Monday, September 20, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliअधिग्रहित भूमि के पेड़ों का मुआवजा देने को किसानों का हंगामा

अधिग्रहित भूमि के पेड़ों का मुआवजा देने को किसानों का हंगामा

- Advertisement -
  • पेड़ों मुआवजे को लेकर किसानों और अफसरों में तीखी नोंकझोंक
  • रालोद नेताओं ने रुकवाई पेड़ उखाड़ने को लगाई गई जेसीबी मशीनें

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: आदर्श मंडी थाना क्षेत्र के गांव गोहरनी निवासी युद्धवीर सिंह पुत्र हरख्याल सिंह व सुधीर सिंह की करोड़ी-शामली लिंक मार्ग के निकट अंडर पास के निकट आडृ, लीची आदि फलों का बाग है। दोनों की किसानों की भूमि बाईपास के लिए अधिग्रहण की गई है। बाईपास निर्माण के लिए अधिग्रहित भूमि 5554 व 1918 वर्गमीटर भूमि का दोनों किसानों ने मुआवजा सरकार से लिया है। किसानों का आरोप है कि उन्हें भूमि का मुआवजा मिला है, लेकिन भूमि पर खड़े हरे फलदार पेड़ों का मुआवजा नहीं मिल है।

दूसरी ओर, बुधवार को एसडीएम शामली संदीप कुमार, तहसीलदार तथा एनएचएआई के अधिकारी बाईपास निर्माण के लिए अधिग्रहित भूमि पर पर पहुंचे। किसानों का आरोप है कि अधिकारियों ने जेसीबी मशीन हरे और फलदार पेडों को उखाड़ दिया। जिसकी सूचना पाकर किसान मौके पर पहुंच गए और फलदार पेडों का मुआवजा दिए बिना की पेडों को काटे जाने का विरोध करते हुए हंगामा किया।

हंगामा की सूचना पर आदर्श मंडी पुलिस और पीएसी के जवान मौके पहुंचे और हंगामा कर रहे किसानों को रास्ते से हटा दिया गया। मामले की सूचना पाकर के जिलाध्यक्ष मुकेश सैनी, रालोद के पूर्व विधायक राव अब्दुल वारिस, प्रसन्न चौधरी आदि दर्जनों कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे। पेड़ों को उखाड़ने से रोकने के लिए किसान युद्धवीर जेसीबी मशीन के सामने लेट गया। जिसके बाद जेसीबी मशीन को बंद करना पड़ा।

रालोद नेताओं ने तहसीलदार से वार्ता की। तहसीलदार ने किसानों को पहले से तय 25 लाख रुपये को पेडों को मुआवजा जल्द दिलाये जाने का आश्वासन दिया। उन्होने बताया कि कागजी कार्यवाही के बाद किसानों को मुआवजा दिलाया जाएगा। रालोद नेताओं ने तहसीलदार से किसानों को मुआवजा मिलने तक पेड़ों को उखाड़ने आदि की किसी प्रकार की कोई कार्यवाही न किए जाने की मांग की।

इस अवसर पर रालोद जिलाध्यक्ष मुकेश सैनी, पूर्व विधायक राव अब्दुल वारिस, अशरफ अली खान, जिला प्रभारी अरविंद झाल, अशरफ अली खान, डा. विक्रांत जावला, पूर्व जिलाध्यक्ष योगेंद्र सिंह, विपिन वाल्मीकि, राजीव उर्फ पप्पू सर्वेश सिंभालका आदि मौजूद रहे।

शुक्रवार को जयंत चौधरी से मुलाकात करेंगे रालोद पदाधिकारी

जिला पंचायत सदस्य उमेश कुमार ने बताया कि उक्त प्रकरण में यदि किसानों को कल तक मुआवजा नहीं मिलता है तो रालोद का प्रतिनिधि मंडल रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी से मुलाकात कर प्रकरण से अवगत कराएगा। रालोद किसी किसान के साथ अन्याय नहीं होने देगी।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments