Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutट्रैफिक पुलिस ने शहर को किया सील, हर मार्ग पर चेकिंग

ट्रैफिक पुलिस ने शहर को किया सील, हर मार्ग पर चेकिंग

- Advertisement -
  • ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले वाहन चालकों को झेलनी पड़ रही परेशानी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: ट्रैफिक पुलिस की वसूली इस कदर बढ़ चुकी है कि शहर में प्रवेश करने वाले हर मार्ग पर ट्रैफिक पुलिस की टीम निगाह जमाए बैठी रहती है। यही नहीं ट्रैफिक शहर में प्रवेश करने वाले मार्गों पर रात में भी वाहन चालकों से चेकिंग के नाम पर वसूली कर रही है।

ट्रैफिक पुलिस की वसूली पर बार-बार सवाल उठने के बाद भी उच्चाधिकारी इनके खिलाफ कोई भी कार्रवाई करने को तैयार नहीं है। हालांकि यह मुद्दा डीजीपी समेत मंत्रियों तक पहुंच चुका है। इसके बावजूद ट्रैफिक पुलिस की वसूली थमने का नाम नहीं ले रही है।

बात यदि एनएच-58 की करें तो परतापुर से लेकर मोदीपुरम चेकपोस्ट तक शहर में जाने वाले सभी मार्गों पर ट्रैफिक पुलिस तैनात रहती है। हालांकि यदि इन टीमों से बचकर कोई वाहन चालक शहर में प्रवेश कर भी जाता है तो इन्हें मलियाना, रोहटा व कंकरखेड़ा ओवरब्रिज के पास खड़ी दूसरी टीम से होकर आगे जाना पड़ता है।

इसी तरह शहर के प्रत्येक चौराहे व मार्गों पर ट्रैफिक पुलिस की टीमें खड़ी रहती है। ट्रैफिक पुलिस ने इस वक्त शहर को इस कदर सील किया हुआ है कि कोई भी वाहन चालक इनकी नजरों से बच नहीं सकता। हालात ऐसे बन चुके है कि आमजन को ट्रैफिक पुलिस का सामना किए बगैर एक भी वाहन चालक शहर में प्रवेश नहीं कर सकता। डीजीपी समेत शहर के उच्चाधिकारियों के बार-बार चेतावनी देने के बाद भी ट्रैफिक पुलिस का रवैया बदलने का नाम नहीं ले रहा है।

चालान के 500 तो नकद में 100 रुपये देना जरूरी

सड़क दुर्घटनाओं के बढ़ने के चलते सरकार ने बिना हेलमेट व सीट बैल्ट के चालान में इजाफा कर दिया था। ताकि चालान फीस बढ़ने पर वाहन चालक ट्रैफिक नियमों का बखूबी पालन कर सकें। जिसके चलते कम से कम 500 रुपये का चालान कर दिया गया था, लेकिन ट्रैफिक पुलिस ने इसका भी तोड़ निकालते हुए वाहन चालकों को सुविधा दी है। ट्रैफिक पुलिस ऐसे वाहन चालकों को पकड़ने के बाद 500 रुपये का चालान काटने की बजाय उनसे 100 रुपये की वसूली करके बिना किसी कार्रवाई के ही छोड़ देती है।

देर रात तक चलती है वाहनों की चेकिंग

बागपत और रोहटा बाइपास चौराहे के हालात ऐसे है कि इन चौराहों पर रात तक ट्रैफिक पुलिस वाहनों की चेकिंग करती है। जबकि ट्रैफिक पुलिस को केवल शाम तक ही वाहन चेकिंग करने की अनुमति है। इसके बाद यह जिम्मेदारी थाना पुलिस की हो जाती है, लेकिन ट्रैफिक पुलिस को वसूली का चसका इस कदर लगा हुआ है कि वह रात तक वसूली करने में लगी रहती है।

07 29
रात तक ड्यूटी करने वाले ट्रैफिक कर्मियों की जांच कराई जाएगी। पकड़े जाने पर उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई होगी। आमजन को बिना वजह परेशान नहीं होने दिया जाएगा।                                -जितेंद्र श्रीवास्तव, एसपी ट्रैफिक।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments