Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut...तो शासन से बड़े हो गए भ्रष्ट ‘कर अधीक्षक’

…तो शासन से बड़े हो गए भ्रष्ट ‘कर अधीक्षक’

- Advertisement -
  • अमरोहा तबादला होने के बाद भी नहीं छोड़ा नगर निगम मेरठ का मोह
  • रोजमर्रा की तरह से निगम आॅफिस में बैठकर निपटाते है कार्य

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: ये तस्वीर नगर निगम के भ्रष्ट कर अधीक्षक केशव प्रसाद की हैं। ये कर अधीक्षक शासन से भी बड़े हो गए हैं। 6 जनवरी 2023 को इनका तबादला शासन ने मेरठ नगर निगम से अमरोहा में कर दिया था। विशेष सचिव धर्मेन्द्र प्रताप सिंह के आदेश पर ये तबादला हुआ था। आदेश में विशेष सचिव ने स्पष्ट लिखा था कि केशव प्रसाद कर अधीक्षक को अपनी नवीन तैनाती के स्थान पर कार्यभार ग्रहण करने के लिए स्वत: कार्यमुक्त किया जाता हैं। इन आदेशों के बाद भी नगर निगम मेरठ में कर अधीक्षक के पद से केशव प्रसाद ने कार्यभार अभी नहीं छोड़ा हैं।

मंगलवार को केशव प्रसाद नगर निगम स्थित अपने आॅफिस में काम निपटा रहे थे। उनका काम करते हुए का वीडियो भी ‘जनवाणी’ के पास मौजूद हैं। आखिर शासन के आदेशों से भी ये कर अधीक्षक बड़े हो गए हैं, तभी तो नगर निगम में कर अधीक्षक का कार्यभार छोड़ने को तैयार नहीं हैं। नगर निगम के आला अफसरों ने भी शासन के आदेशों का क्यों संज्ञान नहीं लिया हैं, यह बड़ा सवाल हैं। शासन से जो आदेश जारी हुए, उसमें स्पष्ट लिखा है कि स्वत: ही कार्यमुक्त किया जाता हैं, फिर भी केशव प्रसाद मेरठ नगर निगम में हर रोज रुटीन में आते है और रोजमर्रा की तरह से काम निपटाते हैं।

11 17

इन पर गंभीर भ्रष्टाचार के आरोप भी लग चुके हैं, जिनकी जांच शासन स्तर से किसी अन्य एजेंसी से कराने की भी मांग की गई हैं। अब देखना ये है कि कर अधीक्षक केशव प्रसाद में लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच में सच सामने आता है या फिर नहीं? गृहकर के मामलों में घालमेल किया जा रहा था, इसकी भी शिकायत हो चुकी हैं। हाल ही में निगम के गंगानगर आॅफिस स्थित कर अधीक्षक को एंटी करप्शन ने रंगे हाथ रिश्वस्त लेते हुए गिरफ्तार किया था। भ्रष्टाचार के मामलों को शासन स्तर से संज्ञान लिया जा रहा हैं, जिसके बाद ही गृहकर वसूली में जो भ्रष्टाचार किया जा रहा हैं, उसमें कई-कई वर्षों से जमे अधिकारियों के तबादले किये जा रहे हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments