकर ले गए हैं। ऐसे में लोगों को पानी के लिए परेशानी उठानी पड़ती है। मंडी परिसर में लगे हैंडपंपों का भी यही यही हाल है। देहात क्षेत्र की बात करें तो हर गांव में हैंडपंप खराब होने की शिकायत है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि सूखे पड़े हैंडपंप राहगीरों की प्यास कैसे बुझाएं? मगर अफसोस की अधिकारियों का इस ओर कोई ध्यान नहीं है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments