Sunday, February 25, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutप्रभारी मंत्री बोले-हां...मैं नगरायुक्त से खफा हूं...

प्रभारी मंत्री बोले-हां…मैं नगरायुक्त से खफा हूं…

- Advertisement -
  • विकास भवन के सभागार में मीटिंग में प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह नगरायुक्त अमितपाल शर्मा की जमकर लगाई क्लास

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: बुधवार को प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह ने नगरायुक्त डा. अमित पाल शर्मा की क्लास लगा दी। ये क्लास तब लगाई जब विकास भवन के सभागार में कानून व्यवस्था को लेकर प्रभारी मंत्री अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक ले रहे थे। मेरठ के स्वच्छ सर्वेक्षण में पिछड़ने पर प्रभारी मंत्री ने दो टूक कह दिया कि नगरायुक्त से वो खफा हैं। स्वच्छ सर्वेक्षण रैकिंग में मेरठ का धड़ाम होना, इसके लिए पूरी तरह से नगरायुक्त और उसकी टीम की जिम्मेदारी हैं। इनको जिम्मेदारी से भागना नहीं चाहिए।

ये बात समीक्षा बैठक के बाद प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह ने पत्रकारों से भी साझा की तथा कहा कि हां, मैं नगरायुक्त से खफा हूं। स्वच्छ सर्वेक्षण में रैंक में गिरना, दुर्भाग्यपूर्ण हैं। यही नहीं, प्रभारी मंत्री ने तो समीक्षा बैठक में नगरायुक्त को ये तक कह दिया कि जब भी वह मेरठ में आते हैं, तभी नगरायुक्त छुट्टी पर होते हैं। आखिर इतनी छुट्टी कैसे ले रहे हैं? इस तरह से प्रभारी मंत्री ने नगरायुक्त की समीक्षा बैठक में भी खूब क्लास लगाई। इस दृश्य को समीक्षा बैठक में मौजूद तमाम अधिकारी और जनप्रतिनिधियों ने भी देखा।

दरअसल, प्रभारी मंत्री शहर की सफाई व्यवस्था से कतई संतुष्ट नहीं हैं। उन्होंने ये भी कहा कि सड़कों को गड्ढा मुक्त नहीं किया जा रहा हैं, जिसके चलते सरकार की छवि धूमिल हो रही हैं। जिन सड़कों के निर्माण हो रहे हैं, उनकी गुणवत्ता अच्छी नहीं हैं। पीएल शर्मा रोड पर हाल ही में बनाई गयी सड़क क्षतिग्रस्त होने का मामला भी प्रभारी मंत्री के सामने उठा तथा उन्होंने कहा कि इसकी जांच कराई जाएगी। सड़कों की गुणवत्ता बेहतर होनी चाहिए, इसके लिए कमिश्नर और डीएम स्तर से जांच कराई जानी चाहिए।

01 20

जिस ठेकेदार और इंजीनियर की सेटिंग से खराब सड़क बनी हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। विकास भवन में बंद कमरे में समीक्षा बैठक के दौरान नगर निगम की स्वच्छता सर्वेक्षण में खराब रैंकिंग व पूर्व की समीक्षा बैठक में उपस्थित नहीं रहने को लेकर प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह खासे खफा दिखे। इस दौरान धर्मपाल सिंह ने कहा कि नगर में साफ-सफाई व्यवस्था पूरी तरह से बेपटरी चल रही है। उन्हें जनप्रतिनिधि लगातार शिकायत कर रहे हैं।

शहर में उनके द्वारा मंगलवार रात औचक निरीक्षण किया गया तो शहर में अलाव जलवाने की व्यवस्था भी पूरी तरह से ठीक नहीं दिखाई दी। उधर, रैन बसेरों की हालत भी ठीक दिखाई नहीं दी। जो मीडिया ने अलाव नहीं जलने की बात लिखी वो सही हैं। अलाव जलाने के प्रति नगर निगम लापरवाह दिखाई दिया। इस मामले पर नगर निगम के अधिकारियों की भी उन्होंने क्लास लगाई। दरअसल, प्रभारी मंत्री ने पत्रकारों को बताया कि नगरायुक्त की क्लास लगाई जा रही हैं।

अभी क्लास लंबी चलने वाली थी, लेकिन पत्रकार पास के कक्ष में बैठे थे, जिनकी आवाज तेज आ रही थी। क्योंकि पत्रकारों के साथ बातचीत का समय 2 बजे का फिक्स था, ऐसे में 2.30 हो गई थी। अधिकारियों की क्लास तभी बंद कर पत्रकारों को मीटिंग में बुला लिया गया। इस वजह से मीटिंग बीच में ही रोकनी पड़ी। फिर भी अधिकारियों को चेतावनी दी गई हैं सुधरने की। इस मौके पर राज्यसभा सांसद डा. लक्ष्मीकांत वाजपेई, जिलाध्यक्ष शिवकुमार राणा, एमएलसी धर्मेंद्र भारद्वाज भी मौजूद रहे।

प्रतिष्ठान बंद कर मंदिर उद्घाटन के समय घरों में मनाये दिवाली

विकास भवन के सभागार में बुधवार को आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान प्रभारी मंत्री ने 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा धार्मिक अनुष्ठान के दौरान मेरठ शहर में भव्य तरीके से दिवाली मनाई जाये उसकी तैयारी की जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने कहा कि सभी प्रतिष्ठान एवं बाजार को पूर्ण बंदी करके अपने घरों पर रहकर दिवाली मनायें। शहर को साफ-सुथरा रखकर घरों पर दिवाली मनाने के साथ ही टीवी व इंटरनेट के संचार माध्यमों से जुड़कर अयोध्या के भव्य नजारे को देखें। देश में आज सांस्कृतिक राष्टÑवाद के साथ नये युग का पदार्पण हो रहा है

और हम सबको इसके साक्षी बनने का सौभाग्य प्राप्त हो रहा है। प्रदेश के कैबिनेट एवं मेरठ के प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह ने विकास भवन में आयोजित बैठक के दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारियों को 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाले राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा, उद्घाटन के दौरान शहर में भव्य तरीके से शांतिपूर्ण माहौल में दिवाली कैसे मनाई जाये उसको लेकर चर्चा की। इस दौरान शहर में बेहतर साफ-सफाई, निर्बाद विद्युत आपूर्ति, पेयजल आपूर्ति के साथ शहर में कानून व्यवस्था किस तरह से चाक चौबंद हो

02 19

जिसके चलते शहर में हर्षोल्लास के साथ दिवाली मनाई जा सके। देश में जहां एक तरफ सांस्कृतिक राष्टÑवाद के साथ नये युग का पदार्पण हो रहा है। अयोध्या के इस अद्भुत नजारे का आनंद लोग घरों पर रहकर दिवाली मनाते हुए टीवी व अन्य संचार माध्यमों से इसका आनंद लें। सैकड़ों वर्षों के बाद इस तरह का देश में सांस्कृतिक राष्टÑवाद का माहौल बन रहा है। जिसके हम सबक साक्षी बन रहे हैं, इसमें हिंदू-मुस्लिम, सिख एवं इसाई सभी मिलकर इस इस सांस्कृतिक राष्टÑवाद के उत्सव को मना रहे हैं।

विपक्ष जिसमें सपा, बसपा व कांग्रेस इन सभी को केवल मुस्लिम वोटों की चिंता सताती हैं, देश के विकास एवं मुस्लिम समाज के विकास की चिंता नहीं सताती। पीएम मोदी व सीएम योगी के नेतृत्व में सभी जाति धर्मों एवं वर्गों के लोगों को एकसाथ जोड़कर विकास के इस अभियान को आगे बढ़ाया जा रहा है। इस दौरान उन्होंने सभी से 22 जनवरी को पूर्ण बाजार बंदी की अपील की और दिवाली उत्सव में शामिल होने का आह्वान किया।

प्रभारी मंत्री ने किया गोशाला का निरीक्षण

प्रदेश सरकार में कैबिनेट व मेरठ के प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह ने बुधवार देर शाम परतापुर बराल स्थित कान्हा उपवन गोशाला का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ नगरायुक्त डा. अमितपाल शर्मा, प्रभारी नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. हरपाल सिंह आदि भी मौजद रहे। जिस तरह से शहर में भाजपा के तमाम मंत्रियों के कार्यक्रम अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले कार्यक्रमों के मद्देनजर लगे हुये हैं। उसको लेकर पहले से ही गोशाला की साफ-सफाई एवं गोवंश के लिये चारे की व्यवस्था की गई हैं। प्रभारी मंत्री ने भी गोशाला के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को क्लीन चिट देते हुये इसी तरह की अन्य गोशालाओं में व्यवस्था कराये जाने के निर्देश दिये।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments